Tuesday, July 27, 2021
Homeबड़ी ख़बरहमारे बारे में अच्छी ख़बर लिखिए, ₹50,000/महीने का सरकारी इंतज़ाम हो जाएगा: अखिलेश...

हमारे बारे में अच्छी ख़बर लिखिए, ₹50,000/महीने का सरकारी इंतज़ाम हो जाएगा: अखिलेश यादव

उन्होंने योगी जी से निवेदन रुपी कटाक्ष करते हुए कहा कि रामलीला करने वालों को भी पेंशन दी जानी चाहिए, जिसके अंतर्गत भगवान राम और माता सीता को प्रति महीने कुछ पेंशन मिले, और इसके बाद अगर कुछ बच जाए तो रावण को भी दे दिया जाए।

अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी कार्यालय में सोमवार (जनवरी 21, 2019) को मीडिया को सम्बोधित करते हुए कहा कि साधु-संतों को हर महीने करीब ₹20 हजार पेंशन दी जाए और प्रदेश में यश भारती व समाजवादी पेंशन भी फिर से शुरू की जाए।

उन्होंने अपने भाषण में कहा कि उन्होंने रामलीला के पात्रों को पेंशन देने की स्कीम शुरू की थी और वो चाहते हैं कि रामलीला करने वालों को भी पेंशन दी जानी चाहिए, जिसके अंतर्गत भगवान राम को भी पेंशन मिलनी चाहिए, माता सीता को भी पेंशन मिलनी चाहिए और इसके बाद अगर कुछ बच जाए तो रावण को भी पेंशन दी जानी चाहिए।

अखिलेश यादव ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान, एक महिला पत्रकार से कहा कि उनके कई पत्रकार मित्र हैं जिन्हें ‘यश भारती सम्मान’ मिला है जिसमें ₹50,000/महीने का प्रावधान है, अगर वो अच्छा लिखेंगी उनके बारे में तो उन्हें भी सम्मान मिलेगा।

“अगर आप अपने कार्य में अच्छी रहेंगी तो कई पत्रकारों को हमने यश भारती सम्मान दिया है, वो ₹50 हजार भी आपको मिल जाएगा, लेकिन इसके लिए आपको समाजवादी पार्टी की स्टोरी अच्छी लिखनी पड़ेगी, अगर आज से आप लिखना शुरू करें तो ढाई साल में इंतज़ाम हो जाएगा कि अगला कोई सम्मान आपको प्राप्त हो जाए, हमारे कई पत्रकार साथियों को ये सम्मान प्राप्त हो चुका है।”

अखिलेश यादव ने कहा कि कुंभ दान का पर्व माना जाता है और केंद्र सरकार को प्रयागराज का अकबर किला यूपी सरकार को दान दे देन चाहिए, इसके बदले सेना को जगह चाहिए तो उसे चंबल में ख़ाली पड़ी जगह पर भेज दें।

गठबंधन पर अखिलेश यादव ने कहा, “नेता जी जहाँ से चाहेंगे, वहाँ से समाजवादी पार्टी चुनाव लड़ेगी। बहुजन समाजवादी पार्टी के नेता और सपा ने सीटों पर विचार किया है, जल्द उसकी जानकारी आप सबको मिल जाएगी।” महागठबंधन के चेहरे के प्रश्न पर सपा अध्यक्ष ने कहा, “भाजपा के पास तो 40 दल जुड़े हैं, अभी तो हमने 20 से 22 ही जोड़े हैं। हमारे पास तो बहुत चेहरे हैं, बीजेपी के पास कोई चेहरा हो तो बताए।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए सपा नेता ने कहा कि देश को अब नए प्रधानमंत्री का इंतजार है। अगर बीजेपी के पास कोई नया पीएम हो तो बताएँ। महागठबंधन से पीएम के उम्मीदवार पर अखिलेश सफाई से सवाल टालते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि ईवीएम की जगह बैलट से चुनाव कराए जाने चाहिए, इससे उनका गुस्सा शांत हो जाएगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम: नूर मुहम्मद, काम: रोहिंग्या-बांग्लादेशी महिलाओं और बच्चों को बेचना; 36 घंटे चला UP पुलिस का ऑपरेशन, पकड़ा गया गिरोह

देश में रोहिंग्याओं को बसाने वाले अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी के गिरोह का उत्तर प्रदेश एटीएस ने भंडाफोड़ किया है। तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है।

‘राजीव गाँधी थे PM, उत्तर-पूर्व में गिरी थी 41 लाशें’: मोदी सरकार पर तंज कसने के फेर में ‘इतिहासकार’ इरफ़ान हबीब भूले 1985

इतिहासकार व 'बुद्धिजीवी' इरफ़ान हबीब ने असम-मिजोरम विवाद के सहारे मोदी सरकार पर तंज कसा, जिसके बाद लोगों ने उन्हें सही इतिहास की याद दिलाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe