Thursday, January 20, 2022
Homeराजनीति'अर्थव्यवस्था सुधर जाएगी, मरे हुए वापस नहीं आएँगे': लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर राज्य सरकारों...

‘अर्थव्यवस्था सुधर जाएगी, मरे हुए वापस नहीं आएँगे’: लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर राज्य सरकारों की माँग

सारी चर्चाओं और 'मीडिया सूत्रों' से परे स्वास्थ्य मंत्रालय ने ऐसी किसी भी बात से इनकार किया है और कहा है कि फ़िलहाल लॉकडाउन बढ़ाने पर विचार नहीं किया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मार्च 24, 2020 को घोषणा की थी कि रात 12 बजे से पूरे भारत लॉकडाउन रहेगा। उन्होंने 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की, जिसकी अवधि 14 अप्रैल को ख़त्म हो जाएगी। अब कहा जा रहा है कि उसके बाद भी लॉकडाउन की अवधि बढ़ाई जा सकती है। पूरे भारत में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं, ऐसे में सम्भावना जताई जा रही है कि कुछ और दिनों के लिए लॉकडाउन की अवधि बढ़ाई जाएगी। केंद्र सरकार के सूत्रों के हवाले से कई मीडिया पोर्टलों का कहना है कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लॉकडाउन जारी रहेगा।

भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगभग 5000 पहुँच गई है, जिसमें से 4394 सक्रिय मामले हैं। कुल 386 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं, वहीं 137 लोगों की मौत हो गई है। तबलीगी जमात के मुसलमानों की हरकतों के बाद से भारत में अचानक से मामले बढ़ने लगे हैं। कई राज्यों से जमातियों को ढूँढ-ढूँढ कर निकाला जाने लगा है। कई जगहों पर जमातियों का पता लगाने के लिए पुलिस जब मुस्लिम बहुल इलाक़ों में गई तो पुलिस व डॉक्टरों पर हमले भी किए गए।

कई राज्यों ने केंद्र सरकार से लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने की माँग की है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने कहा कि पीएम मोदी को बिना किसी झिझक के लॉकडाउन की अवधि बढ़ा देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके अलावा और कोई रास्ता नहीं है, जिससे कोरोना को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि अमेरिका, स्पेन और इटली की स्थिति न आने पाए, इसके लिए लॉकडाउन ज़रूरी है। केसीआर ने कहा कि अर्थव्यवस्था को तो मेहनत और कई प्रयासों के बाद सुधारा जा सकता है लेकिन मृतकों को जिन्दा नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि लोगों की जान बचानी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए।

उत्तर प्रदेश से भी यही माँग उठ रही है। इसमें योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट कहा है कि जब तक देश में कोरोना का एक भी मरीज रहेगा, तब तक लॉकडाउन जारी रहेगा। इस बात पर भी विचार किया जा रहा है कि सिर्फ उन्हीं इलाक़ों में लॉकडाउन किया जाए, जहाँ कोरोना के ज्यादा मामले हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कई बार कह चुके हैं कि ये एक लम्बी लड़ाई है और हमें बिना थके इसे जीतना है। विशेषज्ञों का कहना है कि लॉकडाउन से फायदा हो रहा है, इसीलिए मई-जून तक इसे जारी रखने की ज़रूरत है।

भारत सरकार कोरोना वायरस से निपटने के लिए हेल्थकेयर फैसिलिटीज को सुधारने में जुटी हुई है। कहा जा रहा है कि कुछ क्षेत्रों में लॉकडाउन हटने के बाद सरकार को टेस्टिंग किट्स वगैरह की व्यवस्था करने में और आसानी होगी। विदेश से भी इम्पोर्ट चालू हो गया है, ऐसे में सरकार ने राहत की साँस ली है। हालाँकि, स्वास्थ्य मंत्रालय ने ऐसी किसी भी बात से इनकार किया है और कहा है कि फ़िलहाल लॉकडाउन बढ़ाने पर विचार नहीं किया गया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र के नगर पंचायतों में BJP सबसे आगे, शिवसेना चौथे नंबर की पार्टी बनी: जानिए कैसा रहा OBC रिजर्वेशन रद्द होने का असर

नगर पंचायत की 1649 सीटों के लिए मंगलवार को मतदान हुआ था। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद यह चुनाव ओबीसी आरक्षण के बगैर हुआ था।

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,298FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe