Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीति'मोदी 3.0' में कैबिनेट मंत्री बन सकते हैं सुरेश गोपी, बताया क्षेत्र के विकास...

‘मोदी 3.0’ में कैबिनेट मंत्री बन सकते हैं सुरेश गोपी, बताया क्षेत्र के विकास का एजेंडा: केरल में पहली बार खिला कमल तो PM मोदी ने बलिदानी कार्यकर्ताओं को किया याद

उन्होंने सिनेमा को अपना अभिभावक बताते हुए कहा था कि फ़िल्में करना उनका पैशन है, वो आगे भी मनोरंजन की दुनिया में सक्रिय रहेंगे।

इतिहास में पहली बार भाजपा ने दक्षिण भारतीय राज्य केरल में खाता खोला है। त्रिशूर से अभिनेता सुरेश गोपी ने 74,686 मतों से जीत दर्ज की है। अब ये भी सामने आया है कि ‘मोदी 3.0’ में वो कैबिनेट मंत्री बनने वाले हैं। आलाकमान ने इशारों में उन्हें इसकी जानकारी भी दे दी है। रविवार (9 जून, 2024) को नरेंद्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे और उनके साथ शपथ लेने वाले मंत्रियों की सूची में सुरेश गोपी का भी नाम है। इस संबंध में कोई आधिकारिक सूचना नहीं आई है, लेकिन ये तय माना जा रहा है।

सुरेश गोपी केरल से चुने जाने वाले पहले भाजपा सांसद हैं और जिस तरह से पार्टी क्षेत्रीयता का ध्यान रखती है, इसे देखते हुए भी तय माना जा रहा है कि वो मंत्री बनेंगे। वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी करीबी हैं, जनवरी में उनकी बेटी की शादी में खुद पीएम ने आकर आशीर्वाद दिया था। भाजपा के सेन्ट्रल लीडरशिप के कहने पर ही वो उम्मीदवार बनाए गए थे। मीडिया से बात करते हुए सुरेश गोपी ने कहा कि वो काफी खुश हैं, वो अपने सिर पर राज्य में पहला भाजपा सांसद होने का भार नहीं ढो रहे हैं।

सुरेश गोपी ने कहा कि वो सिर्फ एक सांसद हैं। उन्होंने कहा कि जो कोई और नहीं कर सकता, उस चीज को साहस एवं वीरता के साथ करना चाहिए। उन्होंने कहा कि ईश्वर के हिसाब से सारी योजनाएँ चलती है। बकौल सुरेश गोपी, कई लोगों ने उन्हें फोन कॉल कर के केंद्रीय मंत्री बनाए जाने के संबंध में सलाह दी है, फ़िलहाल इस पर कुछ कहना नकारात्मक होगा। उन्होंने सिनेमा को अपना अभिभावक बताते हुए कहा था कि फ़िल्में करना उनका पैशन है, वो आगे भी मनोरंजन की दुनिया में सक्रिय रहेंगे।

सुरेश गोपी ने कहा कि महिला उत्थान उनकी प्राथमिकता में रहेगा, कोच्चि मेट्रो को त्रिशूर तक विस्तार देने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने शहर में ट्रैफिक जाम और प्रदूषण की समस्या से निजात दिलाने का वादा करते हुए पोन्नानी तक टूलेन सड़क बनवाने की भी बात कही। सुरेश गोपी ने कहा कि केरल के आगामी विधानसभा चुनावों में उन्हें भाजपा का चेहरा बनने से भी कोई गुरेज नहीं है। सुरेश गोपी अब तक 250 से भी अधिक फ़िल्में कर चुके हैं, 2005 के बाद से उन्होंने फिल्मों में सक्रियता कम कर दी। अब उन्होंने कहा है कि सभी विभागों के साथ मिल कर वो त्रिशूर के विकास के लिए काम करेंगे।

उधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी केरल में कमल खिलने के बाद ख़ुशी जताई है। इस दौरान उन्होंने याद किया कि कैसे केरल में पार्टी के कई कार्यकर्ताओं ने बलिदान दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए केरल में काम करना जम्मू कश्मीर से भी अधिक कठिन था। उन्होंने कहा कि हमने केरल में भी जीत दर्ज की है। उन्होंने आरोप आया कि विपक्ष ने NDA की जीत को नकारने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि 10 साल झूठ फैलाने और झूठे वादों के बावजूद कॉन्ग्रेस 100 सीट भी नहीं जीत पाई।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -