Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीति'मुझे गंदी-गंदी गालियाँ दी, सुप्रीम कोर्ट में करूँगा FIR': राजद की बैठक छोड़ निकले...

‘मुझे गंदी-गंदी गालियाँ दी, सुप्रीम कोर्ट में करूँगा FIR’: राजद की बैठक छोड़ निकले तेज प्रताप ने जारी किया ऑडियो, बेहोश दलित नेता पहुँचाए गए अस्पताल

उन्होंने कहा कि उनके पिता लालू प्रसाद यादव ने ही श्याम रजक को वहाँ पहुँचाया है, जहाँ आज वो हैं। तेज प्रताप का आरोप है कि न सिर्फ उन्हें बल्कि उनकी माँ, बहन और पिता तक को गाली दी गई है।

दिल्ली में हो रही ‘राष्ट्रीय जनता दल (RJD)’ की कार्यकारिणी बैठक में बिहार सरकार में मंत्री तेज प्रताप यादव ने श्याम रजक पर खुद और अपने PA को गंदी-गंदी गालियाँ देने का आरोप लगाया है। तेज प्रताप ने अपनी ही पार्टी के नेता श्याम रजक को संघी और भाजपाई कहा है। फिलहाल वो बैठक छोड़ कर चले गए हैं। यह घटनाक्रम आज रविवार (9 अक्टूबर 2022) का है। तेज प्रताप के आरोपों के बाद श्याम रजक अचानक ही बेहोश हो गए हैं। जानकारी के मुताबिक, उन्हें अस्पताल ले जाया गया है।

वायरल हो रहे एक वीडियो में तेज प्रताप यादव बैठक से बाहर निकल कर जाते हुए दिखाई दे रहे हैं। वो कह रहे हैं कि उन्हें दी गई गालियों की ऑडियो उनके पास मौजूद है। तेज प्रताप के मुताबिक, वो उस ऑडियो को अपने पेज पर डाल कर पूरे बिहार की जनता को सुनवाएँगे। उनके मुताबिक, श्याम रजक ने कार्यक्रम की जानकारी लेने पर उनके PA को साला कहा और खुद उनको बहन की गाली दी है। बैठक छोड़ कर जाते हुए तेज प्रताप ने कहा कि यहाँ कोई गाली सुनने नहीं आया है।

बैठक से बाहर जाने के बाद भी तेज प्रताप यादव के तेवर गर्म रहे। ‘न्यूज़ 18’ से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उनके पिता लालू प्रसाद यादव ने ही श्याम रजक को वहाँ पहुँचाया है, जहाँ आज वो हैं। तेज प्रताप का आरोप है कि न सिर्फ उन्हें बल्कि उनकी माँ, बहन और पिता तक को गाली दी गई है। खुद को अपने दिए गए विभाग में बहुत व्यस्त बताते हुए तेज प्रताप यादव ने कह कि वो कभी गलत बात सहन नहीं करते।

तेज प्रताप ने श्याम रजक के गुस्से के पीछे उनके मंत्री न बनने की नाराजगी होने की संभावना जताई। उन्होंने कहा कि मैं और तेजस्वी मंत्री बन गए पर वो नहीं बन पाए, शायद ये वजह हो उनके द्वारा दी जा रही गालियों की। उन्होंने श्याम रजक को ऑफर दिया कि अगर उनका मन हो तो आ कर पर्यावरण मंत्रालय चलाएँ। इसी के साथ उन्होंने कहा कि अगर मंत्री ही बनना है तो श्याम रजक तेजस्वी से बात करें। तेज प्रताप ने श्याम रजक पर दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के माध्यम से FIR दर्ज करवाने का भी एलान किया है।

गालियों को श्याम रजक के संस्कार बाते हुए तेज प्रताप ने कहा कि जब उन्हें पार्टी में जलील कर के स्टेज से उतार दिया गया था तब उन्हें मंच पर मैंने ही बिठाया था। उन्होंने कहा कि मैंने तेजस्वी को भी श्याम रजक की गालियों का ऑडियो सुनाया है और इस सबूत को वो कोर्ट तक ले जाएँगे। श्याम रजक के हालात पर कोई भी टिप्पणी न करते हुए उन्होंने कहा कि हालात कैसे भी रहे हों पर उन्होंने गाली कैसे दे दी?

श्याम रजक पर संघी होने का आरोप लगाते हुए तेज प्रताप ने कहा कि एक तरफ वो लालू को सामाजिक न्याय का पुरोधा बता रहे तो दूसरी तरफ उनके ही बेटे को गाली दे रहे। तेज प्रताप के मुताबिक, दोतरफा राजनीति करने वाले श्याम रजक ने संगठन को तोड़ने का शुरू से ही काम किया है। बैठक के अंदर हुए हंगामे का भी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में RJD कार्यकर्ता दो भागों में लामबंद होते दिख रहे हैं जिसमें तेज प्रताप को बाहर जाते देखा जा सकता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस विवाद की वजह बताया जा रहा एक ऑडियो भी सामने आया है। इस ऑडियो में श्याम रजक की आवाज होने का दावा किया जा रहा। ऑडियो में कहा गया, “मंत्री हो गया है तो मंत्री का पीए फोन कर रहा है। हम लोग भी मंत्री थे हम डायरेक्ट बात करते थे। पीए से बात नहीं करवाते थे।” इसी ऑडियों में एक जगह आपत्तिजनक शब्द भी बोला गया है। हालाँकि ऑपइंडिया इस ऑडियो की पुष्टि नहीं करता।

श्याम रजक की सफाई में रामचरित मानस की चौपाई

तेज प्रताप यादव के इन आरोपों पर राजद नेता श्याम रजक ने सफाई दी है। सफाई देने के लिए उन्होंने ‘समरथ कहुँ नहिं दोषु गोसाईं’ कहते हुए कहा कि तेज प्रताप सामर्थ्यवान हैं और वो पार्टी के बँधुआ मजदूर। खुद को दलित बताते हुए श्याम रजक ने कहा कि तेज प्रताप जो भी कह रहे हैं, वो अपने सामर्थ्य से कह रहे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -