Monday, June 17, 2024
Homeराजनीतिसोशल मीडिया छोड़ने की सोच रहा हूँ: फेसबुक, ट्विटर, इंस्टा और यूट्यूब को अलविदा...

सोशल मीडिया छोड़ने की सोच रहा हूँ: फेसबुक, ट्विटर, इंस्टा और यूट्यूब को अलविदा कहेंगे PM मोदी?

अब देखना यह है कि पीएम मोदी ने तीनों सोशल प्लेटफॉर्म्स को छोड़ने की बात क्यों कही है? ये भी जानने लायक बात होगी कि क्या उनके दफ्तर के एकाउंट्स इन तीनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर चालू रहेंगे? उन्होंने इस बारे में कुछ नहीं बताया है कि वो सोशल मीडिया से दूर क्यों जाना चाहते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया है कि वो इस रविवार को अपने सारे सोशल मीडिया एकाउंट्स को छोड़ देने का मन बना रहे हैं। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट कर ये जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि वो अपने फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम हैंडल्स को अलविदा कहने के बारे में विचार कर रहे हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर हैंडल पर 5.33 करोड़ से भी ज्यादा फॉलोवर हैं। वहीं फेसबुक की बात करें तो वहाँ प्रधानमंत्री के 4.59 करोड़ से भी अधिक फॉलोवर्स हैं। इंस्टाग्राम पर भी दुनिया भर के नेताओं में पीएम मोदी की ही तूती बोलती है और उनके वहाँ 3.52 करोड़ से भी अधिक फॉलोवर हैं। यूट्यूब पर नरेंद्र मोदी को 45 लाख लोग फॉलो करते हैं।

अब देखना यह है कि पीएम मोदी ने तीनों सोशल प्लेटफॉर्म्स को छोड़ने की बात क्यों कही है? ये भी जानने लायक बात होगी कि क्या उनके दफ्तर के एकाउंट्स इन तीनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर चालू रहेंगे? उन्होंने इस बारे में कुछ नहीं बताया है कि वो सोशल मीडिया से दूर क्यों जाना चाहते हैं।

पीएम के इस निर्णय के बाद तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। कुछ लोगों ने अंदेशा जताया कि जिस तरह से सोशल मीडिया पर हिंदुत्व और राष्ट्रवादी विचारधारा के लोगों को बदनाम किया जाता है, कहीं इसीलिए तो पीएम सोशल मीडिया को अलविदा नहीं कहने जा रहे हैं?

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -