Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीति'याद रखना सबके घर में माँ-बहन है': हीरोइन से TMC कैंडिडेट बनी कौशानी बनर्जी...

‘याद रखना सबके घर में माँ-बहन है’: हीरोइन से TMC कैंडिडेट बनी कौशानी बनर्जी धमका कर माँग रही वोट

माताओं-बहनों का संदर्भ देकर कौशानी ने यह जताने की कोशिश की कि बीजेपी को वोट देने पर उनकी परिवार की महिलाओं के साथ अत्याचार होगा।

हीरोइन से तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की उम्मीदवार बनीं कौशानी बनर्जी का एक वीडियो वायरल हो रहा। इसमें वह वोटरों को धमकाती दिख रही हैं। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में कौशानी कृष्णानगर (उत्तर) सीट से किस्मत आजमा रहीं हैं।

एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए वह एक उन्होंने एक शख्स को खींचा और पूछा, “तुम बीजेपी से हो? इधर आओ।” उसी समय तृणमूल कॉन्ग्रेस के ‘अति उत्साही’ कार्यकर्ता ‘जय बंगला’ का नारा लगाने लगते हैं। इसके बाद कौशानी बनर्जी कहती हैं, “सबके घर में माँ-बहन हैं। वोट देते समय याद रखना।”

(Video Courtesy: Youtube/News 18 Bangla)

माताओं-बहनों का संदर्भ देकर कौशानी ने यह जताने की कोशिश की कि बीजेपी को वोट देने पर उनकी परिवार की महिलाओं के साथ अत्याचार होगा। हालाँकि यह स्पष्ट रूप से नहीं कहा गया है, लेकिन उनके बयान के कहने का यह मतलब निकाला जा रहा है कि टीएमसी के लिए मतदान नहीं करने से पार्टी का गुस्सा समाज की महिलाओं पर उतर सकता है।

बीजेपी की राज्य इकाई ने कौशानी बनर्जी की टिप्पणी के लिए तृणमूल कॉन्ग्रेस पर पलटवार करते हुए ट्वीट किया, “इस तरह उन्होंने बंगाल की महिलाओं को धमकी दी, यह पिशी (ममता बनर्जी की) संस्कृति है। बंगाल की महिलाएँ निश्चित रूप से पीशी शासन के तहत सुरक्षित नहीं हैं।”

यह पहली बार नहीं है कि चुनाव प्रचार के दौरान तृणमूल कॉन्ग्रेस के किसी उम्मीदवार ने डराने-धमकाने वाली रणनीति का सहारा लिया है। शुक्रवार (अप्रैल 2, 2021) को अलीपुरद्वार जिले के फलकता में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने कहा, “केंद्रीय सुरक्षाकर्मी, जो बाहर से आए हैं, आपको डराने का प्रयास करेंगे। कल, उन्होंने नंदीग्राम में किया। चुनाव शुरू होने से लगभग 48 घंटे पहले, केंद्रीय सुरक्षा बल गाँवों में जाते हैं और लोगों को टीएमसी को वोट न देने के लिए डराते हैं। वे लोगों को टीएमसी के लिए मतदान करने के खिलाफ चेतावनी देते हैं।”

ममता बनर्जी ने दावा किया कि तृणमूल कॉन्ग्रेस को हराने के लिए केंद्रीय सुरक्षाकर्मी भाजपा के साथ मिलकर चाटुकारिता कर रहे हैं। फलकता के लोगों को हिंसक साधनों का सहारा लेने के लिए उकसाते हुए कहा, “उन्हें मत सुनो। अगर वे आपको डराने-धमकाने की कोशिश करते हैं, तो आपको एकजुट होकर हँसुआ, लाठी और झाड़ू से उनका पीछा करना चाहिए।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -