Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीतिहाथ 'ग्लैमर' और 'हिंसा' के साथ: हस्तिनापुर से 'बिकनी गर्ल' अर्चना गौतम तो लखनऊ...

हाथ ‘ग्लैमर’ और ‘हिंसा’ के साथ: हस्तिनापुर से ‘बिकनी गर्ल’ अर्चना गौतम तो लखनऊ मध्य से सदफ जफर कॉन्ग्रेस की उम्मीदवार

अर्चना ने 2018 में मिस बिकनी का खिताब हासिल किया था। अर्चना ने 2015 में बॉलीवुड फ़िल्म ग्रेट ग्रैंड मस्ती में अभिनय से की शुरुआत की थी।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए कॉन्ग्रेस ने पहली लिस्ट जारी की है। इसमें 125 नाम हैं, जिनमें 50 महिला हैं। इन उम्मीदवारों में से एक सदफ जफर हैं। CAA विरोधी हिंसा में वे आरोपित रही हैं। बिकनी गर्ल के नाम से मशहूर अर्चना गौतम को भी कॉन्ग्रेस ने मैदान में उतारा है।

कॉन्ग्रेस ने सदफ जाफर को लखनऊ मध्य से उम्मीदवार बनाया है। जाफर को लखनऊ में हुए प्रदर्शन व हिंसा के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। वे फिलहाल जमानत पर बाहर हैं। पुलिस ने उपद्रवियों के जो पोस्टर लगाए थे उनमें भी उनकी तस्वीर थी। उनपर पत्थरबाजी के लिए लोगों को उकसाने के आरोप लगे थे। उनके गिरफ्तार होने के बाद प्रियंका गाँधी भी उनके बचाव में उतरी थीं और उन्होंने कहा था कि उत्तर प्रदेश सरकार ने अपनी सारी हदें पार कर दी हैं। प्रियंका गाँधी ने ट्वीट करके कहा था कि सदफ के दोनों बच्चे अपनी माँ की रिहाई का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। 

कॉन्ग्रेस ने हस्तिनापुर से बिकनी गर्ल्स के नाम से मशहूर अर्चना गौतम को भी मैदान में उतारा है। अर्चना ने 2018 में मिस बिकनी का खिताब हासिल किया था। अर्चना ने 2015 में बॉलीवुड फ़िल्म ग्रेट ग्रैंड मस्ती में अभिनय से की शुरुआत की थी। इससे पहले उन्होंने कई ब्रांड्स के लिए प्रिंट और टेलीविजन पर विज्ञापनो में मॉडलिंग भी की। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने अर्चना गौतम को पिछले नवंबर में दोबारा कॉन्ग्रेस ज्वॉइन कराई थी। इससे पहले वह पार्टी में सम्मान न मिलने की वजह से नाराज हो गई थी।

प्रियंका गाँधी ने गुरुवार (13 जनवरी 2022) को उम्मीदवारों की सूची का ऐलान करते हुए बताया कि पार्टी ने इनमें 50 सीटों पर महिला प्रत्याशियों को उतारा है। वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कॉन्ग्रेस नेता ने कहा कि कुछ पत्रकार, अभिनेत्री, समाजसेवी और संघर्षशील महिलाओं को मौका दिया गया है। उन्नाव सदर सीट से कॉन्ग्रेस ने रेप पीड़िता की माँ को टिकट दिया। इसके अलावा फर्रुखाबाद से पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की पत्नी लुईस खुर्शीद को उम्मीदवार बनाया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -