मुस्लिमों के ‘आतंक’ से जलते बंगाल में CAB के ख़िलाफ़ ममता ने की 16-17 दिसंबर को विरोध-प्रदर्शन की घोषणा

TMC सुप्रीमो ममता बनर्जी ने घोषणा की है कि वह पश्चिम बंगाल में नागरिकता संशोधन कानून (CAB) और नागरिकों के लिए NRC के कार्यान्वयन की अनुमति नहीं देंगी। पहले भी ममता बनर्जी ने डर का माहौल बनाने के लिए मस्जिदों में शुक्रवार की नमाज के बाद CAB के खिलाफ मुस्लिमों के हिंसक विरोध प्रदर्शन को होने दिया।

तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) सुप्रीमो, ममता बनर्जी ने घोषणा की है कि उनकी पार्टी दिसंबर में नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) और राष्ट्रीय नागरिकता पंजीकरण (NRC) के ख़िलाफ़ विरोध-प्रदर्शन करेगी। TMC के आधिकारिक ट्विटर हैंडल के एक ट्वीट में, यह घोषणा की गई कि यह विरोध-प्रदर्शन 16 और 17 दिसंबर को आयोजित किया जाएगा।

जैसा कि ट्वीट से स्पष्ट होता है, ममता बनर्जी संसद के दोनों सदनों में नागरिकता संशोधन विधेयक के पारित होने के विरोध में ‘रैली में जाने के लिए’ तैयार हैं। TMC सुप्रीमो ममता बनर्जी ने घोषणा की है कि वह पश्चिम बंगाल में नागरिकता संशोधन कानून (CAB) और नागरिकों के लिए NRC के कार्यान्वयन की अनुमति नहीं देंगी।

ममता बनर्जी ने डर का माहौल बनाने के लिए मस्जिदों में शुक्रवार की नमाज के बाद CAB के खिलाफ मुस्लिमों के हिंसक विरोध प्रदर्शन को होने दिया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

पश्चिम बंगाल में एम्बुलेंस और गाड़ियों पर भी पथराव किया गया। हिंसक विरोध-प्रदर्शन में एक पुलिसकर्मी भी घायल हो गया। शुक्रवार को, प्रदर्शनकारियों ने पश्चिम बंगाल के हावड़ा ज़िले में भी उग्र प्रदर्शन किए। उन्होंने उलुबेरिया रेलवे स्टेशन पर पटरियों को अवरुद्ध करके हिंसात्मक गतिविधियों को अंजाम दिया।

अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने पथराव का सहारा लेकर कॉम्प्लेक्स और कुछ गाड़ियों में जमकर तोड़फोड़ भी की। पूर्व रेलवे के सियालदह डिवीजन में हिंसा की वजह से ट्रेन सेवाएँ प्रभावित हुईं।

नागरिकता संशोधन विधेयक का उद्देश्य पड़ोसी इस्लामिक देशों पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफ़ग़ानिस्तान के हिन्दुओं, बौद्धों, जैनियों, पारसियों और ईसाइयों जैसे उत्पीड़ित अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता देना है। यह विधेयक लोकसभा और राज्यसभा दोनों में पारित हो चुका है और इसे राष्ट्रपति कोविंद की भी मंज़ूरी मिल चुकी है।

यह भी पढ़ें: ममता के बंगाल में जुमे की नमाज के बाद मुसलमानों ने योजना बनाकर की जमकर हिंसा, पत्थरबाजी, आगजनी

राज्यपाल ने औरंगज़ेब के साथ की CM ममता बनर्जी की तुलना, कहा- बंगाल में लोकतंत्र ख़त्म

NRC और CAB एक ही सिक्के के पहलू, बंगाल में लागू नहीं होने दूँगी: ममता बनर्जी

NRC के विरोध में ममता बनर्जी: कहा- बांग्लादेशी घुसपैठियों को देंगे यहीं रहने का अधिकार

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

लोहरदगा हिंसा
मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक हिंदुओं के घरों और संपत्ति को चुन-चुन कर निशाना बनाया गया। पथराव करने वालों में 8 से 12 साल तक के मुस्लिम बच्चे भी शामिल थे। 100 से ज्यादा घायलों में से कई की हालत गंभीर।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,804फैंसलाइक करें
35,951फॉलोवर्सफॉलो करें
163,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: