Wednesday, July 28, 2021
Homeराजनीति'किसी को कुछ नहीं हुआ, सभी सुरक्षित हैं': नड्डा के काफिले पर पथराव को...

‘किसी को कुछ नहीं हुआ, सभी सुरक्षित हैं’: नड्डा के काफिले पर पथराव को लेकर बंगाल पुलिस का जवाब

“भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा डायमंड हार्बर और साउथ 24 परगना स्थित कार्यक्रम स्थल पर पहुँच गए हैं। वह पूरी तरह सुरक्षित हैं और उनके काफ़िले को कुछ भी नहीं हुआ है। डायमंड हार्बर के फाल्टा पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत देबीपुर में सड़क किनारे खड़े लोगों ने काफ़िले पर पत्थरबाजी की थी।"

पश्चिम बंगाल में आज (10 दिसंबर 2020) भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफ़िले पर पथराव की घटना हुई थी। घटना के दौरान भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय की गाड़ी पर ईंटें फेकी गई। इस घटना के तमाम वीडियो और तस्वीरें पूरे सोशल मीडिया चर्चा का कारण बनी हुई हैं। यह सब बंगाल पुलिस की मौजूदगी में हुआ। इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए पुलिस ने कहा है कि किसी को कुछ नहीं हुआ है और सभी लोग सुरक्षित हैं। 

पश्चिम बंगाल पुलिस की तरफ से जारी किए गए आधिकारिक बयान में कहा गया है, “भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा डायमंड हार्बर और साउथ 24 परगना स्थित कार्यक्रम स्थल पर पहुँच गए हैं। वह पूरी तरह सुरक्षित हैं और उनके काफ़िले को कुछ भी नहीं हुआ है। डायमंड हार्बर के फाल्टा पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत देबीपुर में सड़क किनारे खड़े लोगों ने काफ़िले पर पत्थरबाजी की थी। अभी तक सामने आई जानकारी के अनुसार सभी सुरक्षित और स्थिति शांतिपूर्ण है। फ़िलहाल मामले की जाँच की जा रही है कि घटनास्थल पर असल में हुआ क्या था।” 

केंद्र सरकार ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफ़िले पर हुई पत्थरबाजी और दौरे के समय सुरक्षा में हुई भारी चूक को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट तलब की है। सबसे ज़्यादा हैरानी की बात यह थी कि पश्चिम बंगाल में भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं पर यह हमला पुलिस की मौजूदगी में हुआ। बता दें आज (दिसंबर 10, 2020) दक्षिण 24 परगना में डायमंड हार्बर की ओर एक कार्यक्रम के लिए जाते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयप्रकाश नड्डा के काफिले पर हमला हुआ था। 

इस हमले में बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय की गाड़ी पर ईंट फेंकी गई थी। उन्होंने वीडियो साझा करते हुए पूरी घटना की सूचना दी और पुलिस प्रशासन की नाकामयाबी को उजागर किया था। कैलाश विजयवर्गीय ने लिखा, “बंगाल पुलिस को पहले ही राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जी के कार्यक्रम की जानकारी दी गई थी, लेकिन एक बार फिर बंगाल पुलिस नाकाम रही। सिराकोल बस स्टैंड के पास पुलिस के सामने ही TMC गुंडों ने हमारे कार्यकर्ताओं को मारा और मेरी गाड़ी पर पथराव किया।”

बता दें कि इससे पहले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने जेपी नड्डा की सुरक्षा में कमी का आरोप लगाया था, जिसके बाद गृह मंत्रालय ने भाजपा नेताओं की चिंता पर पश्चिम बंगाल सरकार से जवाब माँगा था। आज दिलीप घोष ने हमले की जानकारी देते हुए कहा, “डायमंड हार्बर के लिए जाते हुए टीएमसी समर्थकों ने हमारे लिए सड़कों को ब्लॉक कर दिया और नड्डा जी के वाहन समेत अन्य गाड़ियों पर पथराव किया।” घोष के अनुसार, टीएमसी अब अपना असली रंग दिखाने लगी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी सिर्फ हिंदुओं की सुनते हैं, पाकिस्तान से लड़ते हैं’: दिल्ली HC में हर्ष मंदर के बाल गृह को लेकर NCPCR ने किए चौंकाने...

एनसीपीसीआर ने यह भी पाया कि बड़े लड़कों को भी विरोध स्थलों पर भेजा गया था। बच्चों को विरोध के लिए भेजना किशोर न्याय अधिनियम, 2015 की धारा 83(2) का उल्लंघन है।

उत्तर-पूर्वी राज्यों में संघर्ष पुराना, आंतरिक सीमा विवाद सुलझाने में यहाँ अड़ी हैं पेंच: हिंसा रोकने के हों ठोस उपाय  

असम के मुख्यमंत्री नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के सबसे महत्वपूर्ण नेता हैं। उनके और साथ ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए यह अवसर है कि दशकों से चल रहे आंतरिक सीमा विवाद का हल निकालने की दिशा में तेज़ी से कदम उठाएँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,660FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe