Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीतिबंगाल के बैरकपुर में बम से हमला कर भाजपा कार्यकर्ता की हत्या, सिर के...

बंगाल के बैरकपुर में बम से हमला कर भाजपा कार्यकर्ता की हत्या, सिर के उड़े परखच्चे: बीजेपी ने TMC को ठहराया जिम्मेदार

भाजपा ने एक बयान जारी कर दावा किया कि उक्त कार्यकर्ता के खिलाफ कई झूठे मामले भी दर्ज किए गए थे।‌ पार्टी नेताओं ने दावा किया कि बंगाल में भाजपा को सपोर्ट करने की सजा उनके कार्यकर्ताओं और समर्थकों को मौत के घाट उतार कर दी जा रही है।

पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम आने के बाद से जारी राजनीतिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। आज फिर एक बीजेपी कार्यकर्ता की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई। बंगाल भाजपा ने रविवार को दावा किया कि उत्तर 24 परगना के बैरकपुर इलाके में उसके पार्टी कार्यकर्ता पर बम से हमला कर हत्या कर दी गई। मृत कार्यकर्ता का नाम जयप्रकाश यादव बताया गया है। बंगाल भाजपा ने सत्तारूढ़ तृणमूल कॉन्ग्रेस (टीएमसी) को इस हत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

गौरतलब है कि बंगाल बीजेपी के वाईस प्रेसिडेंट अर्जुन सिंह ने ट्वीट कर जानकारी दी, “आज दोपहर भाटपाड़ा के वार्ड नंबर 1 में @AITCofficial के गुंडों ने @BJP4Bengal के कार्यकर्ता जे.पी. यादव के सिर पर बम मारकर उसकी हत्या कर दी। इस घटना से लोग आतंकित हैं। पार्टी परिवार के साथ है।” बता दें कि कोलकाता से सटे बैरकपुर संसदीय सीट पर इस समय भाजपा का कब्जा है और 2019 में यहाँ से जीतने वाले अर्जुन सिंह का क्षेत्र में खासा प्रभाव है।

भाजपा ने एक बयान जारी कर दावा किया कि उक्त कार्यकर्ता के खिलाफ कई झूठे मामले भी दर्ज किए गए थे।‌ पार्टी नेताओं ने दावा किया कि बंगाल में भाजपा को सपोर्ट करने की सजा उनके कार्यकर्ताओं और समर्थकों को मौत के घाट उतार कर दी जा रही है। उन्होंने कहा कि बंगाल में लोकतंत्र की हत्या हो रही है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यह कहा जा रहा है कि पार्टी की ओर से मृत कार्यकर्ता की जो तस्वीर जारी की गई है वह बहुत ही वीभत्स है। इसमें साफ देखा जा रहा है कि मुँह व सिर के हिस्से के परखच्चे उड़ गए हैं।

रविवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने भी दावा किया कि ममता बनर्जी के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद से अब तक भाजपा के 32 कार्यकर्ताओं की हत्या की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि अब तक 15 भाजपा उम्मीदवारों एवं चार नवनिर्वाचित विधायकों पर भी हमला किया गया है और यह सिलसिला लगातार जारी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, 11वीं सदी का शिलालेख है साक्ष्य!!

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, बख्तियार खिलजी ने नहीं। ब्राह्मण+बुर्के वाली के संभोग को खोद निकाला है इस इतिहासकार ने।

10 साल जेल, ₹1 करोड़ जुर्माना, संपत्ति भी जब्त… पेपर लीक के खिलाफ आ गया मोदी सरकार का सख्त कानून, NEET-NET परीक्षाओं में गड़बड़ी...

परीक्षा आयोजित करने में जो खर्च आता है, उसकी वसूली भी पेपर लीक गिरोह से ही की जाएगी। केंद्र सरकार किसी केंद्रीय जाँच एजेंसी को भी ऐसी स्थिति में जाँच सौंप सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -