Wednesday, May 18, 2022
Homeराजनीतिबंगाल के बैरकपुर में बम से हमला कर भाजपा कार्यकर्ता की हत्या, सिर के...

बंगाल के बैरकपुर में बम से हमला कर भाजपा कार्यकर्ता की हत्या, सिर के उड़े परखच्चे: बीजेपी ने TMC को ठहराया जिम्मेदार

भाजपा ने एक बयान जारी कर दावा किया कि उक्त कार्यकर्ता के खिलाफ कई झूठे मामले भी दर्ज किए गए थे।‌ पार्टी नेताओं ने दावा किया कि बंगाल में भाजपा को सपोर्ट करने की सजा उनके कार्यकर्ताओं और समर्थकों को मौत के घाट उतार कर दी जा रही है।

पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम आने के बाद से जारी राजनीतिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। आज फिर एक बीजेपी कार्यकर्ता की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई। बंगाल भाजपा ने रविवार को दावा किया कि उत्तर 24 परगना के बैरकपुर इलाके में उसके पार्टी कार्यकर्ता पर बम से हमला कर हत्या कर दी गई। मृत कार्यकर्ता का नाम जयप्रकाश यादव बताया गया है। बंगाल भाजपा ने सत्तारूढ़ तृणमूल कॉन्ग्रेस (टीएमसी) को इस हत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

गौरतलब है कि बंगाल बीजेपी के वाईस प्रेसिडेंट अर्जुन सिंह ने ट्वीट कर जानकारी दी, “आज दोपहर भाटपाड़ा के वार्ड नंबर 1 में @AITCofficial के गुंडों ने @BJP4Bengal के कार्यकर्ता जे.पी. यादव के सिर पर बम मारकर उसकी हत्या कर दी। इस घटना से लोग आतंकित हैं। पार्टी परिवार के साथ है।” बता दें कि कोलकाता से सटे बैरकपुर संसदीय सीट पर इस समय भाजपा का कब्जा है और 2019 में यहाँ से जीतने वाले अर्जुन सिंह का क्षेत्र में खासा प्रभाव है।

भाजपा ने एक बयान जारी कर दावा किया कि उक्त कार्यकर्ता के खिलाफ कई झूठे मामले भी दर्ज किए गए थे।‌ पार्टी नेताओं ने दावा किया कि बंगाल में भाजपा को सपोर्ट करने की सजा उनके कार्यकर्ताओं और समर्थकों को मौत के घाट उतार कर दी जा रही है। उन्होंने कहा कि बंगाल में लोकतंत्र की हत्या हो रही है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यह कहा जा रहा है कि पार्टी की ओर से मृत कार्यकर्ता की जो तस्वीर जारी की गई है वह बहुत ही वीभत्स है। इसमें साफ देखा जा रहा है कि मुँह व सिर के हिस्से के परखच्चे उड़ गए हैं।

रविवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने भी दावा किया कि ममता बनर्जी के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद से अब तक भाजपा के 32 कार्यकर्ताओं की हत्या की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि अब तक 15 भाजपा उम्मीदवारों एवं चार नवनिर्वाचित विधायकों पर भी हमला किया गया है और यह सिलसिला लगातार जारी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंदिर तोड़ा, खजाना लूटा पर हिला नहीं सके शिवलिंग: औरंगजेब के दरबारी लेखक ने भी कबूला था, शिव महापुराण में छिपा है इसका राज़

मंदिर के तोड़े जाने का एक महत्वपूर्ण प्रमाण 'मा-असीर-ए-आलमगीरी’ नाम की पुस्तक भी है। यह पुस्तक औरंगज़ेब के दरबारी लेखक सकी मुस्तईद ख़ान ने 1710 में लिखी थी।

हनुमान चालीसा के टुकड़े-टुकड़े किए, फिर जला कर फेंक दिया: पंजाब में बेअदबी की घटना, AAP सरकार निशाने पर

पंजाब में हनुमान चालीसा की बेअदबी का मामला। बठिंडा जिले हनुमान चालीसा के जले हुए पन्ने मिलने के बाद से हिन्दू संगठनों में काफी आक्रोश है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,629FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe