Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीतिराम-राम भाई सारे ने... जानें कौन है वो फिटनेस इन्फ्लुएंसर, जिसके साथ PM मोदी...

राम-राम भाई सारे ने… जानें कौन है वो फिटनेस इन्फ्लुएंसर, जिसके साथ PM मोदी ने वीडियो बना कर दिया स्वच्छता का सन्देश: गीता और शिव पुराण पढ़ते हैं अंकित बैयनपुरिया

प्रधानमंत्री ने कहा कि वह एक्सरसाइज कम कर पाते हैं, लेकिन इससे अधिक वह अनुशासन पर ध्यान देते हैं। हालाँकि, आजकल वह खाने की टाइमिंग और सोने में अनुशासन नहीं कर पा रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘स्वच्छांजलि’ कार्यक्रम के अंतर्गत रविवार (1 अक्टूबर, 2023) को श्रमदान किया। इसका वीडियो उन्होंने शेयर किया है। वीडियो में वह सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर और यूट्यूबर अंकित बैयनपुरिया के साथ नजर आए। इस दौरान पीएम मोदी ने अंकित से बात की। वीडियो में दोनों को झाड़ू लगाकर सफाई करते देखा जा सकता है।

पीएम मोदी ने ’75 डे हार्ड चैलेंज’ पूरा करने वाले अंकित बैयनपुरिया से बातचीत और स्वच्छता अभियान का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है। साथ ही लिखा, “आज देश स्वच्छता पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। मैंने और अंकित बैयनपुरिया ने भी वही किया है। स्वच्छता के अलावा, हमने इसमें फिटनेस और खुशहाली पर भी बात की है। यह सब स्वच्छ और स्वस्थ भारत के लिए है।”

वीडियो की शुरुआत में पीएम मोदी अंकित से बात करते हुए कहते हैं, “राम-राम सारा नै। अंकित आज हम आपसे कुछ सीखेंगे। फिटनेस के लिए आप इतनी मेहनत करते हैं. उसमें ये स्वच्छता अभियान कैसे मदद करेगा?” इसके जवाब में अंकित कहते हैं, “वातावरण को स्वच्छ रखना हमारा कर्तव्य है। वातावरण स्वच्छ तो हम स्वस्थ हैं।”

इसके बाद पीएम मोदी अंकित से उनके जिले सोनीपत और उसके गाँवों में स्वच्छता के प्रति लोगों का विश्वास कैसा है। इस पर अंकित कहते हैं कि अब लोग थोड़ा सा ज्यादा ध्यान दे रहे स्वच्छता की तरफ। फिर पीएम अंकित से उनकी फिजिकल एक्टिविटी के लिए टाइम देने को लेकर सवाल करते हैं। इसके जवाब में अंकित कहते हैं कि वह दिन में चार से पाँच घंटे फिजिकल एक्टिविटी करते हैं। अंकित ने कहा कि वह पीएम मोदी को देखकर भी मोटिवेट होते हैं।

इस पर प्रधानमंत्री ने कहा कि वह एक्सरसाइज कम कर पाते हैं, लेकिन इससे अधिक वह अनुशासन पर ध्यान देते हैं। हालाँकि, आजकल वह खाने की टाइमिंग और सोने में अनुशासन नहीं कर पा रहे हैं। इसके बाद अंकित कहते हैं कि पूरे देश को सुलाने के लिए आपको जागना पड़ता है। फिर पीएम मोदी ने कहा कि आपने सोशल मीडिया का पॉजिटिव तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है। ये आपने दिखाया है। आपके कारण काफी युवा और बड़ी-बड़ी जिम में जाने वाले लोग भी अब आपको फॉलो करते हैं।

पीएम मोदी ने कहा है कि उन्होंने भारत मंडपम में भी एक दीवार में योग के सभी आसन बताए गए हैं। उसमें एक क्यूआर भी लगा है, जिसे स्कैन कर उस आसन की जानकारी हासिल की जा सकती है। पीएम ने अंकित से उनके ’75 डे हार्ड चैलेंज’ को लेकर भी बात की। अंकित ने कहा कि इसमें 5 नियमों का पालन करना पड़ता है। पहला यह कि दो टाइम वर्क आउट।

दूसरा कम से कम 4 लीटर पानी, तीसरा एक बुक पढ़नी है कम से कम 10 पेज, पहले उन्होंने श्रीमद्भागवत गीता पढ़ी थी अब शिवपुराण पढ़ रहे हैं। चौथा नियम स्ट्रिक्ट डाइट फॉलो करनी है और पाँचवा नियम अपनी प्रोग्रेस देखने के लिए सेल्फी लेनी है। इस दौरान अंकित बैयनपुरिया को पीएम के साथ सेल्फ़ी लेते भी देखा जा सकता है।

कौन है अंकित बैयनपुरिया

‘राम-राम भाई सारा नै’ की टैग लाइन के लिए मशहूर अंकित बैयनपुरिया एक सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर हैं। उनके इंस्टाग्राम पर 50 लाख फॉलोवर्स और यूट्यूब पर 17 लाख से अधिक सब्सक्राइबर्स हैं। डिलीवरी बॉय से प्रधानमंत्री मोदी से मिलने तक का सफर तय करना अंकित के लिए आसान नहीं था।

हरियाणा के सोनीपत जिले के बयानपुर गाँव के एक मध्यम वर्गीय परिवार में जन्मे अंकित बैयनपुरिया का असली नाम अंकित सिंह है। लेकिन अपने गाँव के नाम बयानपुर के चलते उन्होंने नाम बदलकर अंकित बैयनपुरिया रख लिया। अंकित के पिता किसान और माँ हाउस वाइफ हैं।

अंकित बैयनपुरिया ने अपनी 10वीं तक की पढ़ाई बयानपुर लहरारा के सरकारी स्कूल से की। इसके बाद 11वीं और 12वीं के लिए वह सोनीपत चले गए, जहाँ एक सरकारी स्कूल में एडमिशन लेकर आर्ट से 12वीं पास की। इसके बाद महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी रोहतक से आर्ट में ही ग्रेजुएशन भी किया।

अंकित बैयानपुरिया ने यूँ तो साल 2013 में यूट्यूब चैनल बनाया था, लेकिन 4 साल बाद यानी साल 2017 में उन्होंने अपना पहला वीडियो अपलोड किया था। उनके इस चैनल का नाम ‘हरियाणवी खागड़’ था। इसमें वह फनी वीडियो शेयर किया करते थे। हालाँकि, साल 2020 कोरोना वायरस के चलते लगे लॉकडाउन के दौरान उन्होंने फनी वीडियो की जगह फिटनेस, वर्कआउट और डाइट से जुड़े वीडियो बनाने शुरू किए। इसके साथ ही उन्होंने अपने चैनल का नाम बदलकर ‘Ankit Baiyanpuriya’ कर दिया।

इसके बाद अंकित लगातार फिटनेस को लेकर वीडियो बनाते गए और धीरे-धीरे उनके चैनल पर सब्सक्राइबर्स की संख्या बढ़ती गई। वह अपने चैनल पर पारंपरिक कुश्ती, रस्सी के सहारे चढ़ने और दौड़ने समेत अन्य चीजों की ट्रेनिंग भी देते हैं। इसके अलावा वह अपने गाँव बायनपुर में कोच कृष्णा पहलवान के साथ भी ट्रेनिंग करते हैं। इसी साल जून में उनके यूट्यूब पर 1 लाख सब्सक्राइबर पूरे हुए थे। इसके चलते उन्हें सिल्वर प्ले बटन मिला था।

इसके बाद, 27 जून, 2023 को अंकित बैयनपुरिया ने ’75 डे हार्ड चैलेंज’ की शुरुआत की। यह चैलेंज साल 2020 में अमेरिकी बिजनेसमैन और लेखक एंडी फ्रिसेला ने शुरू किया था। उन्होंने यह चैलेंज 11 सितंबर को पूरा किया था। इस चैलेंज के दौरान अंकित सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुई। फिर क्या था, देखते ही देखते उनके इंस्टाग्राम पर फ़ॉलोअर्स की संख्या लाखों के पार पहुँच गई। उन्होंने एक महीन के अंदर ही 3.7 मिलियन फ़ॉलोअर्स का आँकड़ा पार कर लिया था। यह सिलसिला 5 मिलियन फॉलोवर्स पूरे होने के बाद भी जारी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -