Happy Birthday ड्रीम गर्ल: अब कमलनाथ सरकार बनाएगी हेमा मालिनी के गाल जैसी सड़कें!

मध्य प्रदेश के जनसम्पर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है कि राज्य की सड़कों को हेमा मालिनी के गाल की तरह बनाया जाएगा। कॉन्ग्रेस नेता शर्मा ने कहा कि अभी सड़कें कैलाश विजयवर्गीय के गाल जैसी हैं। विजयवर्गीय राज्य के पूर्व मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव हैं।

भाजपा सांसद हेमामालिनी का आज जन्मदिन है। साल 1948 में पैदा हुईं हेमा मालिनी को यूॅं ही ‘ड्रीमगर्ल’ नहीं कहते। उनके कद्रदानों की फे​हरिस्त लंबी है। यहॉं तक कि राजनीतिक विरोधी भी जनता को लुभाने के लिए उनके गालों की तरह सड़कें बनाने का सपना दिखाते हैं। यह दूसरी बात है कि नीयत में खोट की वजह से वे वैसी सड़कें नहीं बना पाते।

अब की हेमा मालिनी के जन्मदिन से ठीक पहले मध्य प्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व वाली कॉन्ग्रेस सरकार ने कुछ ऐसा ही वादा किया है। मध्य प्रदेश के जनसम्पर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है कि राज्य की सड़कों को हेमा मालिनी के गाल की तरह बनाया जाएगा। कॉन्ग्रेस नेता शर्मा ने कहा कि अभी सड़कें कैलाश विजयवर्गीय के गाल जैसी हैं। विजयवर्गीय राज्य के पूर्व मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव हैं। उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार के दौरान सड़कों की हालत खराब थी और अभी भी उन सड़कों की वही हालत है, जिसे कमलनाथ सरकार ठीक करेगी। मंगलवार (अक्टूबर 15, 2019) को जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा राजधानी भोपाल की खस्ताहाल सड़कों की स्थिति देखने के लिए लोक निर्माण विभाग (पीडब्लूडी) मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के साथ निकले थे।

उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का नाम लिए बिना उन पर तंज कसा। उनका ये बयान बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के बयान की याद दिलाता है, जो फ़िलहाल चारा घोटाले में राँची के बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं। लालू यादव डेढ़ दशक तक बिहार में सत्ता के सिरमौर रहे और उन्होंने जनता की हर मूलभूत सुविधाओं का न सिर्फ़ मजाक उड़ाया, बल्कि उन्हें पूरा करने से भी चूक गए। लालू भी बिहार की सड़कों को हेमा मालिनी के गाल की तरह बनाने की बात करते थे लकिन डेढ़ दशक में बिहार में सड़कों में गड्ढे थे ये गड्ढों में सड़क, यह पता करना नामुमकिन था।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

वैसे, मध्य प्रदेश के मंत्री शर्मा ने दावा किया कि सड़कों की मरम्मत का काम युद्धस्तर पर चल रहा है और 30 नवंबर तक सभी कार्य पूरे कर लिए जाएँगे। उन्होंने कहा कि अक्टूबर में बारिश होने की वजह से सड़कें खराब होने की बात कही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के आपदा प्रबंधन कोष से 1,155 करोड़ रुपए की माँग की गई है और इसका इस्तेमाल सड़कों की मरम्मत में किया जाएगा। सड़कों के निर्माण में हुई धाँधली की बात करते हुए कॉन्ग्रेस नेता ने कहा कि सभी ख़राब सड़कों की जाँच होगी और दोषी ठेकेदार व अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी।

कॉन्ग्रेस नेता पीसी शर्मा का यह बयान शिवराज सिंह चौहान के 2 साल पुराने बयान की प्रतिक्रिया में आया है। तत्कालीन सीएम चौहान ने मध्य प्रदेश और अमेरिका की सड़कों की तुलना की थी, जिसका बाद विपक्ष ने बड़ा हंगामा मचाया था। मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार फ़िलहाल उद्योगपतियों को राज्य में आमंत्रित करने में लगी हुई है और इसके लिए मुख्यमंत्री ने ख़ुद मुकेश अम्बानी और गौतम अडानी से मुलाक़ात की थी।

हालॉंकि सड़कों के मामले में कॉन्ग्रेसी सरकारों का रिकॉर्ड शर्मा के वादे पर संदेह ही पैदा करता है। इस बात की आशंका ज्यादा लगती है कि उनका वादा भी लालू की तरह छलावा ही न साबित हो। दीगर है कि मध्य प्रदेश में जब दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में 10 साल कॉन्ग्रेस सत्ता में रही थी तो सड़क और गड्ढों का फर्क मिट गया था। इन गड्ढों का ही असर था कि 2003 में राज्य की सत्ता में भाजपा ने न केवल जबर्दस्त वापसी की, बल्कि अगले डेढ़ दशक तक पूरे दमखम के साथ बनी भी रही।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बरखा दत्त
मीडिया गिरोह ऐसे आंदोलनों की तलाश में रहता है, जहाँ अपना कुछ दाँव पर न लगे और मलाई काटने को खूब मिले। बरखा दत्त का ट्वीट इसकी प्रतिध्वनि है। यूॅं ही नहीं कहते- तू चल मैं आता हूँ, चुपड़ी रोटी खाता हूँ, ठण्डा पानी पीता हूँ, हरी डाल पर बैठा हूँ।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,018फैंसलाइक करें
26,176फॉलोवर्सफॉलो करें
126,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: