Friday, June 21, 2024
Homeराजनीति'कुछ लोग चाहते हैं मैं BJP के साथ जाऊँ': भतीजे अजीत के साथ 'सीक्रेट...

‘कुछ लोग चाहते हैं मैं BJP के साथ जाऊँ’: भतीजे अजीत के साथ ‘सीक्रेट मीटिंग’ के बाद बोले शरद पवार – सौहार्द के वातावरण में हो रही चर्चा

शरद पवार ने भतीजे के साथ सीक्रेट मीटिंग' पर जवाब देते हुए कहा कि वो उनके भतीजे हैं और परिवार के सदस्य से मुलाकात में कुछ बुराई नहीं है।

हाल ही में NCP संस्थापक शरद पवार और उनके भतीजे अजीत पवार के बीच पुणे में एक कारोबारी के आवास पर गुप्त मुलाकात हुई। इसके बाद शरद पवार ने बयान देते हुए कहा है कि कुछ लोग उन्हें भाजपा के साथ जाने के लिए मना रहे हैं। उन्होंने साफ़ किया कि उनकी पार्टी भाजपा के साथ नहीं जाएगी। बता दें कि ‘राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी’ के 2 धड़े हो चुके हैं और अजीर पवार अधिकतर विधायकों के साथ NDA के पाले में जा चुके हैं।

शरद पवार अभी भी खुद को NCP का राष्ट्रीय अध्यक्ष बता रहे हैं। साथ ही उन्होंने NCP को अपनी पार्टी बताते हुए कहा कि वो उनकी पार्टी भाजपे के साथ किसी भी कीमत पर नहीं जाएगी। उन्होंने अजीत पवार का नाम लिए बिना कहा कि पार्टी के कुछ लोगों ने अलग रुख अपनाया है। सीनियर पवार ने ये भी कहा कि कुछ शुभचिंतक उनके रुख में बदलाव के लिए प्रायः कर रहे हैं, इसीलिए सौहार्दपूर्ण वातावरण में चर्चा हो रही है।

शरद पवार ने भतीजे के साथ सीक्रेट मीटिंग’ पर जवाब देते हुए कहा कि वो उनके भतीजे हैं और परिवार के सदस्य से मुलाकात में कुछ बुराई नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर परिवार के वरिष्ठ व्यक्ति किसी अन्य सदस्य से मिलना चाहता हो तो इससे किसी को कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। उन्होंने महाराष्ट्र के आगामी चुनावों में MVA की जीत का भी दावा किया। शरद पवार गुट के नेता जयंत पाटिल भी कह चुके हैं कि सीनियर पवार को बागियों के बारे में अपना रुख साफ करना चाहिए और देरी नहीं करनी चाहिए।

शरद पवार ने अब भी कहा रुख अख्तियार करते हुए कहा है कि सत्ता में हों या विपक्ष में, NCP के दोनों धड़े पहले जब साथ थे और जब बाद में साथ होंगे तब भी भाजपा की सोच और विचारधारा हमारे फ्रेमवर्क में फिट नहीं बैठती है। बता दें कि जिस सीक्रेट मुलाकात की बात कही जा रही है, वो पुणे में अतुल चोर्डिया के बँगले पर हुई थी। अजीत पवार फ़िलहाल राज्य के उप-मुख्यमंत्री हैं और महत्वपूर्ण वित्त मंत्रालय भी उन्हीं के पास है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -