Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीतिलगातार तीसरे साल सबसे लोकप्रिय CM योगी आदित्यनाथ, चौथे नंबर पर फिसलीं ममता बनर्जी:...

लगातार तीसरे साल सबसे लोकप्रिय CM योगी आदित्यनाथ, चौथे नंबर पर फिसलीं ममता बनर्जी: इंडिया टुडे ने बताया देश का मूड

द मूड ऑफ द नेशन पोल के मुताबिक बीजेपी 291 सीटें जीतेगी, जोकि अगस्त 2020 के सर्वे में मिले सीटों से आठ सीटे से ज्यादा है। सर्वेक्षण के अनुसार, भाजपा की अगुवाई वाला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) लगभग 321 सीटें जीतेगी, जोकि अगस्त में 316 था।

इंडिया टुडे के ‘Mood of the Nation’ सर्वे में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ तीसरी बार देश के सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री चुने गए हैं। ममता बनर्जी इस सर्वे में खिसक कर चौथे पायदान पर आ गई हैं। उनसे ऊपर आँध्र प्रदेश के सीएम वाईएस जगनमोहन रेड्डी और दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हैं।

योगी आदित्यनाथ को इंडिया टुडे के इस सर्वे में 24% वोट मिले हैं। अरविंद केजरीवाल के हिस्से 15% वोट आए। जगनमोहन रेड्डी को 11% और ममता बनर्जी को सिर्फ 9% वोट मिले हैं।

Yogi Adityanath emerges as most popular choice for 'best CM' in India Today's Mood of the Nation survey

आजतक के पत्रकार रोहित सरदाना ने इस सर्वे के बाद सीएम योगी को बधाई दी है। उन्होंने लिखा, “उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ देश के मुख्यमंत्रियों में ‘सर्वश्रेष्ठ’ चुने गए हैं। इंडिया टुडे हिंदी का ‘देश का मिज़ाज सर्वेक्षण’ हर छः महीने में ये अध्ययन करता है।”

सर्वे के कुछ और दिलचस्प नतीजे

बता दें कि इंडिया टुडे के इसे सर्वेक्षण के कुछ दिलचस्प नतीजे और भी हैं। जिनसे पता चलता है कि न केवल सीएम योगी, बल्कि पीएम मोदी भी देश की जनता की पहली पसंद हैं

इंडिया टुडे-कर्वे इनसाइट्स मूड ऑफ द नेशन पोल के अनुसार, सर्वे में भाग लेने वाले देश के लगभग तीन-चौथाई नागरिक मोदी सरकार द्वारा आर्थिक संकट से निपटने की नीति को लेकर खुश है। सर्वे में पाया गया है कि 73 प्रतिशत भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश में कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए किए गए कार्यों से संतुष्ट हैं।

सर्वे में कहा गया है कि 23% रेस्पोंडेंट ने कहा कि मोदी सरकार का काम आउटस्टैंडिंग रहा, जबकि 50% ने इसे अच्छा माना। अप्रूवल रेटिंग के संदर्भ में, 74% भारतीय पीएम मोदी से खुश हैं। गौरतलब है कि जहाँ अगस्त 2020 के सर्वेक्षण में 78% का आँकड़ा सामने आया था, वहीं इस बार के आँकड़े में बस मामूली सी गिरावट है।

MOTN सर्वे में कहा गया है कि केंद्र सरकार ने महामारी की वजह से आर्थिक संकट को जिस तरह से हैंडल किया उससे 67 फीसदी भारतीय संतुष्ट हैं। 20% रेस्पोंडेंट ने इसे आउटस्टैंडिंग कहा तो वहीं 47% भारतीयों ने इसे अच्छा प्रदर्शन कहा। MOTN पोल के अनुसार 66 प्रतिशत रेस्पोंडेंट ने कहा कि महामारी के कारण उनकी इनकम कम हुई है, जबकि 19 प्रतिशत ने कहा कि उन्होंने इस दौरान अपनी नौकरियाँ खो दी हैं।

साथ ही सर्वे में यह भी अनुमान लगाया गया है कि अगर आज चुनाव करवाया जाए तो भाजपा भारी बहुमत से सत्ता में वापसी करेगी। द मूड ऑफ द नेशन पोल के मुताबिक बीजेपी 291 सीटें जीतेगी, जोकि अगस्त 2020 के सर्वे में मिले सीटों से आठ सीटे से ज्यादा है। अभी आए MOTN सर्वेक्षण के अनुसार, भाजपा की अगुवाई वाला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) लगभग 321 सीटें जीतेगी, जोकि अगस्त में 316 था।

सर्वे देख भड़के राजदीप सरदेसाई

अपने ही चैनल के इस सर्वे में आए नतीजों को देखने के बाद मीडिया गिरोह के राजदीप सरदेसाई काफी परेशान हैं। उन्होंने ट्विटर पर अपने मन की भड़ास ट्विटर पर निकालते हुए कहा कि यह उनके लिए ‘चौंकाने वाला’ था कि आर्थिक संकट और करोना महामारी के बावजूद पोल के नतीजों में भारतीयों ने मोदी सरकार के कामों सराहना की है।

राजदीप सरदेसाई ने सर्वेक्षण पर टिप्पणी करते हुए कहा कि वह सर्वे पर विश्वास ही नहीं कर पा रहे, क्योंकि लगभग 85% लोग लॉकडाउन में अपनी आजीविका के अवसरों को खोने के बावजूद आर्थिक संकट से निपटने के लिए दो तिहाई से अधिक लोग सरकार की सराहना कर रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -