Tuesday, October 19, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनअनुच्छेद 370 की बहस में अब फ़िल्मी दुनिया की 'सेलिब्रिटी' हुईं शामिल, ट्विटर पर...

अनुच्छेद 370 की बहस में अब फ़िल्मी दुनिया की ‘सेलिब्रिटी’ हुईं शामिल, ट्विटर पर हुई नोकझोंक

पायल रोहतगी ने अपनी पोस्ट में लिखा कि अगर कश्मीर से धारा 370 हटाई जा सकती है तो वहाँ से मुस्लिमों को भी बाहर कर देना चाहिए। कश्मीर हमेशा भारत का हिस्सा रहेगा, फिर चाहे कोई कश्मीर में रहे या न रहे।

अनुच्छेद 370 पर आए दिन सोशल मीडिया पर जुबानी जंग होती रहती है। इस बार यह जंग बिग बॉस की कंटेस्टेंट रह चुकी पायल रोहतगी और एक्ट्रेस गौहर ख़ान के बीच दिखी। पायल के एक ट्वीट ने बवाल मचा दिया है। यह ट्वीट उन्होंने अनुच्छेद 370 को लेकर किया जिसके बाद गौहर ख़ान और उनके बीच तीखी बहस का सिलसिला शुरू हो गया।

दरअसल, पायल रोहतगी ने अपनी पोस्ट में लिखा कि अगर जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया जा सकता है तो वहाँ से मुस्लिमों को भी बाहर कर देना चाहिए। बहुत से ऐसे कश्मीरी लोग हैं जो अन्य शहरों में बस गए हैं। कश्मीर हमेशा भारत का हिस्सा रहेगा, फिर चाहे कोई कश्मीर में रहे या न रहे। पंडितों को बाहर निकाल दिया गया, अब मुस्लिमों को भी बाहर निकाल देना चाहिए।

इस ट्वीट के बाद एक्ट्रेस गौहर ख़ान ने चुटकी लेते हुए जवाब में लिखा कि ये बात वो शख़्स कर रहा है जो ख़ुद 90% मुस्लिम आबादी के बीच ख़ुशी से रह रहा है। मुझे अब, बिल्डिंग में रहने वाले मुस्लिमों पर गर्व है जो तुम्हारे जैसे शख़्स को बर्दाश्त कर रहे हैं।

इसके अलावा अपने एक अन्य ट्वीट में गौहर ने लिखा कि कुछ लोग दूसरे मजहब वालों को अपना घर किराए पर नहीं देते हैं। नफ़रत फैलाना आसान है, इस तरह के विचारों पर शर्म आती है। भारत अपनी विविधताओं की वजह से सुंदर है। ऐसे लोगों को शर्म आनी चाहिए जो भारत को बाँटने की बात करते हैं।

गौहर के इन ट्वीट्स का जवाब पायल रोहतगी ने दिया और लिखा कि एक आंटी जिसने बिग बॉस जीतने के लिए एक हिन्दू लड़के के साथ असफल रिश्ता बनाया वो मेरी बिल्डिंग की आबादी को जानती है। आपको पता होना चाहिए कि मैं फ्लैट की मालकिन हूँ। पायल ने गौहर को कहा, “क्या तुम हिजाब में वर्कआउट करती हो ? क्योंकि मेरी बिल्डिंग में काम करने वाली महिलाएँ ऐसा करती हैं।”

हाल ही में महबूबा मुफ़्ती ने भी कहा था कि अगर अनुच्छेद 370 हटाया गया तो इस पर विचार किया जाएगा कि कश्मीर, भारत का हिस्सा बनेगा या नहीं। उनकी यह टिप्पणी तब सामने आई थी जब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने की बात कही थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इधर आतंकी गोली मार रहे, उधर कश्मीरी ईंट-भट्टा मालिक मजदूरों के पैसे खा रहे: टारगेट किलिंग के बाद गैर-मुस्लिम बेबस

कश्मीर घाटी में गैर-कश्मीरियों को टारगेट कर हत्या करने के बाद दूसरे प्रदेशों से आए श्रमिक अब वापस लौटने को मजबूर हो रहे हैं।

कश्मीर को बना दिया विवादित क्षेत्र, सुपरमैन और वंडर वुमेन ने सैन्य शस्त्र तोड़े: एनिमेटेड मूवी ‘इनजस्टिस’ में भारत विरोधी प्रोपेगेंडा

सोशल मीडिया यूजर्स इस क्लिप को शेयर कर रहे हैं और बता रहे हैं कि कैसे कश्मीर का चित्रण डीसी की इस एनिमेटिड मूवी में हुआ है और कैसे उन्होंने भारत को बुरा दिखाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,884FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe