Monday, December 6, 2021
Homeदेश-समाजबसपा विधायक ने धमकाया: 'दुल्हन का पता नहीं लगा तो आरोपितों की बहन-बेटियों को...

बसपा विधायक ने धमकाया: ‘दुल्हन का पता नहीं लगा तो आरोपितों की बहन-बेटियों को घर से उठा लेंगे’

राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने अपने फेसबुक अकॉउंट पर इस धरने से संबधित पोस्ट भी लिखी है। इस पोस्ट के जरिए उन्होंने संदेश देने की कोशिश की है कि अब प्रशासन से आर-पार की लड़ाई होगी।

राजस्थान में बसपा विधायक राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने सीकर में 4 दिन पहले अगवा हुई एक दुल्हन के मामले पर बोलते हुए भड़काऊ बयान दिया। दरअसल, बयान में राजेंद्र ने प्रशासन पर निशाना साधते हुए कहा, “अगर पुलिस आरोपितों का पता नहीं लगाती है तो हम आरोपितों की बहन-बेटियों को उनके घर से उठाकर ले जाएँगे।”

राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने यह बयान कलेक्टर के बंगले के पास राजपूत छात्रावास में धरने पर बैठने के दौरान दिया। राजेंद्र ने कहा कि प्रशासन ने हमसे हमारी बहन को खोजने के लिए तीन दिन का समय माँगा था, लेकिन 3 दिन बीतने के बाद भी दुल्हन का पता नहीं लग पाया है और न ही किसी आरोपित की गिरफ्तारी हुई है। गुढ़ा की माने तो अगर प्रशासन उनकी ‘बहन-बेटी’ को ढूँढने में असफल रहता है तो वह आरोपितों की बहन-बेटियों को घर से उठा लेंगे। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले राजस्थान के सीकर में राजपूट समाज की लड़की का ससुराल पहुँचने से पहले अपहरण कर लिया गया था। इस मामले ने सीकर में खूब तूल पकड़ा। जगह-जगह प्रशासन से दुल्हन को ढूँढने की और आरोपितों के गिरफ्तारी की माँग की गई।

सीकर में हुई घटना के संबंध में एसपी अमनदीप सिंह कपूर का कहना है कि उदयपुरवाटी के विधायक (राजेंद्र सिंह गुढ़ा) और समाज के अन्य लोगों से अपील है कि वे इस तरह के बयान न दें। अमनदीप की मानें तो ऐसे बयानों से गलत संदेश जाता है। उनका कहना है कि पुलिस आरोपितों को गिरफ्तार करने के बहुत नज़दीक पहुँच चुकी है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने 5 टीमें बनाई हैं। जिन्हें 3 राज्यों में भेजा गया है। साथ ही दुल्हन की तस्वीर 17 थानों में भेज दी गई है।

राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने अपने फेसबुक अकॉउंट पर इस धरने से संबधित पोस्ट भी लिखी है। इस पोस्ट के जरिए उन्होंने संदेश देने की कोशिश की है कि अब प्रशासन से आर-पार की लड़ाई होगी।

इस पोस्ट में राजेंद्र ने अपने समर्थकों से 11 बजे सीकर पहुँचने की गुहार लगाई। उन्होंने कहा कि वह सभी को विश्वास दिलाना चाहते हैं कि वह अपने किसी भी भाई को कमज़ोर नहीं पड़ने देंगे। उन्होंने कहा कि आत्मसम्मान और इज्जत की इस लड़ाई के लिए वे मरने के लिए भी तैयार हैं।

इस पोस्ट में उन्होंने कहा कि अब सरकार और प्रशासन से दो-दो हाथ करने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि आज 72 घण्टे होने के बाद भी प्रशासन के द्वारा कोई ठोस सकारात्मक परिणाम नहीं दिया जाना इस बात को साबित करता है कि कहीं न कहीं प्रशासन के अधिकारी अपराधियों को पकड़ने में कोताही बरत रहे हैं।

विधायक राजेंद्र ने अपनी फेसबुक पोस्ट में कहा, “मैं एक बार पुनः आप सभी को बता देना चाहता हूँ कि सीकर में नेट बन्द कर दिया गया है आप सभी मेरे इसी संदेश को मेरी स्वीकृति समझ अधिक से अधिक संख्या में आज 11 बजे सीकर पहुँचे।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिम बाबरी विध्वंस को नहीं भूलेंगे, फिर से बनेगी मस्जिद’: केरल के स्कूल में बाँटा गया ‘मैं बाबरी हूँ’ का बैज

केरल के एक 'सेंट जॉर्ज स्कूल' की कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं, जिसमें एक SDPI कार्यकर्ता बच्चों की शर्ट पर बाबरी वाला बैज लगाता हुआ दिख रहा।

‘लड़ाई जीत ली, पर युद्ध जारी रहना चाहिए’: ISI सरगना और खालिस्तानी के साथ राकेश टिकैत का वीडियो कॉल, PM मोदी को कहा गया...

कथित किसान नेता राकेश टिकैत एक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार का हिस्सा बने, जिसमें खालिस्तानी से लेकर ISI से जुड़े लोग भी शामिल हुए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,998FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe