Thursday, May 23, 2024
Homeदेश-समाजदिल्ली पुलिस ने दीप सिद्धू के नाम पर रखा ₹1 लाख का इनाम, 26...

दिल्ली पुलिस ने दीप सिद्धू के नाम पर रखा ₹1 लाख का इनाम, 26 जनवरी की हिंसा में शामिल 8 लोगों की है तलाश

दीप सिद्धू, जुगराज सिंह, गुरजोत सिंह और गुरजंत सिंह पर 1-1 लाख रुपए का इनाम घोषित किया गया है। जजबीर सिंह, बूटा सिंह, सुखदेव सिंह और इकबाल सिंह पर 50-50 हजार रुपए इनाम का ऐलान किया है।

गणतंत्र दिवस पर प्रदर्शनकारी किसानों द्वारा आजोजित ट्रैक्टर परेड के दौरान जमकर बवाल किया गया। उपद्रवियों ने जमकर तोड़फोड़ की और लाल किले (Red Fort) पर अपना झंडा तक फहरा दिया था। दिल्ली पुलिस अब उपद्रवियों पर शिकंजा कसने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उपद्रव करने वाले 12 लोगों की तस्वीरें जारी की गई हैं और 8 आरोपितों पर इनाम घोषित कर दिया गया है।

इन 8 लोगों की है तलाश

दिल्ली पुलिस गणतंत्र दिवस पर उपद्रव करने वालों की सरगर्मी से तलाश कर रही है। पुलिस ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के 8 आरोपितों पर इनाम घोषित किया है। दीप सिद्धू समेत 4 आरोपितों पर 1-1 लाख रुपए का इनाम और 4 अन्य आरोपितों पर 50-50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है। जानकारी के मुताबिक दीप सिद्धू, जुगराज सिंह, गुरजोत सिंह और गुरजंत सिंह पर 1-1 लाख रुपए का इनाम घोषित किया गया है। जजबीर सिंह, बूटा सिंह, सुखदेव सिंह और इकबाल सिंह पर 50-50 हजार रुपए इनाम का ऐलान किया है।

दिल्ली पुलिस की एसआइटी कर रही है जाँच

दिल्ली पुलिस ने उपद्रव में शामिल कई आरोपितों की भी पहचान कर उन पर इनाम की घोषणा की है। जाँच के दौरान दिल्ली पुलिस के पास करीब 5 हजार वीडियो आ चुके हैं। जिनमें से पुलिस उपद्रवियों की पहचान कर रही है। दिल्ली दंगों को लेकर अब तक पुलिस 44 एफआईआर दर्ज कर चुकी है, वहीं 122 लोगो की गिरफ्तारी हुई है। हालाँकि, दिल्ली में हुए इस उपद्रव को लेकर अभी भी किसी मुख्य आरोपित की गिरफ्तारी नही हो पाई है। दिल्ली में हुई इस हिंसा की जाँच क्राइम ब्रांच भी कर रही है।

इधर केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शन के बीच नई दिल्ली की सीमाओं पर कड़ी सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शन स्थल पर कई स्तरों पर बैरिकेड लगाए हैं और सुरक्षा बलों की भारी तैनाती की गई है। इसे लेकर पुलिस से कई प्रकार के सवाल भी पूछे जा रहे हैं।

मंगलवार (फरवरी 02, 2021) को पत्रकारों को संबोधित करते हुए, दिल्ली के पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने कहा कि वह ये देखकर आश्चर्यचकित हैं कि 26 जनवरी के दिन जब पुलिसकर्मियों पर हमला किया गया और प्रदर्शनकारियों द्वारा बैरिकेड्स तोड़कर हिंसक घटनाओं को अंजाम दिया गया, उन पर कम सवाल उठाए गए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

रोहिणी आचार्य के पहुँचने के बाद शुरू हुई हिंसा, पूर्व CM का बॉडीगार्ड लेकर घूम रही थीं: बिहार पुलिस ने दर्ज की 7 FIR,...

राबड़ी आवास पर उपस्थित बॉडीगार्ड और पुलिसकर्मियों से पूरे मामले में पूछताछ की इस दौरान विशेष अधिकारी मौजूद रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -