Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका ने अपनी ही मुस्लिम सांसद को विदेश मामलों की समिति से हटाया, भारी...

अमेरिका ने अपनी ही मुस्लिम सांसद को विदेश मामलों की समिति से हटाया, भारी पड़ा इजरायल विरोधी बयान: भारत के खिलाफ भी उगलती रही है ज़हर

बता दें कि इल्हान के खिलाफ यह प्रस्ताव 'रिपब्लिकन पार्टी' के सांसद मैक्स मिलर ने पेश किया था। इसमें उन्होंने इल्हान उमर के 6 बयानों को अमेरिका की विदेश नीति के विरोध में बताया था।

अमेरिका की मुस्लिम सांसद इल्हान उमर को विदेशी मामलों की समिति से हटा दिया गया। यह कार्रवाई इजरायल के खिलाफ विवादित बयान देने के चलते हुई। इल्हान उमर के खिलाफ 218 वोट पड़े। इससे पहले वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जम्मू कश्मीर को लेकर भी विवादित बयान दे चुकी हैं।

इल्हान उमर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन की ‘डेमोक्रेटिक पार्टी’ की नेता हैं। दुनिया भर में उन्हें कट्टर इस्लामवादी के रूप में देखा जाता है। इजरायल के खिलाफ विवादास्पद टिप्पणी करने के बाद पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पार्टी रिपब्लिकन ने इल्हान उमर का कड़ा विरोध किया था। साथ ही, उन्हें हटाने के लिए सदन में प्रस्ताव पेश किया था।

गुरुवार (2 फरवरी, 2023) को अमेरिकी सदन में जोरदार बहस के बाद वोटिंग हुई। इस वोटिंग में इल्हान उमर के पक्ष में 211 वोट पड़े। वहीं, 218 लोगों ने उन्हें विदेशी मामलों की समिति से हटाने के लिए लाए गए प्रस्ताव का समर्थन किया।

बता दें कि इल्हान के खिलाफ यह प्रस्ताव ‘रिपब्लिकन पार्टी’ के सांसद मैक्स मिलर ने पेश किया था। इसमें उन्होंने इल्हान उमर के 6 बयानों को अमेरिका की विदेश नीति के विरोध में बताया था। मिलर ने कहा था कि इल्हान उमर इजरायल और यहूदियों की विरोधी हैं, इसलिए वह विदेश मामलों की समिति में होते हुए निष्पक्ष रूप से फैसले नहीं ले सकतीं।

वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय ने इस कार्रवाई की निंदा की है। ‘व्हाइट हाउस’ की प्रेस सचिव कैरिन ज्यां-पियरे ने कहा है, “हमें लगता है कि यह एक राजनीतिक चाल है। हाल के समय में प्रमुख समितियों से डेमोक्रेटिक पार्टी के कई सांसदों को हटाया गया है। यह सब रिपब्लिकन पार्टी के सांसदों द्वारा अन्यायपूर्ण तरीके से किया गया। यह अमेरिका के लोगों का अपमान है। हमारा मानना है कि सांसद उमर अमेरिकी संसद की एक उच्च सम्मानित सदस्य हैं। उन्होंने अपनी टिप्पणियों के लिए माफी भी माँगी है।”

बता दें कि इल्हान उमर ने कई मौकों पर खुद को कट्टर इस्लामवादी के रूप में पेश किया है। वह अमेरिकी संसद में हिजाब पहनकर जाने वाली पहली नेता हैं। उन्होंने इजरायल और यहूदियों की कड़ी आलोचना की है। इसके अलावा वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के अभिन्न अंग कश्मीर को को लेकर भी कई विवादित बयान दे चुकी हैं।

अप्रैल 2022 में उन्होंने अमेरिकी संसद में कहा था कि आखिर मोदी सरकार मुस्लिमों के खिलाफ कब तक और क्या-क्या जुल्म करेगी। क्या इस पर अमेरिकी राष्ट्रपति (जो बायडेन) कुछ कहेंगे? यही नहीं, उन्होंने अमेरिका के साथ भारत के संबंध को ऐतिहासिक अन्याय करार दिया था। उन्होंने गत वर्ष पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर का भी दौरा किया था। भारतीय विदेश मंत्रालय ने उनके इस दौरे की आलोचना की थी। वह पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की भी समर्थक मानी जाती हैं।

गौरतलब है कि इल्हान उमर को लेकर यह कहा जाता रहा है कि उन्होंने अपने सगे भाई से शादी की है। यह आरोप लगाया गया था कि उन्होंने अपने भाई को अमेरिका की नागरिकता दिलाने के लिए शादी की थी। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कई मौकों पर इसका जिक्र किया है। यही नहीं, रिपब्लिकन पार्टी द्वारा पेश की गई डीएनए रिपोर्ट में भी इस बात की पुष्टि हो चुकी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पहले उइगर औरतों के साथ एक ही बिस्तर पर सोए, अब मुस्लिमों की AI कैमरों से निगरानी: चीन के दमन की जर्मन मीडिया ने...

चीन में अब भी उइगर मुस्लिमों को लेकर अविश्वास है। तमाम डिटेंशन सेंटरों का खुलासा होने के बाद पता चला है कि अब उइगरों पर AI के जरिए नजर रखी जा रही है।

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -