Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय3 मंजिला फेरी में बीच नदी लगी आग, 39 की मौत; कुछ जिंदा जले-कुछ...

3 मंजिला फेरी में बीच नदी लगी आग, 39 की मौत; कुछ जिंदा जले-कुछ डूब मरे: बांग्लादेश की घटना, 1000 थे सवार

फेरी की आग में जिंदा बचे एक व्यक्ति सईदुर रहमान के मुताबिक, सुबह के करीब 3 बजे इंजन रूम में आग लग गई और यह तेजी से फैलने लगी।

बांग्लादेश (Bangladesh) के झालाकाठी में एक भीषण हादसा हुआ है। शुक्रवार (24 दिसंबर 2021) को सुगंधा नदी में एक फेरी में आग लगने से 39 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 200 से अधिक लोग बर्न इंजरी का शिकार बताए जा रहे हैं। आग सुबह करीब 3 बजे लगी। आग इतनी भयंकर थी कि तीन मंजिला फेरी ‘MY Obhijan’ जलकर राख हो गई।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, झालाकाठी जिले के एडिशनल कमिश्नर मोहम्मद नजमुल आलम ने कहा है कि फेरी में करीब 1000 लोग सवार थे। यह फेरी राजधानी ढाका से बरगुना जिले की ओर जा रही थी। फायर सर्विस के डिप्टी डायरेक्टर कमल हुसैन भुइयाँ ने बताया कि 70 से अधिक लोगों को स्थानीय अस्पतालों में इलाज के लिए भर्ती किया गया है। स्थानीय पुलिस चीफ मोइनुल इस्लाम ने एएफपी समाचार एजेंसी को बताया, “ज्यादातर लोगों की आग की चपेट में आने से मौत हुई है औऱ कुछ नदी में कूदने के बाद डूब गए।” उन्होंने कहा, “हमने लगभग 100 लोगों को बरीसाल के अस्पतालों में भेजा है। ये सभी जले हुए हैं।”

हादसे में जिंदा बचे व्यक्ति की दास्तान

फेरी की आग में जिंदा बचे एक व्यक्ति सईदुर रहमान के मुताबिक, सुबह के करीब 3 बजे इंजन रूम में आग लग गई और यह तेजी से फैलने लगी। अपनी जान बचाने के लिए कई लोग पानी में कूदे, जिनमें से कुछ किनारे तक पहुँचने में सफल रहे। रहमान के मुताबिक, जलने की दुर्गंध आने पर वे भी अपने वीआईपी केबिन से बाहर निकले और बीवी और साले के साथ ठंडे पानी में कूद गए और तैरकर किनारे पहुँचे।

बांग्लादेश में इससे पहले इसी साल जुलाई में औद्योगिक शहर रूपगंज में एक खाद्य और पेय कारखाने में आग लगने से 52 लोगों की मौत हो गई थी। इसी तरह की एक अन्य घटना इसी साल अगस्त में हुई थी, जब एक नाव रेत से लदे मालवाहक जहाज से झील में टकरा गई थी, जिसमें 20 लोगों की मौत हो गई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -