Wednesday, July 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयचीन में लॉकडाउन विरोधी प्रदर्शनों का नारा बना 'जिम्मी जिम्मी', खाली बर्तन दिखा चीनी...

चीन में लॉकडाउन विरोधी प्रदर्शनों का नारा बना ‘जिम्मी जिम्मी’, खाली बर्तन दिखा चीनी गा रहे बप्पी लहिरी का गाना

चीन की सोशल मीडिया साइट ‘दोयूयिन’ पर बप्पी लहिरी के संगीत से सजे इस गाने को पार्वती खान ने स्थानीय भाषा में गाया जा रहा है। ‘जि मी, जि मी’ शब्द का चीन में अर्थ है- मुझे चावल दो, मुझे चावल दो।

बॉलीवुड में डिस्को और पॉप म्यूजिक का दौर शुरू करने वाले सिंगर और म्यूजिक डायरेक्टर बप्पी लहिरी (Bappi Lahiri) का एक गाना इन दिनों चीन में छाया हुआ है। चीन (China) की कठोर कोविड नीति के कारण लागू पाबंदियों से परेशान देश की जनता लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है।

इसके लिए स्थानीय लोग 1982 में आई फिल्म ‘डिस्को डांसर’ के म्यूजिक डायरेक्टर बप्पी लहिरी के लोकप्रिय गाने ‘जिम्मी जिम्मी आजा आजा’ का जमकर उपयोग कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर चीन के लोगों का ‘जिम्मी जिम्मी आजा आजा’ गाने पर अनोखा प्रदर्शन देखकर हर कोई हैरान है।

फोटो साभार: द हिन्दू

चीन की सोशल मीडिया साइट ‘दोयूयिन’ (टिकटॉक का चीनी नाम) पर लहिरी के संगीत से सजे पार्वती खान द्वारा गाए गए इस गाने को वहाँ की स्थानीय भाषा ‘मंदारिन’ में गाया जा रहा है। ‘जि मी, जि मी’ (Jie mi) शब्द का चीन में अर्थ है- मुझे चावल दो, मुझे चावल दो। कुछ महिलाएँ तो वीडियो में भारतीय साड़ी और कुर्ता पहने हुए दिखाई दे रही हैं। चीनी वायरल वीडियो में यह दिखाने के लिए कि कैसे वे लॉकडाउन के दौरान आवश्यक खाद्य पदार्थों से वंचित हैं, खाली बर्तन दिखा रहे हैं। इस वीडियो पर अभी तक चीनी सेंसर बोर्ड की कैंची नहीं चल पाई है, जो देश के विरोध में किए गए किसी भी पोस्ट को तुरंत हटा देता है।

दरअसल, चीन जीरो कोविड ​​नीति को लाकर बुरा फँस गया है। शंघाई सहित दर्जनों शहर, जिनकी आबादी 25 मिलियन (करीब 2.5 करोड़) से अधिक है, वहाँ हफ्तों से लोग अपने घरों में बंद रहने को मजबूर हैं। बीते दिनों ऐसे सैकड़ों वीडियो सामने आए हैं, जिनमें सुरक्षा अधिकारियों को लॉकडाउन का विरोध कर रहे लोगों पर नकेल कसते हुए देखा जा सकता है।

वहीं कुछ अन्य रिपोर्टों की मानें तो इस साल अक्टूबर के मध्य में कुछ लोगों के बीमार पड़ने के बाद भी उन्हें कोई इलाज मुहैया नहीं कराया गया, जिसके बाद श्रमिकों ने फॉक्सकॉन कारखाने को छोड़ना शुरू कर दिया। रविवार (30 अक्टूबर 2022) को चीन में कोरोना के 2,675 मामले दर्ज किए गए, जो पिछले दिन से 802 ज्यादा थे।

बता दें कि बीजिंग सहित लगभग सभी शहरों के निवासियों के लिए कोरोना टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है। नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही वे रेस्टोरेंट, बाजारों सहित अन्य सार्वजनिक स्थानों पर आ-जा सकते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -