Wednesday, August 4, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयचर्च चलाता था स्कूल, मिले 182 कब्र: पहले दो स्कूलों में मिले थे 966...

चर्च चलाता था स्कूल, मिले 182 कब्र: पहले दो स्कूलों में मिले थे 966 कब्र – सभ्य बनाने के नाम पर की गईं हत्याएँ?

"हम इसे संदिग्ध मानते हुए इसकी जाँच कर रहे हैं।" - स्वदेशी आवासीय स्कूलों में बच्चों के साथ हुए दुर्व्यवहार के लिए पोप फ्रांसिस से माफी माँगने की माँग की गई है।

एक कनाडाई स्वदेशी समुदाय ने बुधवार (जून 30, 2021) को कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत में क्रैनब्रुक के पास एक पूर्व स्वदेशी आवासीय विद्यालय के आसपास अचिह्नित कब्रों में 182 लोगों के अवशेषों के बरामद होने की बात कही।

रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस कॉर्पोरल शेल्डन रॉब ने इस मामले पर बोलते हुए AFP को बताया, “हम इसे संदिग्ध मानते हुए इसकी जाँच कर रहे हैं।” स्वदेशी आवासीय स्कूलों में बच्चों के साथ हुए दुर्व्यवहार के लिए पोप फ्रांसिस से माफी माँगने की माँग की गई। कनाडा के सबसे बड़े स्वदेशी संगठन के प्रमुख ने बुधवार को कहा कि पोप फ्रांसिस इस साल के अंत में स्वदेशी नेताओं के साथ बैठक करेंगे और कनाडा आने पर चर्चा करेंगे। इसके साथ ही वह स्कूलों के संचालन में चर्च की भूमिका के लिए माफी माँगेंगे।

कैनेडियन कॉन्फ्रेंस ऑफ कैथोलिक बिशप्स ने कहा कि पोप कनाडा के तीन सबसे बड़े स्वदेशी समूहों – फर्स्ट नेशंस, मेटिस और इनुइट के प्रतिनिधियों के साथ वेटिकन में अलग-अलग मिलेंगे। इस साल दिसंबर में बैठकों की चार दिवसीय श्रृंखला के दौरान इसका समापन होगा।

बिशप ने लिखा, “पोप फ्रांसिसी स्वदेशी लोगों से सीधे सुनने, अपनी हार्दिक निकटता व्यक्त करने, उपनिवेशवाद के प्रभाव और आवासीय स्कूल प्रणाली में चर्च की भूमिका को संबोधित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

कनाडा के एक स्कूल में दफन 751 लोगों के शव

गौरतलब है कि ये इस तरह की तीसरी घटना है। हाल ही में कनाडा के एक आवासीय स्कूल से 751 बच्चों के अवशेष मिले थे। एक अधिकारी ने बताया था कि जाँचकर्ताओं को इस आवासीय स्कूल के परिसर से 751 अचिह्नित कब्रें मिली थीं। आशंका जताई गई कि इनमें भी बच्चों के शव दफनाए गए हैं।

ट्रूथ एंड रिकॉन्सिलिएशन कमिशन ने पाँच वर्ष पहले संस्थान में बच्चों के साथ हुए दुर्व्यवहार पर विस्तृत रिपोर्ट दी थी। इसमें बताया गया कि दुर्व्यवहार एवं लापरवाही के कारण कम से कम 3200 बच्चों की मौत हो गई थी।

215 आदिवासी बच्चों के मिले थे अवशेष

इससे पहले कनाडा के एक बंद पड़े बोर्डिंग स्कूल के परिसर में 215 आदिवासी बच्चों के अवशेष पाए गए थे। इनमें से कुछ की उम्र तीन साल तक की बताई गई। इस मामले में Tk’emlups te Secwepemc जनजाति ने बताया था कि ब्रिटिश कोलंबिया में 1978 से बंद पड़े कमलूप्स इंडियन रेजीडेंशियल स्कूल (KIRS) में बच्चों के अवशेषों की बरामदगी हुई। तब इन्हें रडार विशेषज्ञों की मदद से जमीन से निकाला गया था।

रिपोर्ट में ये भी कहा गया था कि बच्चों को वहाँ शारीरिक शोषण, बलात्कार, कुपोषण व अन्य अत्याचारों से गुजरना होता था। रिपोर्ट के अनुसार इस आवासीय स्कूल में रहने के दौरान 4100 बच्चों की मौत हुई थी। लेकिन कनाडा के सबसे बड़े आवासीय स्कूल में दफनाए गए इन 215 बच्चों का रिकॉर्ड इस लिस्ट में शामिल नहीं किया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe