Wednesday, July 28, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय16 वर्षीय छात्र वुहान में दोबारा ले आया कोरोना, पिछले 1 हफ्ते में सामने...

16 वर्षीय छात्र वुहान में दोबारा ले आया कोरोना, पिछले 1 हफ्ते में सामने आया पहला केस

पिछले दिनों खबर आई थी कि कोरोना संक्रमण पर काबू पाते ही चीन की वेट मार्केट दोबारा से शुरू हो गई है। वहाँ चमगादड़, बतख और कुत्तों का मीट बिकना प्रारंभ हो गया है। इसी मार्केट के कारण हुबेई प्रांत में रहने वाली 55 वर्षीय महिला कोरोना की चपेट में आई थी। इसके बाद ये वायरस अन्य लोगों में पहुँचा।

कोरोना वायरस से निजात पाने के जश्न में डूबा चीन का वुहान अब दोबारा खतरे में है। खबर है कि वहाँ कोरोना दोबारा लौट आया है। इस बार इसे लाने वाला एक 16 वर्षीय छात्र है। जानकारी के मुताबिक छात्र का नाम झोहू है। बताया जा रहा है कि जब झोहू लौटा उस समय उसमें बीमारी के कोई लक्षण नहीं दिखाई दिए। मगर बीजिंग उतरकर वुहान लौटने के बाद उसका टेस्ट पॉजिटिव आया। बता दें पिछले एक हफ्ते में ये चीन में सामने आया कोरोना वायरस का पहला केस है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, झोहू ने वुहान से बीजिंग और दुबई होते हुए यूके के न्यूकैसल तक सफर किया था। वुहान हेल्थ कमीशन के अनुसार, झोहू यूके में रहकर पढ़ता है। उसने न्यूकैसल इंटरनेशनल एयरपोर्ट से 21 मार्च को दुबई होते हुए बीजिंग के लिए उड़ान भरी थी। इसके बाद शुरुआत में एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग हुई। उसे मेडिकल ऑब्जर्वेशन में रखा गया। फिर उसे हाई स्पीड ट्रेन से उसके घर वुहान भिजवा दिया गया। साथ ही क्वारंटाइन होने के आदेश दिए।

अब वुहान में लौटे इस केस ने वहाँ प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है। माना जा रहा है कि आने वाले हफ्ते में चीन में कोरोना पर स्थिति साफ होगी। चीन के मुताबिक वहाँ बाहर से आए कोरोना वायरस के 841 मामले हैं, जबकि हुबेई प्रांत में लोकल ट्रांसमिशन का कोई केस नहीं है। मगर, चूँकि झोहू यूरोप से संक्रमित होकर लौटा है, जहाँ कोविड 19 का कहर बरपा हुआ है, इसलिए उसपर खास निगाह रखी जा रही है।

वहीं, हांगकांग विश्वविद्यालय के शोधकर्ता गैब्रिएल का मानना है कि चीन में अभी भी तमाम लोग कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं। इन लोगों में बाद में कोरोना का संक्रमण प्रभावी रूप से सामने आ सकता है। सरकार के मुताबिक कोरोना के कहर के दौरान चीन में करीब 81,589 लोग इससे संक्रमित हुए और 3,318 लोग मारे गए। स्था​नीय लोगों ने इस डाटा खारिज करते हुए कहा है करीब 42 हजार लोग मारे गए हैं।

गौरतलब है कि पिछले दिनों खबर आई थी कि कोरोना संक्रमण पर काबू पाते ही चीन की वेट मार्केट दोबारा से शुरू हो गई है। वहाँ चमगादड़, बतख और कुत्तों का मीट बिकना प्रारंभ हो गया है। बता दें, आमतौर पर वेट मार्केट का पर्याय एक बाजार से होता है, जहाँ माँस-मछली आदि बिकते हैं। मगर, चीन के संदर्भ में इस शब्द की परिभाषा अलग है, क्योंकि चीन में जंगली जानवरों की बिक्री धड़ल्ले से की जाती हैं।

रिपोर्ट्स बताती हैं कि इसी मार्केट के कारण हुबेई प्रांत में रहने वाली 55 वर्षीय महिला कोरोना की चपेट में आई थी। इसके बाद ये वायरस अन्य लोगों में पहुँचा। इसी मार्केट को महामारी फैलने की वजह माना गया था। मेल ऑन संडे की पत्रकार के अनुसार, ये मार्केट उसी तरह चालू हो गया है जैसे कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से पहले चल रहा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,576FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe