Tuesday, July 23, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयनाम बदला तो ब्लू टिक जाएगा, वार्निंग के बिना ही अकाउंट होंगे सस्पेंड: एलन...

नाम बदला तो ब्लू टिक जाएगा, वार्निंग के बिना ही अकाउंट होंगे सस्पेंड: एलन मस्क का सपना- ट्विटर मतलब विश्वसनीयता

एलन ने कहा, "पहले हम लोगों ने वॉर्निंग दी थी कि हम अकॉउंट सस्पेंड कर रहे हैं लेकिन अब हम व्यापक सत्यापन को शुरू कर रहे हैं। इसके अनुसार कोई चेतावनी नहीं होगी। ये स्पष्ट तौर पर ट्विटर पर साइन इन करने की शर्त है।"

ट्विटर का मालिक बदलने के बाद उसमें लगातार बदलाव किए जा रहे हैं। इसी क्रम में एलन मस्क ने एक बड़ा फैसला लिया है। एलन ने ऐलान किया है कि अब से अगर कोई भी शख्स किसी और के नाम से अकॉउंट चलाते पाया गया, वो भी बिन इस बात को साफ किए कि वो अकॉउंट पैरोडी है तो उसे हमेशा के लिए सस्पेंड कर दिया जाएगा। मस्क ने कहा है कि अब से ट्विटर अकॉउंट सस्पेंड करने से पहले कोई चेतावनी नहीं देगा।

उन्होंने फर्जी अकॉउंट वालों को चेतावनी देते हुए बताया, “पहले हम लोगों ने वॉर्निंग दी थी कि हम अकॉउंट सस्पेंड कर रहे हैं लेकिन अब हम व्यापक सत्यापन को शुरू कर रहे हैं। इसके अनुसार कोई चेतावनी नहीं होगी। ये स्पष्ट तौर पर ट्विटर पर साइन इन करने की शर्त है।” इसके अलावा मस्क ने यह भी बताया कि अगर कोई व्यक्ति अपना नाम बदलता है तो भी वो अपना वेरीफाइड चेकमार्क गवा सकता है।

मस्क ने ट्वीट किया, “बड़े स्तर पर सत्यापन पत्रकारिता का लोकतंत्रीकरण करेगा और लोगों की आवाज को सशक्त करेगा।” वह कहते हैं कि ट्विटर दुनिया के बारे में सबसे सटीक जानकारी देने का विश्वसनीय सूत्र बने, यही उनकी सबसे ज्यादा कोशिश है।

बता दें कि इससे पहले एलन मस्क ने ट्विटर यूजर्स को जानकारी दी थी कि वो जल्द ही ट्विटर को इस लायक बनाएँगे कि वहाँ लंबे-लंबे टेक्स्ट लिखे जा सकें ताकि नोटपैड के स्क्रीनशॉट आदि शेयर करने की जरूरत न पड़े।

उल्लेखनीय है कि पैरोडी अकॉउंट्स को लेकर जो एलन मस्क का सख्त फैसला आया वो एक ट्विटर अकॉउंट के संज्ञान में आने के बाद आया। उस ट्वीट पर साफ तौर पर एलन का नाम लिखा हुआ था। वहीं आईडी इयान वुलफॉर्ड के नाम से थी। उस पर कई हिंदी और भोजपुरी में ट्वीट थे। जिसके ट्वीट वायरल होने के बाद उस अकॉउंट को सस्पेंड कर दिया गया है। ट्विटर ने फैसला लिया है कि वो जल्द ही अपने प्लेटफॉर्म पर ब्लू टिक के बदले पैसे चार्ज करना शुरू कर देंगे। कई देशों के लिए यह नियम आ भी गया है और कई देशों में जल्द लागू हो जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -