Saturday, July 13, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीययूरोप में चिड़िया हमारे नियमों के अनुसार उड़ेगी': एलन मस्क का ट्वीट देख EU...

यूरोप में चिड़िया हमारे नियमों के अनुसार उड़ेगी’: एलन मस्क का ट्वीट देख EU के अधिकारी ने दी चेतावनी, ट्विटर के नए मालिक ने कहा था- पंछी आजाद है

27 अक्टूबर 2022 को 44 बिलियन डॉलर (करीब 3,62,46,12,20,000 रुपए) में ट्विटर की डील फाइनल करने वाले मस्क ने 'द बर्ड इज फ्रीड (the bird is freed) यानी आजाद हुई चिड़िया' ट्वीट के जरिए यह संदेश देने की कोशिश की है कि ट्विटर के पक्षपाती सेंशरशिप के दिन अब बीत गए। 

टेस्ला (Tesla) और स्पेस एक्स (SpaceX) के मालिक एलन मस्क (Elon Musk) ने आखिरकार ट्विटर (Twitter) को खरीद लिया। हालाँकि, ट्विटर खरीदने की खबर के वक्त से ही अधिग्रहण के बाद प्लेटफॉर्म की विश्वसनीयता को लेकर चिंता जाहिर की जाती रही है। इसी के तहत यूरोप के शीर्ष अधिकारी ने ट्विटर के नए बॉस को कड़ी चेतावनी दी है।

लगभग 44 अरब डॉलर के इस डील के पूरा होने से कुछ घंटे पहले यूरोपीय संघ के आंतरिक बाजार आयुक्त थियरी ब्रेटन ने ट्विटर पर मस्क को चेतावनी दी है। ब्रेटन ने कहा, “यूरोप में चिड़िया हमारे नियमों के अनुसार उड़ेगी।” दरअसल, एलन मस्क ने ट्वीट किया था, “चिड़िया आजाद हो गई”। इसके जवाब में ब्रेटर ने यह टिप्पणी की है। बता दें कि ट्विटर का लोगो एक पंछी है।

बता दें कि इस साल मई में ब्रेटन ने अमेरिका के टेक्सास की यात्रा की थी और वहाँ ट्विटर के लिए फ्री-स्पीच पर एलन मस्क से चर्चा की थी। उन्होंने उन्हें यह भी याद दिलाया कि यह दृष्टिकोण यूरोपीय संघ के अपने कंटेंट मॉडरेशन कानूनों के तहत होना चाहिए। रिपोर्ट के अनुसार, उस बैठक में एलन मस्क के साथ ब्रेटन की कंटेंट मैनेजमेंट या ट्विटर पर पोस्ट करने के दृष्टिकोण पर ‘कोई असहमति नहीं’ थी।

यहाँ बताना आवश्यक है कि यूरोपीय संघ का डिजिटल सेवा अधिनियम सरकार को बड़ी तकनीकी कंपनियों को अवैध एवं हानिकारक सामग्री के प्रसार को सीमित करने और दुष्प्रचार के खिलाफ कार्रवाई करने की शक्ति देता है। इसका उल्लंघन करने पर कंपनी के कुल सालाना बिक्री का 6 प्रतिशत जुर्माना के रूप में देना होगा। यही नहीं, सरकार पूरे क्षेत्र में कंपनी के परिचालन पर रोक भी लगा सकती है।

उधर मस्क ने भी विज्ञापनदाताओं को भेजे गए एक नोट में कहा कि वे पैसा कमाने या नफरत फैलाने के लिए ट्विटर नहीं खरीद रहे हैं। उन्होंने कहा था कि वे नहीं चाहते कि ट्विटर ‘सभी के लिए एक फ्री-फॉर-हेलस्केप बन जाए, जहाँ बिना किसी परिणाम के कुछ भी कहा जा सकता है’। मस्क का कहना है कि वे चाहते हैं कि लोगों को एक ऐसा मंच दें, जहाँ हिंसा का सहारा लिए बिना स्वस्थ तरीके से कई मतों पर बहस हो सके।

दरअसल, गुरुवार (27 अक्टूबर 2022) को 44 बिलियन डॉलर (करीब 3,62,46,12,20,000 रुपए) में ट्विटर की डील फाइनल करने वाले मस्क ने ‘द बर्ड इज फ्रीड (the bird is freed) यानी आजाद हुई चिड़िया’ ट्वीट के जरिए यह संदेश देने की कोशिश की है कि ट्विटर के पक्षपाती सेंशरशिप के दिन अब बीत गए। 

रायटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, मस्क ने जिन अधिकारियों की छुट्टी की है उनमें कंपनी के सीईओ पराग अग्रवाल (Parag Agrawal) के अलावा CFO नेड सेगल और लीगल अफेयर-पॉलिसी हेड विजया गाड्डे शामिल हैं। इन्हें कंपनी हेडक्वार्टर से भी बाहर निकलवा दिया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उत्तराखंड में तेज़ी से बढ़ रही मुस्लिमों और ईसाईयों की जनसंख्या: UCC पैनल की रिपोर्ट में खुलासा – पहाड़ों से हो रहा पलायन

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में आबादी घट रही है, तो मैदानी इलाकों में बेहद तेजी से आबादी बढ़ी है। इसमें सबसे बड़ा योगदान दूसरे राज्यों से आने वाले प्रवासियों ने किया है।

जम्मू कश्मीर के उप-राज्यपाल को अब दिल्ली के LG जितनी शक्तियाँ, ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए भी उनकी अनुमति ज़रूरी: मोदी सरकार के आदेश पर भड़के...

जब से जम्मू कश्मीर का पुनर्गठन हुआ है, तब से वहाँ चुनाव नहीं हो पाए हैं। मगर जब भी सरकार का गठन होगा तब सबसे अधिक शक्तियाँ राज्यपाल के पास होंगी। ये शक्तियाँ ऐसी ही हैं, जैसे दिल्ली के एलजी के पास होती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -