Monday, July 15, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकनाडा में अब गैंगस्‍टर सुखदूल सिंह मारा गया, NIA की लिस्‍ट में था शामिल:...

कनाडा में अब गैंगस्‍टर सुखदूल सिंह मारा गया, NIA की लिस्‍ट में था शामिल: एक दिन पहले ही एजेंसी ने जारी की थी 43 वांछितों की सूची

सुक्खा की हत्या की खबर ऐसे समय में आई है जब खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को लेकर कनाडा और भारत के संबंधों में तल्खी आ गई है। कनाडा ने इस हत्या का दोष भारत के मत्थे मढ़ने की कोशिश की थी।

कनाडा में अब गैंगस्टर सुखदूल सिंह मारा गया है। अज्ञात बंदूकधारियों ने पंजाब के इस क्रिमिनल की हत्या की है। वह एनआईए की वांटेड लिस्ट में शामिल था। उसकी हत्या की खबर एजेंसी द्वारा 43 वांछितों की सूची जारी करने के एक दिन बाद आई है।

फर्जी दस्तावेजों के सहारे सुखदूल सिंह उर्फ सुक्खा दुनिके 2017 में भारत से भाग गया था। वह पंजाब के मोगा जिले का रहने वाला था। देविंदर बांबीहा के गिरोह से उसके तार जुड़े थे। 20 सितंबर की रात उसे करीब 15 राउंड गोली मारी गई।

सुक्खा की हत्या की खबर ऐसे समय में आई है जब खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को लेकर कनाडा और भारत के संबंधों में तल्खी आ गई है। कनाडा ने इस हत्या का दोष भारत के मत्थे मढ़ने की कोशिश की थी।

सुक्खा दुनुके की हत्या कनाडा के विनिपेग शहर में हुई। हत्या उसी तरीके से की गई जैसे निज्जर को मारा गया था। खालिस्तानी गैंगस्टर अर्शदीप सिंह दल्ला के चहेते रहे सुक्खा के खिलाफ सात मामले दर्ज थे। एनआईए ने जो 43 वांछितों की लिस्ट जारी की थी उनमें से 29 पंजाब से ही हैं। इस लिस्ट में 33वें नंबर पर सुक्खा का नाम था।

इंडिया टुडे के अनुसार, वह वर्ष 2017 में जाली कागजों के सहारे कनाडा गया था। इसमें उसकी दो पुलिस अधिकारियों ने सहायता की थी। इन पुलिस वालों को बाद में गिरफ्तार कर लिया गया था।

कनाडा में हुई इस हत्या के बीच यह भी जानकारी आ रही है कि पंजाब में स्थित उसके घर पर पुलिस पहुंची है। दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार सुखदूल सिंह अपराधी बनने से पहले कलेक्टर ऑफिस में काम करता था। वह ‘A’ कैटेगरी का गैंगस्टर था और कई हत्याओं में शामिल था। वह फरीदकोट जेल में भी लंबे समय तक बंद रहा था।

गौरतलब है कि जिस बांबीहा गिरोह से सुक्खा संबंध रखता था, उसकी लॉरेंस बिश्नोई गैंग से दुश्मनी चलती है। इन दो गैंगों की आपसी लड़ाई में ही पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या हुई थी। सिद्धू मूसेवाला को बांबीहा गैंग का समर्थक माना जाता था और उसने ‘बांबीहा बोले’ नाम से एक गाना भी गाया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -