Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'इजरायली महिलाओं की लाशों से करो बलात्कार, जिस्म ही तो है': वीडियो में सामने...

‘इजरायली महिलाओं की लाशों से करो बलात्कार, जिस्म ही तो है’: वीडियो में सामने आई हमास आतंकियों की क्रूरता, हर एक बंधक पर ₹8 लाख का वजीफा

हमास के एक आतंकवादी को वीडियो में कथित तौर पर यह कहते हुए सुना जा सकता है,"जो कोई बंधक का अपहरण करेगा और उन्हें गाजा लाएगा, उसे 10,000 अमेरिकी डॉलर का वजीफा और एक अपार्टमेंट मिलेगा।"

गाजा पट्टी से इजरायल पर हमले करने वाला आतंकी संगठन कितना खतरनाक और वहशी है, इसका खुलासा खुद उसके ही आतंकियों ने कर डाला है। पकड़े गए इन आतंकियों ने कबूल किया कि उन्हें इजरायली बच्चों, औरतों और मर्दों पर ऐसे जुल्म ढाने के निर्देश थे कि इंसानियत की रूह काँप उठे।

इज़राइल सिक्योरिटीज अथॉरिटी‘ (आईएसए) ने सोमवार (23 अक्टूबर, 2023 ) को एक वीडियो क्लिप जारी किया। इसमें कथित तौर पर हमास आतंकवादियों को 7 अक्टूबर को दक्षिणी इज़राइल में घातक आतंकवादी हमलों में अपनी सक्रिय भागीदारी कबूल करते हुए दिखाया गया है।

इस वीडियो को लेकर ISA ने कहा है कि उसके कम्युनिकेशन सेल को की दी गई एक वीडियो फ़ाइल 7 अक्टूबर के हमलों में शामिल हमास आतंकवादियों के बयानों के साथ पूछताछ के दौरान की है। वीडियो में हमास के आतंकवादी यह कहते हुए सुने जा रहे हैं कि उन्हें नागरिक बंधकों को इजरायल से गाजा ले जाने के लिए वजीफा का वादा किया गया था।

हमास के एक आतंकवादी को वीडियो में कथित तौर पर यह कहते हुए सुना जा सकता है,”जो कोई बंधक का अपहरण करेगा और उन्हें गाजा लाएगा, उसे 10,000 अमेरिकी डॉलर का वजीफा और एक अपार्टमेंट मिलेगा।”

उन्हें यह कहते हुए भी सुना जाता है कि उनके आकाओं ने उन्हें खास तौर से बुजुर्ग महिलाओं और बच्चों का अपहरण करने का निर्देश दिया था। आतंकवादियों में से एक ने कहा, “हमें घरों में लूटपाट करने और जितना संभव हो सके उतने लोगों को बंधक बनाने के लिए अपहरण करने के लिए भी कहा गया था।”

आतंकवादी को वीडियो में आगे कहते हुए सुना जा सकता है, “उसका (पीड़ित का) कुत्ता बाहर आया और मैंने उसे गोली मार दी।” वीडियो में हमास आतंकी आगे कहता है, “उसका शरीर फर्श पर पड़ा था, मैंने उसे भी गोली मार दी।”

उसने बताया कि इस पर कमांडर ने मुझ पर चिल्लाते हुए कहा (कि) मैं एक लाश पर गोलियाँ बर्बाद कर रहा हूँ।” हमास के एक अन्य आतंकवादी ने कहा कि अपने आका की आज्ञा का पालन करने के बाद, उसने दो घरों को जला दिया। उसने कहा, “हम जो करने आए थे उसे पूरा किया और फिर दो घरों को जला दिया।”

हमास के एक आतंकी ने कहा, “हम किबुत्ज में जीप से आए। हमने घरों के कमरों को खोला और बारी-बारी से एक के बाद वहाँ हमले की कार्रवाई को तब-तक अंजाम दिया जब तक की सब खत्म नहीं कर दिया। हमने ग्रेनेड फेंके, गोलियाँ चलाईं। हमारा मकसद एक ही था – सबको खत्म कर देना। हमें साफ निर्देश मिले थी कि घर में कोई भी हो बच्चा, बूढ़ा, जवान, औरत सबको जान से मारना है।”

आतंकी ने आगे बताया, “बटालिन कमांडर ने हमसे कहा था कि उनके सिर कुचलो, काट दो। तुम उनके साथ जो चाहो करो, उनके पैर काट दो। हमास ISIS बन गया है। उनका दिमाग नहीं है। वो इंसान नहीं जानवर बन गए है, क्योंकि कोई इंसान ये नहीं कर सकता है। हमें मारी गई युवा इजरायली महिलाओं की लाशों के साथ सेक्स करने के लिए कहा गया, क्योंकि वो केवल जिस्म भर हैं, इंसान नहीं।”

इस दौरान आईएसए ने अपने बयान में कहा कि 7 अक्टूबर की हत्याओं के मामले में चल रही जाँच के दौरान कई बातें (अपराधों की प्रकृति और तौर-तरीके) बार-बार सामने आई हैं। कथित तौर पर वीडियो क्लिप में आतंकवादियों ने बुजुर्गों, महिलाओं और बच्चों सहित नागरिकों को मारने और अपहरण करने के लिए हमास के खुले और साफ निर्देशों को स्वीकार कर इस हमले को अंजाम दिया।

हमास आतंकियों ने इस दौरान दक्षिणी इजरायल में 7 अक्टूबर के नरसंहार के कई खौफनाक और दर्द भरे वाकयों के बारे में भी बताया है। इस बीच, आईएसए ने कहा कि हमास के मिलिट्री विंग के सीनियर कमांडर ने अपने बंदूकधारियों को इज़रायल में लड़ने, मरने या गिरफ्तार होने के लिए भेजते वक्त सुरक्षित रहने के लिए घरों में छुपने के लिए आदेश दिए थे।

इज़रायल सुरक्षा बलों ने नरसंहार में शामिल सभी आतंकवादियों को खत्म करने की अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि की। बयान में कहा गया है, “इज़रायल के सुरक्षा बल 7/10 को नरसंहार में शामिल आतंकवादियों के साथ सभी हिसाब-किताब बराबर करेंगे।”

गौरतलब है कि 7 अक्टूबर के हमास के इस भयंकर और संगठित हमले में अनुमान के मुताबिक 2500 हमास आतंकवादी जमीन, आसमान और समुद्र के रास्ते इज़रायल में घुसे थे। यहाँ उन्होंने दक्षिणी इज़रायल में नागरिकों पर आतंक की दिल दहला देने वाली वारदातों को अंजाम दिया।

रिपोर्टों के अनुसार, हमलों में 1400 लोग मारे गए, जिनमें से अधिकांश नागरिक थे। ‘द टाइम्स ऑफ़ इज़राइल’ के मुताबिक, इनमें से कुछ आतंकवादियों ने कम से कम 222 नागरिकों को बंधक बना लिया और उन्हें गाजा ले आए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पहले उइगर औरतों के साथ एक ही बिस्तर पर सोए, अब मुस्लिमों की AI कैमरों से निगरानी: चीन के दमन की जर्मन मीडिया ने...

चीन में अब भी उइगर मुस्लिमों को लेकर अविश्वास है। तमाम डिटेंशन सेंटरों का खुलासा होने के बाद पता चला है कि अब उइगरों पर AI के जरिए नजर रखी जा रही है।

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -