Wednesday, June 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयलेबनान की राजधानी बेरूत में जोरदार धमाका: 100 से ज्यादा लोगों की मौत, 4000...

लेबनान की राजधानी बेरूत में जोरदार धमाका: 100 से ज्यादा लोगों की मौत, 4000 लोग घायल, 2 लाख से ज्यादा लोग बेघर

लेबनान के राष्ट्रपति ने बेरूत में दो हफ्ते के लिए इमरजेंसी लगा दिया है। यह जोरदार धमाका किसी भूकंप से कम नहीं था। धमाके में कम से कम 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। वहीं, कुल करीब 4000 लोगों के घायल होने की भी खबर है। हालाँकि, धमाके की भयावहता देखकर लगता है कि मृतकों और घायलों की संख्या बढ़ सकती है।

लेबनान की राजधानी बेरूत में कल (4 अगस्त,2020) अचानक एक जोरदार धमाका हुआ। लोग कुछ समझते इससे पहले 15 मिनट के अंदर इस धमाके ने जबरदस्त भयानक रूप ले लिया। यह जोरदार धमाका किसी भूकंप से कम नहीं था। धमाके में कम से कम 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। वहीं, कुल करीब 4000 लोगों के घायल होने की भी खबर है। हालाँकि, धमाके की भयावहता देखकर लगता है कि मृतकों और घायलों की संख्या बढ़ सकती है।

लेबनान के राष्ट्रपति ने बेरूत में दो हफ्ते के लिए इमरजेंसी लगा दिया है। राष्ट्रपति ने बुधवार को कैबिनेट की आपात बैठक भी बुलाई है। लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दियाब ने बताया है कि यह विस्फोट बंदरगाह पर 2700 टन अमोनियम नाइट्रेट से हुआ है।

बेरूत के शहर के गवर्नर मारवान अबाउद ने कहा कि 200,000 से 250,000 लोगों ने अपने घर खो दिए हैं और यहाँ की ऑथोरिटी उन्हें भोजन, पानी और आश्रय प्रदान करने का काम कर रही हैं। उन्होंने आगे जानकारी दी कि, इस धमाके में बेरूत फायर ब्रिगेड के 10 सदस्यों की भी मौत हुई है। इसके अलावा 3 से 5 बिलियन डॉलर से ज्यादा का नुकसान हुआ है।

बता दें, धमाका इतना तेज था कि आस-पास सब तरफ आग लग गई, कारें पलट गईं और लोगों के घरों में खिड़की-दरवाजों के शीशे टूट गए। लेबनान की न्यूज एजेंसी एनएनए और सुरक्षा सूत्रों ने कहा कि यह विस्फोट शहर के बंदरगाह क्षेत्र में हुआ। इस मामले की जानकारी रखने वाले एक मीडिया सूत्र ने कहा कि इस क्षेत्र में केमिकल रखे गए थे। सोशल मीडिया पर लोगों द्वारा साझा वीडियो फुटेज में बंदरगाह से धुआं निकलता दिख रहा, जिसके बाद एक बड़ा धमाका हुआ।

वहीं लेबनान के कस्टम विभाग ने घटना के लिए सीधे तौर पर पोर्ट चीफ को जिम्मेदार ठहराया। कस्टम हेड बादरी दहेर ने कहा- मेरा डिपार्टमेंट अमोनियम नाइट्रेट रखने के लिए जिम्मेदार नहीं हैं। धमाका इससे ही हुआ। इस घटना के लिए पोर्ट चीफ हसन कोरेटेम जिम्मेदार हैं। इस बारे में पोर्ट चीफ ने अब तक प्रतिक्रिया नहीं दी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेरूत में हुए धमाके पर दुख जताया। बुधवार सुबह एक ट्वीट में मोदी ने कहा- बेरूत में हुए धमाके की खबर सुनकर दुखी हूँ। कई लोगों ने जान गँवाई और प्रॉपर्टी का भी नुकसान हुआ। ब्लास्ट में मारे गए और घायल हुए लोगों के प्रति हमारी सम्वेदनाएँ हैं।

बेरूत में धमाके के बाद लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की गई है। वहीं, भारतीय एंबेसी ने बेरूत में फँसे लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। बेरूत में हुए धमाकों को लेकर भारतीय दूतावास की तरफ से कहा गया है कि सभी संयम बनाए रखें। साथ ही अगर किसी भी भारतीय को मदद की जरूरत हो तो वो दूतावास के हेल्पलाइन नंबर 01741270, 01735922, 01738478 पर संपर्क कर सकते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेट्रोल-डीजल के बाद पानी-बस किराए की बारी, कर्नाटक में जनता पर बोझ खटाखट: कॉन्ग्रेस की ‘रेवड़ी’ से खजाना खाली, अब कमाई के लिए विदेशी...

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार की रेवड़ी योजनाएँ राज्य को महँगी पड़ रही हैं। पेट्रोल-डीजल के बाद अब पानी के दाम और बसों के किराए बढ़ाने की योजना है।

पूरी हुई 832 साल की प्रतीक्षा, राष्ट्र को PM मोदी ने समर्पित की नालंदा की विरासत: कहा- आग की लपटें ज्ञान को नहीं मिटा...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार के राजगीर में नालंदा विश्वविद्यालय के नए परिसर का उद्धघाटन किया। नया परिसर नालंदा विश्वविद्यालय के प्राचीन खंडहरों के पास है

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -