Monday, November 29, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबकरीद पर पाकिस्तान में हिंदू कारोबारी की हत्या, राजा किशन पर घर लौटते वक्त...

बकरीद पर पाकिस्तान में हिंदू कारोबारी की हत्या, राजा किशन पर घर लौटते वक्त किया गया हमला

पाकिस्तान में रह रहे हिन्दुओं पर आए दिन किसी ना किसी प्रकार का अत्याचार का मामला सामने आ रहा है। अल्पसंख्यक हिन्दू व्यापारी राजा किशन चंद की मौत की जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है। लोगों का कहना है कि इसी कारण भारत में नागरिकता संशोधन क़ानून की जरूरत थी।

पाकिस्तान के खैरपुर में बकरीद के मौके पर हिंदू कारोबारी राजा किशन चंद की अज्ञात हमलावरों ने हत्या कर दी। राजा किशन चंद सुक्कुर पर यह हमला तब किया, जब वे अपने घर लौट रहे थे।

कुछ दिन पहले ही एक अन्य हिंदू व्यापारी मैनक मल की कार पर कुछ बंदूकधारियों ने गोलियाँ चलाई थी, जिसमें वे गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

पाकिस्तान में रह रहे हिन्दुओं पर आए दिन किसी ना किसी प्रकार का अत्याचार का मामला सामने आ रहा है। अल्पसंख्यक हिन्दू व्यापारी राजा किशन चंद की मौत की जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है। लोगों का कहना है कि इसी कारण भारत में नागरिकता संशोधन क़ानून की जरूरत थी।

राजा किशन की हत्या को लेकर अभी तक भी मुख्यधारा की मीडिया में कोई चर्चा नहीं है। हालाँकि, सोशल मीडिया पर लोग उनके लिए न्याय माँग रहे हैं।

गौरतलब है कि पाकिस्तान की केंद्रीय कैबिनेट द्वारा इसी मई 05, 2020 को वहाँ के प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग की स्थापना की गई थी। दावा किया जा रहा था कि पाकिस्तान में इस अल्पसंख्यक आयोग के गठन का प्रमुख उद्देश्य पाकिस्तान में मौजूद अल्पसंख्यकों को धार्मिक स्वतन्त्रता उपलब्ध कराना था।

लेकिन इस आयोग के गठन के बाद भी पाकिस्तान में हिन्दुओं पर होने वाले अपराधों में किसी प्रकार की कमी नहीं आई है। लगभर हर दिन ही पाकिस्तान में हिन्दू नाबालिग लड़कियों के अपहरण, बलात्कार, जबरन धर्मांतरण और हत्या के मामले सामने आते रहे हैं।

इसके अलावा, पाकिस्तान के सिंध में हिन्दू, पंजाब में ईसाई धर्म और खैबर पख़्तूनख़्वाह का कैलाश समुदाय, जबरन धर्मांतरण की शिकायत पिछले कई वर्षों से करते आया है। यहाँ तक कि मानवाधिकार आयोग समेत ही अन्य संगठन भी इन मामलों की पुष्टि कर चुके हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हो गया निधन, कोरोना से रिकवर होने के बाद से ही गिर रहा था स्वास्थ्य’: जानिए क्या है सच्चाई

सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट्स में दावा किया जा रहा है कि पत्रकार विनोद दुआ की मौत हो गई है। लेकिन, असल में सच्चाई कुछ और ही।

यीशु के नाम पर शैतानों को भगाने का खेल: नडियाद के ईसाई समूह ने गोधरा में कराया धर्मांतरण, वायरल वीडियो से खुली पोल

जब ईसाइयों का वही समूह नडियाद से दोबारा आया तो पड़ोसियों को घर में हो रही संदिग्ध गतिविधियों पर शक हुआ और उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,465FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe