Sunday, May 29, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'मिनी ट्रम्प हैं इमरान खान, ट्विटर हमेशा के लिए डिलीट करे उनका हैंडल': बोलीं...

‘मिनी ट्रम्प हैं इमरान खान, ट्विटर हमेशा के लिए डिलीट करे उनका हैंडल’: बोलीं पूर्व बीवी रेहम खान, सिद्धू से भी कर चुकी हैं तुलना

बताया जा रहा है कि इमरान खान ने खुद को चारों ओर से घिरता देख देश के युवाओं से उनको हटाने के लिए हो रही कथित ‘विदेशी साजिश’ के खिलाफ सड़कों पर उतरने की अपील की थी।

पाकिस्तान में सियासी उथल-पुथल के बीच वहाँ के वजीरे-ए-आजम इमरान खान (Imran Khan ) की पूर्व बीवी रेहम खान (Reham Khan) सोशल मीडिया के जरिए उन पर लगातार तंज कस रही हैं। रेहम खान ने अपने नए ट्वीट में इमरान खान को मिनी ट्रम्प करार दिया और ट्विटर से उनके अकाउंट को हमेशा के लिए डिलीट करने की अपील की है। रेहम का यह ट्वीट उस वक्त आया है, जब पाकिस्तानी संसद के डिप्टी स्पीकर ने रविवार (3 अप्रैल, 2022) को इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को खारिज करते हुए कहा कि ये पाकिस्तान के संविधान के अनुच्छेद 5 का उल्लंघन है।

‘डोनाल्ड ट्रंप ने भी हिंसा का सहारा लिया’

बताया जा रहा है कि इमरान खान ने खुद को चारों ओर से घिरता देख देश के युवाओं से उनको हटाने के लिए हो रही कथित ‘विदेशी साजिश’ के खिलाफ सड़कों पर उतरने की अपील की थी। इस बात पर रेहम ने उन्हें ‘मिनी ट्रंप’ बता दिया, क्योंकि आरोप है कि अमेरिका में जनवरी 2021 में राष्ट्रपति का चुनाव हारने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने भी हिंसा का सहारा लेकर सत्ता बचाने की कोशिश की थी, जिसके चलते उनके समर्थकों ने अमेरिकी पार्लियामेंट पर धावा बोल दिया था।

‘इमरान खान कॉमेडी शो के लायक’

इससे पहले 1 अप्रैल, 2022 (शुक्रवार) को किए गए एक अन्य ट्वीट में रेहम ने इमरान खान को अब ‘इतिहास’ बता कर नए पाकिस्तान को बनाने की बात कही थी। उन्होंने एबीपी चैनल से बात करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री रहने के दौरान इमरान ने एक भी काम अच्छा नहीं किया है। रेहम खान ने कपिल शर्मा शो का नाम लेते हुए इमरान खान को उनके कॉमेडी शो के लायक बताया था।

अपने बयान में रेहम ने इमरान का मज़ाक उड़ाते हुए आगे कहा था, “जिस इमरान को मैं जानती हूँ उनके खिलाफ संसद में वोटिंग होना उनके घमंड को बर्दाश्त नहीं है। भारत अगर उन्हें कपिल शर्मा के शो में पाजी (सिद्धू) की सीट दे दे तो शायद उनके रोजगार का काम हो सकता है। मैं समझती हूँ कि इमरान और उनको समर्थन देने वाली नौकरशाही की टीम पर अब नियंत्रण जरूरी है। अब हमें इनसे जवाब लेने का मौक़ा मिलना चाहिए। अब इन्हें जवाबदेह होना पड़ेगा।”

बता दें कि 342 सदस्यों वाली संसद में इमरान खान को सत्ता से बाहर करने के लिए 172 वोटों की जरूरत थी। हालाँकि, विपक्ष को 177 वोट हासिल थे। फिर भी अनुच्छेद 5 का उल्लंघन बताते हुए उसे खारिज कर दिया। संसद के डिप्टी स्पीकर कासिम खान सूरी ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि यह प्रस्ताव 8 मार्च को पेश किया गया था, इसे कानून और संविधान के मुताबिक होना चाहिए। किसी भी विदेशी शक्ति को साजिश के जरिए चुनी हुई सरकार को गिराने की इजाजत नहीं दी जाएगी। पाकिस्तान की संसद में विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव के खारिज होते ही इमरान खान ने राष्ट्रपति से संसद को भंग करने की माँग की। उन्होंने इसके लिए पत्र लिखा और लोकतंत्र की दुहाई दी। अब पाकिस्तान की संसद को भंग कर दिया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

‘कब्ज़ा कर के बनाई गई मस्जिद को गिरा दो’: मंदिरों को ध्वस्त कर बनाए गए मस्जिदों पर बोले थे गाँधी – मुस्लिम खुद सौंप...

गाँधी जी ने लिखा था, "अगर ‘अ’ (हिन्दू) का कब्जा अपनी जमीन पर है और कोई शख्स उसपर कोई इमारत बनाता है, चाहे वह मस्जिद ही हो, तो ‘अ’ को यह अख्तियार है कि वह उसे गिरा दे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe