Friday, July 30, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकोई सिख नहीं रहेगा यहाँ, नाम होगा गुलाम-ए-मुस्तफा: ननकाना साहिब में पत्थरबाजी, मारपीट पर...

कोई सिख नहीं रहेगा यहाँ, नाम होगा गुलाम-ए-मुस्तफा: ननकाना साहिब में पत्थरबाजी, मारपीट पर भारत ने जताई कड़ी आपत्ति

"पवित्र गुरुद्वारा में अभद्रता करने वाले और अल्पसंख्यक सिख समुदाय के सदस्यों पर हमला करने वाले उपद्रवियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। इसके अलावा, पाकिस्तान की सरकार पवित्र ननकाना साहिब गुरुद्वारा की पवित्रता की रक्षा और संरक्षण के लिए सभी उपाय करने के आदेश दे।"

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर लगातार हो रहे ज़ुल्म थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार (3 जनवरी) को सिखों के पवित्र धर्मस्थल ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर मुस्लिम भीड़ ने पत्थरबाज़ी की, सिखों के साथ मारपीट की और उनके घरों में भी पत्थरबाज़ी की। मुस्लिम भीड़ का उत्पात इस क़दर बढ़ गया कि वहाँ भारी पुलिस बल की तैनाती करनी पड़ी, लेकिन फिर भी हालात तनावपूर्ण ही बने रहे।

पिछले साल ज्ञानी भगवान सिंह की बेटी जगजीत कौर का अपहरण कर उसका धर्मातरण करवाने वाले मोहम्मद हसन के रिश्तेदार राणा मंसूर ने मुस्लिम भीड़ को उकसाया और ननकाना साहिब के गेट पर पत्थरबाज़ी की। इस घटना को अंजाम तब दिया गया, जब मुस्लिम समुदाय के लोग जुमे की नमाज अता कर अपने घर लौट रहे थे। ननकाना साहिब में रहने वाले मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ननकाना साहिब के मुख्य बाजार में धरना भी दिया। धरने का नेतृत्व राणा मंसूर ने किया।

पाकिस्तान में सिखों के साथ हुई हिंसा पर भारत ने कड़ा रुख़ अख़्तियार किया है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “पवित्र गुरुद्वारा में अभद्रता करने वाले और अल्पसंख्यक सिख समुदाय के सदस्यों पर हमला करने वाले उपद्रवियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। इसके अलावा, पाकिस्तान सरकार पवित्र ननकाना साहिब गुरुद्वारा की पवित्रता की रक्षा और संरक्षण के लिए सभी उपाय करने के आदेश दे।”

ट्विटर पर बीबीसी के पत्रकार रविंद्र सिंह रॉबिन ने इस घटना से जुड़े कई वीडियो पोस्ट किए। उनके द्वारा पोस्ट किए गए एक वीडियो में दंगाई यह कहते हुए नज़र आ रहे थे कि वे ननकाना साहिब में एक भी सिख को नहीं रहने देंगे और गुरुद्वारे का नाम बदलकर गुलाम-ए-मुस्तफा कर देंगे।

पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमले को लेकर के पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट करके पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने और साथ ही गुरुद्वारे में फँसे हुए श्रद्धालुओं को सुरक्षित बाहर निकालने की अपील की।

पाकिस्तान में गुरुद्वारा में हमले के बाद बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कॉन्ग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी को आड़े हाथ लिया। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि पाकिस्तान में हमारे सिख भाइयों को धमकी दी जा रही है।

वहीं, दिल्ली के राजौरी गार्डन से विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने ट्विटर पर हमले का वीडियो शेयर करते हुए पाकिस्तान के पीएम इमरान खान से तत्काल कार्रवाई की माँग की और लिखा कि ऐसे ही लोगों के कारण पाकिस्तान में सिखों हिन्दुओं की बेटियों का ज़बरन धर्म परिवर्तन हो रहा है! आपने अगर ननकाना साहिब की बेअदबी करने वाले लोगों पर आज एक्शन नहीं लिया तो दुनिया आपको कभी माफ़ नहीं करेगी।

अपने एक अन्य ट्वीट में सिरसा ने कहा कि गुरुद्वारे पर हमले के बाद पूरे पाकिस्तान में सिख समुदाय के बीच दहशत का माहौल है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “पाकिस्तान में मजहबी नफरत का आलम देखिए- ये उग्र भीड़ सिखों को पाकिस्तान से बाहर निकालने के नारे लगा रही है और चिल्ला चिल्लाकर कह रही है कि ननकाना साहब का नाम बदलकर गुलाम-ए-मुस्तफा रख देंगे।”

इनके अलावा, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने अल्पसंख्यकों पर हो रहे ज़ुल्म और ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हुए हमले को पाकिस्तान का असली चेहरा बताते हुए कॉन्ग्रेस पर तंज कसा।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के अध्यक्ष गोबिंद सिंह लोंगोवाल ने कहा कि वह सिखों को दबाने की कोशिश बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने सिखों के ख़िलाफ़ की गई नफ़रत भरी बयानबाजी, पत्थरबाज़ी और नारेबाज़ी की कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार दोषियों के ख़िलाफ़ सख़्त से सख़्त क़ानूनी कार्रवाई करे।

ननकाना साहेब गुरुद्वारे पर मुस्लिमों का हमला, कहा- कोई सिख नहीं रहेगा यहाँ, नाम होगा गुलाम-ए-मुस्तफा

अगवा सिख लड़की पहुँची घर, हाफ़िज़ सईद के आतंकी संगठन के मो. हसन से करवाया गया था निकाह

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

विजय माल्या के किंगफिशर एयरलाइंस ने IDBI को डूबोए थे जितने पैसे, पाई-पाई ब्याज के साथ वसूल: मुनाफे में 318% का उछाल

कभी जिस IDBI को भगोड़े कारोबारी विजय माल्या ने डूबो दिया उस बैंक ने इस तिमाही में भारी मुनाफा कमाया है। वजह किंगफिशर एयरलाइंस से सारी वसूली बैंक ने कर ली है।

‘मनमोहन सिंह ने की थी मनमर्जी, मुसलमान स्पेशल क्लास नहीं’: सुप्रीम कोर्ट में सच्चर कमेटी की सिफारिशों को चुनौती

सुप्रीम कोर्ट में सच्चर कमेटी की सिफारिशों को लागू करने को चुनौती दी गई है। याचिका 'सनातन वैदिक धर्म' नामक संगठन के छह अनुयायियों ने दायर की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,994FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe