Sunday, July 21, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका में ढोल बजाकर लगे 'वंदे मातरम' के नारे, तिरंगा ऊँचा उठा दिखा: खालिस्तानी...

अमेरिका में ढोल बजाकर लगे ‘वंदे मातरम’ के नारे, तिरंगा ऊँचा उठा दिखा: खालिस्तानी हमले के बाद US में भारतीय एकजुट, देखें Video

वाणिज्य दूतावास में खालिस्तानियों के हमले के बाद भारत ने दिल्ली में अमेरिकी राजदूत को तलब कर कड़ा विरोध दर्ज कराया था। विदेश मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका की सरकार को ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए कठोर उपाय करने चाहिए। 

पंजाब में ‘वारिस पंजाब दे’ का मुखिया के खिलाफ सुरक्षा एजेंसियों की कार्रवाई के बाद ब्रिटेन और अमेरिका में खालिस्तानियों ने हंगामा किया। इसके बाद वहाँ रहने वाले भारतीयों ने तिरंगा यात्रा निकालकर देश के प्रति एकजुटता प्रकट की।

अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लोगों ने शुक्रवार (24 मार्च 2023) को भारत के वाणिज्य दूतावास के सामने शांति रैली निकाली। इस हफ्ते के शुरू में वाणिज्य दूतावास के बाहर खालिस्तानियों ने तोड़फोड़ की थी और खालिस्तान समर्थक नारे लगाए थे।

खालिस्तान समर्थकों ने पुलिस की ओर से लगाए गए अस्थायी सुरक्षा अवरोधकों को तोड़ दिया था। इतना ही नहीं वाणिज्य दूतावास परिसर में खालिस्तानी झंडे लगा दिए थे। हालाँकि, दूतावास के कर्मियों ने इन झंडों को तुरंत ही हटा दिया था। इस घटना के विरोध में बड़ी संख्या में भारतीय-अमेरिकी लोगों ने सैन फ्रांसिस्को और उसके आसपास तिरंगा झंडा फहराया।

जिस समय तिरंगा यात्रा निकाला गया, उस समय वहाँ कुछ अलगाववादी खालिस्तानी भी मौजूद थे। वहाँ किसी तरह की अप्रिय घटना ना हो, इसके लिए बड़ी संख्या में पुलिस मौजूद थी। इस। दौरान कुछ अलगाववादी सिखों ने खालिस्तान के समर्थन में नारे लगाए। वहीं, बड़ी संख्या में पहुँचे लोगों ने ‘वंदे मातरम’ के नारे लगाए और अमेरिका के साथ-साथ तिरंगा लहराया। 

बता दें कि वाणिज्य दूतावास में खालिस्तानियों के हमले के बाद भारत ने दिल्ली में अमेरिकी राजदूत को तलब कर कड़ा विरोध दर्ज कराया था। विदेश मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका की सरकार को ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए कठोर उपाय करने चाहिए। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शुक्र है मीलॉर्ड ने भी माना कि वो इंसान हैं! चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखने को मद्रास हाई कोर्ट ने नहीं माना था अपराध, अब बदला...

चाइल्ड पोर्नोग्राफी को अपराध नहीं बताने वाले फैसले को मद्रास हाई कोर्ट के जज एम. नागप्रसन्ना ने वापस लिया और कहा कि जज भी मानव होते हैं।

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -