Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजPM मोदी ने UAE के क्राउन प्रिंस संग की बैठक, 5 सालों में ₹7458...

PM मोदी ने UAE के क्राउन प्रिंस संग की बैठक, 5 सालों में ₹7458 अरब के व्यापार का लक्ष्य, कहा- आतंकवाद के विरुद्ध कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहेंगे

पिछले कुछ वर्षों में भारत और यूएई के आपसी संबंध बेहद मजबूत हुए हैं और सभी क्षेत्रों में सहयोग बढ़ा है। इतना ही नहीं, दोनों देशों ने सामरिक गठजोड़ भी किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने साल 2015, 2018 और 2019 में UAE की और क्राउन प्रिंस ने 2016 और 2017 में भारत की यात्रा की थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के शाहजादा और वहाँ के सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान (Sheikh Mohamed bin Zayed al Nahyan) ने शुक्रवार (18 फरवरी 2022) को कई विषयों को लेकर आपस में की। दोनों देशों के बीच हुए भारत-यूएई वर्चुअल शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने यूईए में रहने वाले भारतीयों का कोविड के दौरान ख्याल रखने के लिए उनका धन्यवाद भी दिया। इस दौरान पीएम मोदी ने हाल ही में यूएई में हुए आतंकी हमलों की निंदा की। उन्होंने कहा कि भारत और यूएई आतंकवाद के विरुद्ध कंधे-से-कंधा मिलाकर खड़ा रहेंगे। 

पीएम मोदी ने कहा, “हमारे संबंधों को मजबूत करने में आपकी व्यक्तिगत भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण रही है। कोविड महामारी के दौरान भी आपने जिस तरह यूएई के भारतीय समुदाय का ध्यान रखा है, उस के लिए मैं आपका सदैव आभारी रहूँगा।” प्रधानमंत्री ने यह विश्वास जताया कि अगले पाँच वर्षों में दोनों देशों के बीच व्यापार 60 बिलियन डॉलर से बढ़कर 100 बिलियन डॉलर (लगभग 7,458 अरब रुपए) हो जाएगा।

इसके बाद केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में विभिन्न सेक्टरों में UAE द्वारा निवेश में रुचि दिखाने पर भी पीएम ने उनका स्वागत किया। सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी ने कहा, “जम्मू और कश्मीर के उप-राज्यपाल की संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा के बाद वहाँ की कई कंपनियों ने J&K में निवेश करने में रुचि दिखाई है। हम जम्मू-कश्मीर में लॉजिस्टिक्स, हेल्थकेयर, हॉस्पिटैलिटी सहित सभी क्षेत्रों में यूएई के निवेश का स्वागत करते हैं।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत और संयुक्त अरब अमीरात का रिश्ता बेहद महत्वपूर्ण है। उन्होंने UAE की स्थापना की 50वीं वर्षगाँठ की शुभकामनाएँ दीं। पीएम मोदी ने कहा, “दोनों देशों के लिए यह साल बेहद अहम है। आप यूएई की स्थापना का 50वाँ वर्ष मनाएँगे और हम अपनी आजादी की 75वीं वर्षगाँठ मनाएँगे।”

इसके पहले विदेश मंत्रालय ने कहा था कि बैठक में दोनों नेता द्विपक्षीय सहयोग पर चर्चा के साथ-साथ आपसी हितों से संबंधित क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों-विमर्श करेंगे। दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों में एक महत्वपूर्ण पहल समग्र आर्थिक गठजोड़ समझौता (CEPA) है। इसकी बातचीत सितंबर 2021 में शुरू हुई थी। मंत्रालय ने यह भी बताया कि यह समझौता भारत-यूएई के आर्थिक एवं वाणिज्यिक संबंधों को और ऊँचाई पर ले जाएगा।

बता दें कि पिछले कुछ वर्षों में भारत और यूएई के आपसी संबंध बेहद मजबूत हुए हैं और सभी क्षेत्रों में सहयोग बढ़ा है। इतना ही नहीं, दोनों देशों ने सामरिक गठजोड़ भी किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने साल 2015, 2018 और 2019 में UAE की यात्रा की थी, शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान वर्ष 2016 और 2017 में भारत आए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -