Friday, April 19, 2024
Homeरिपोर्टइस्लाम Good है, Bad नहीं.. IslamaBAD को किया जाए IslamaGOOD: इस्लामाबाद का नाम बदलने...

इस्लाम Good है, Bad नहीं.. IslamaBAD को किया जाए IslamaGOOD: इस्लामाबाद का नाम बदलने के लिए ऑनलाइन याचिका

“इस्लामाबाद को इस्लामागुड में तब्दील किया जाना चाहिए। इस्लाम असल में गुड (Good) है, पाकिस्तान को इस्लाम से प्रेम है। तब क्यों IslamaBAD? (इस्लामाबैड) बांग्लादेश से बहुत सारा प्यार।”

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में एक ऑनलाइन याचिका दायर की गई है। इस याचिका में माँग उठाई गई है कि ‘Islamabad’ (इस्लामाबाद) का नाम बदल कर ‘Islamagood’ (इस्लामागुड) कर दिया जाए। 

इस याचिका को बांग्लादेश के रहने वाले ऐहम अबरार ने Change.org पर साझा किया था। याचिका में कहा गया था, “इस्लामाबाद को इस्लामागुड में तब्दील किया जाना चाहिए। इस्लाम असल में गुड (Good) है, पाकिस्तान को इस्लाम से प्रेम है। तब क्यों IslamaBAD? (इस्लामाबैड) बांग्लादेश से बहुत सारा प्यार।” 

याचिका पर अब तक लगभग 335 लोग हस्ताक्षर कर चुके हैं और यह संख्या बढ़ ही रही है। यानी इतने लोग याचिका पर सहमति जता चुके हैं। याचिका दायर करने वाले अबरार का मानना है इस अभियान के लिए और भी लोग आगे आएँगे। याचिका का मिजाज़ ही कुछ ऐसा है कि कुछ ही देर में इसे लेकर पूरे सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई। इंटरनेट की जनता इस याचिका पर तमाम तरह की प्रतिक्रिया देने लगी। 

इसके अलावा, पाकिस्तान के लोगों ने भी इस पर खूब प्रतिक्रिया दी। 

एक यूज़र ने अनुरोध किया कि इस्लामाबाद का नाम इस्लामागुड किया जाना चाहिए, इसके लिए याचिका पर साइन करिए। 

एक ट्विटर यूज़र ने लिखा कि इस्लामाबाद का बदलने के लिए याचिका दायर की गई है और ये मज़ाक नहीं है। 

एक यूज़र ने सवाल पूछते हुए कहा कि इस्लामाबाद का नाम क्यों बदला जा रहा है। 

एक और यूज़र ने लिखा कि बिलकुल इसमें कोई नुकसान नहीं है। सोच कर देखिए हमारे पासपोर्ट में लिखा है कि हम ‘इस्लामागुड’ में पैदा हुए हैं।

एक यूज़र ने हैरानी जताते हुए लिखा, “ये इस्लामागुड क्या है? किसने ये नाम सोचा।” 

एक अन्य ट्विटर यूज़र ने पूछा कि वो कौन लोग हैं, जिन्होंने इस पर हस्ताक्षर किया, मुझे सिर्फ उनसे बात करनी है।

यह पहला ऐसा मौक़ा नहीं है जब किसी जगह का नाम बदलने के लिए याचिका दायर की गई है। पिछले साल 2020 में कोलंबस (columbus) का नाम बदलने के लिए भी एक याचिका दायर की गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण में 21 राज्य-केंद्रशासित प्रदेशों के 102 सीटों पर मतदान: 8 केंद्रीय मंत्री, 2 Ex CM और एक पूर्व...

लोकसभा चुनाव 2024 में शुक्रवार (19 अप्रैल 2024) को पहले चरण के लिए 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की 102 संसदीय सीटों पर मतदान होगा।

‘केरल में मॉक ड्रिल के दौरान EVM में सारे वोट BJP को जा रहे थे’: सुप्रीम कोर्ट में प्रशांत भूषण का दावा, चुनाव आयोग...

चुनाव आयोग के आधिकारी ने कोर्ट को बताया कि कासरगोड में ईवीएम में अनियमितता की खबरें गलत और आधारहीन हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe