Monday, July 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकंगाल पाकिस्तान में एक तरफ खाने को लाले, दूसरी ओर विदेशी ब्रांड की कॉफी...

कंगाल पाकिस्तान में एक तरफ खाने को लाले, दूसरी ओर विदेशी ब्रांड की कॉफी पीने को लगी लंबी लाइन: यूजर बोले- यही जिन्ना की टू नेशन थ्योरी

"यह दो पाकिस्तान है। एक आटा और घी के लिए कतार में हैं और दूसरा टिम हॉर्टन्स के बाहर खड़ा है। यह मुझे डरा रहा है। यह मुझे डरा रहा है, क्योंकि मिडिल में कुछ भी नहीं है।"

पाकिस्तान के आर्थिक हालात बदतर हैं। देश दिवालिया होने की कगार पर है। फॉरेक्स रिजर्व (Forex Reserves) 9 फरवरी 2023 को नौ साल के निचले स्तर पर पहुँच गया। पाकिस्तानी रुपया भी रिकॉर्ड निचले स्तर पर है। एक तरफ लोग खाने की वस्तुओं के लिए मोहताज हैं। दूसरी ओर एक वर्ग ऐसा भी है जो कनाडा की वैश्विक ब्रांड टिम हॉर्टन्स (Tim Hortons) की कॉफी पीने के लिए कतार लगा रहे हैं।

महँगी काफी पीने की दीवानगी में पाकिस्तान के इस वर्ग ने रिकॉर्ड ही बना डाला है। 1964 में टिम हॉर्टन्स की ओपनिंग के बाद से अब तक की सबसे ज्यादा शुरुआती बिक्री पाकिस्तान में दर्ज की गई है। कनाडाई ब्रांड की पाकिस्तानी फ्रेंचाइजी ने दुनिया भर में कंपनी के सभी 5,352 आउटलेट्स को पहले दिन की बिक्री के मामले में पीछे छोड़ दिया है।

टिम हॉर्टन्स ने लाहौर में अपना पहला आउटलेट खोला है। वीकेंड में इस आउटलेट के बाहर लंबी कतार देखी गई। इस भीड़ को देखकर सोशल मीडिया में लोग आश्चर्य जता रहे हैं। एक यूजर ने इसे जिन्ना की ‘टू नेशन थ्योरी’ बताया है। यूजर ने कहा, “यह जिन्ना की ‘टू नेशन थ्योरी’ है। यही हकीकत है। ‘टू नेशन थ्योरी’ हिंदुओं और मुसलमानों के बारे में नहीं, बल्कि एलीट और गरीब, फौज और अवाम, शासक और प्रजा, राजा और रंक के बारे में था। भारत को सामंतवाद से छुटकारा मिला और पाकिस्तान में इसके 1000 जीवन और लाखों चेहरे हैं। आटा के लिए गरीब लाइनों में खड़े हैं और टिम हॉर्टन्स के लिए एलीट।”

पाकिस्तान के सिंगर, एक्टर फरहान सईद ने ट्वीट कर कहा है, “यह दो पाकिस्तान है। एक आटा और घी के लिए कतार में हैं और दूसरा टिम हॉर्टन्स के बाहर खड़ा है। यह मुझे डरा रहा है। यह मुझे डरा रहा है, क्योंकि मिडिल में कुछ भी नहीं है।”

एक यूजर ने स्टोर के बाहर लंबी कतार का वीडियो शेयर करते हुए कहा है, “टिम हॉर्टन्स ने आज (12 फरवरी 2023) लाहौर में अपना पहला स्टोर खोला। छोटा कॉफी कप की कीमत 650 पाकिस्तानी रुपए (2.40 डॉलर) है और स्टोर के बाहर लाइन देखें। फिर भी हम कहते हैं कि पैसा नहीं है और हम दुनिया से पैसा देने की भीख माँगते हैं। धिक्कार है निकम्मी सरकार और उसकी स्थापना पर। बहुत दुख की बात है।”

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान नकदी की तंगी का सामना कर रहा है। दूध, चिकन, रेड मीट आदि जैसी दैनिक आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में पिछले कुछ दिनों में भारी वृद्धि देखी गई है। दूध 210 रुपए लीटर तो चिकन 700 रुपए पाकिस्तानी में मिल रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

15 अगस्त को दिल्ली कूच का ऐलान, राशन लेकर पहुँचने लगे किसान: 3 कृषि कानूनों के बाद अब 3 आपराधिक कानूनों से दिक्कत, स्वतंत्रता...

15 सितंबर को जींद और 22 सितंबर को पीपली में किसानों की रैली प्रस्तावित है। किसानों ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा 'टेनी' के बेटे आशीष को जमानत दिए जाने की भी निंदा की।

केंद्र सरकार ने 4 साल में राज्यों को की ₹1.73 लाख करोड़ की मदद, फंड ना मिलने पर धरना देने वाली ममता सरकार को...

वित्त मंत्रालय ने बताया है कि केंद्र सरकार 2020-21 से लेकर 2023-24 तक राज्यों को ₹1.73 लाख करोड़ विशेष मदद योजना के तहत दे चुकी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -