Sunday, August 1, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'मुस्लिम महिलाएँ ऐसे कपड़े नहीं पहनती, कलमा पढ़कर दिखाओ'

‘मुस्लिम महिलाएँ ऐसे कपड़े नहीं पहनती, कलमा पढ़कर दिखाओ’

वीडियो में देखा जा सकता है कि फल बेचने वाला चाहता है कि आसिल कलमा पढ़कर यह साबित करे कि वह मुस्लिम है। उसको आसिल के मुस्लिम होने पर इसलिए भी संदेह है क्योंकि उसने इस्लाम के अनुसार कपड़े नहीं पहने हैं।

सोशल मीडिया पर एक विडियो सामने आया है जिसमें पाकिस्तान में धर्म के नाम पर होने वाली महिला विरोधी गतिविधियों का नमूना देखने को मिलता है। दरअसल, एक महिला तुर्किश बाइकर से एक पाकिस्तानी फल बेचने वाला कलमा पढ़ने की बात करते हुए नजर आ रहा है। फल विक्रेता महिला से इसलिए कलमा पढ़वाना चाहता है क्योंकि उसके अनुसार आसिल ओज़बे नाम की यह महिला अपने पहनावे से ‘मुस्लिम’ नहीं लगती।

वीडियो में देखा जा सकता है कि फल बेचने वाला चाहता है कि आसिल कलमा पढ़कर यह साबित करे कि वह मुस्लिम है। उसको आसिल के मुस्लिम होने पर इसलिए भी संदेह है क्योंकि उसने इस्लाम के अनुसार कपड़े नहीं पहने हैं।

आसिल के कलमा पढ़ने के बाद फल बेचने वाला दावा करता है कि ‘मोहम्मद’ के अनुसार, महिलाओं को ऐसे कपड़े नहीं पहनने चाहिए, जैसे कि बाइकर आसिल ने पहने हुए हैं। उसने कहा- “मोहम्मद कहते हैं कि ऐसे कपड़े किसी को नहीं पहनने चाहिए। तुम एक औरत हो। मुस्लिम ऐसे कपड़े नहीं पहनते हैं क्योंकि सब लोग आपका शरीर देख लेते हैं। महिलाओं को ऐसे कपड़े नहीं पहनने चाहिए।”

यह वीडियो इस बात की पुष्टि करता है कि पाकिस्तान में महिलाओं की क्या स्थिति है। एक ओर पकिस्तान जहाँ कश्मीर मामले पर मानवाधिकारों के फर्जी दावे कर रहा है, वहीं पाकिस्तान में मानवाधिकारों की कितनी इज्जत है यह इस वीडियो से स्पष्ट होता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,514FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe