Saturday, July 13, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'इस्लाम कबूल नहीं, डर कर किया था निकाह' - नाबालिग हिन्दू लड़की के लिए...

‘इस्लाम कबूल नहीं, डर कर किया था निकाह’ – नाबालिग हिन्दू लड़की के लिए कट्टरपंथियों ने माँगी मौत की सजा

15 जनवरी को पाकिस्तान के सिंध प्रान्त के जैकबाबाद से महक कुमारी का अपहरण कर लिया गया था। जिसका बाद में इस्लाम में धर्मांतरण कर एक मुस्लिम आदमी से निकाह पढ़वा दिया था। वो मुस्लिम आदमी पहले से ही 4 बच्चों का बाप था।

हिन्दू नाबालिग लड़की महक कुमारी ने कोर्ट में दिए गए अपने पूर्व के बयान को दबाव तथा भय का परिणाम बताया है। लेकिन बजाय उसे सुरक्षा प्रदान करने के, उसके बयान से मुकर जाने पर पाकिस्तान के इस्लामी कट्टरपंथियों ने उसे खुलेआम धमकियाँ देना शुरू कर दिया है।

नाबालिग महक कुमारी ने कट्टरपंथियों पर जबरन इस्लाम कबूल करवाने का आरोप लगाते हुए इस्लाम छोड़ने की बात कही। इस पर इस्लामी कट्टरपंथियों ने उस पर इस्लाम को बेइज्जत करने का आरोप लगाते हुए उसके लिए मौत की सजा की माँग की है।

रिपोर्ट्स के अनुसार पाकिस्तान के स्थानीय चैनल से बात करते हुए एक मौलवी ने कहा कि उन सभी के लिए जिन्होंने अपने मजहब को छोड़ दूसरा मजहब कबूला है, हम सजा की माँग करेंगे। मौलवी ने मीडिया से बातचीत में आगे कहा कि वे सेशन कोर्ट की जाँच और प्रक्रियाओं को ख़ारिज करते हुए, मामले को हाईकोर्ट लेकर जा चुके हैं। तथा, जरूरत पड़ने पर इस मामले को सुप्रीम कोर्ट तथा शरीयत की अदालत तक भी लेकर जाएँगे यदि “मामले का निपटारा उनके मन मुताबिक नहीं हुआ तो।”

महक ने पहले के अपने कोर्ट को दिए बयान में स्वेच्छा से बिना किसी दबाव इस्लाम कबूल करने और अली रजा नामक मुस्लिम के साथ निकाह करने की बात कही थी। हालाँकि नाबालिग हिन्दू लड़की महक कुमारी के धर्मांतरण पर पाकिस्तान की माइनॉरिटी हिन्दू कम्युनिटी ने आए दिन होते इस तरह के जबरन धर्मांतरण, जहाँ हिन्दू लड़कियों को चुन-चुन कर निशाना बनाया जा रहा है, के पीछे प्रशासनिक अधिकारियों और मौलवियों की मिली भगत होने का आरोप लगाया था।

महक के कोर्ट में दिए गए बयान को उसके माँ बाप ने भी यह कहते अस्वीकार कर दिया था, “जब पाकिस्तान में नाबालिग को मताधिकार नहीं दिया जाता, जब नाबालिग को ड्राइविंग लाइसेंस नहीं दिया जाता, फिर कैसे एक नाबालिग को बिना उसके परिवार की रजामंदी के बिना धर्म बदल किसी मुस्लिम आदमी से शादी करने की इजाजत हो सकती है?”

याद रहे कि पिछली 15 जनवरी को पाकिस्तान के सिंध प्रान्त के जैकबाबाद से महक कुमारी का अपहरण कर लिया गया था। जिसका बाद में इस्लाम में धर्मांतरण कर एक, मुस्लिम आदमी से निकाह पढ़वा दिया।

मैं अली के साथ नहीं रहना चाहती, मुझे इस्लाम कबूल नहीं: 15 साल की लड़की ने कोर्ट में लगाई गुहार

15 साल की हिन्दू लड़की ने अमरोत शरीफ में क़बूल किया इस्लाम, 4 बच्चों के बाप से हुआ निक़ाह

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तिब्बत को संरक्षण देने के लिए अमेरिका ने बनाया कानून, चीन से दो टूक – दलाई लामा से बात करो: जानिए क्या है उस...

14वें दलाई लामा 1959 में तिब्बत से भागकर भारत आ गये, जहाँ उन्होंने हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में निर्वासित सरकार स्थापित की थी।

बिहार में निर्दलीय शंकर सिंह ने जदयू-राजद को हराया, बंगाल में 25 साल की मधुपूर्णा बनीं MLA, हिमाचल में CM सुक्खू की पत्नी जीतीं:...

उप-मुख्यमंत्री व भाजपा नेता विजय सिन्हा ने कहा कि शंकर सिंह भी हमलोग से ही जुड़े हुए उम्मीदवार थे। 'नॉर्थ बिहार लिबरेशन आर्मी' के थे मुखिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -