Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'वे मारने, आँख फोड़ने, हाथ-पैर काटने की धमकी दे रहे': पाकिस्तान में हिंदू व्यापारी...

‘वे मारने, आँख फोड़ने, हाथ-पैर काटने की धमकी दे रहे’: पाकिस्तान में हिंदू व्यापारी की गोली मारकर हत्या, मिली थी भारत जाने की धमकी

“सतन लाल की जमीन पर कपास की फैक्ट्री और आटा चक्की का उद्घाटन था। इसी दौरान कुछ लोगों ने गोली मारकर उसकी हत्या कर दी।"

पाकिस्तान में एक हिंदू व्यापारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। मृतक की पहचान सतन लाल के तौर पर हुई है। घटना सोमवार (31 जनवरी 2022) की है। सिंध प्रांत के घोटकी जिले की डाहरकी शहर के पास उन्हें गोली मारी गई। आरोपित दहर समुदाय से जुड़े बताए जा रहे। कुछ समय पहले सतन लाल ने जमीन विवाद में जान से मारने और पाकिस्तान छोड़ भारत जाने की धमकी मिलने की बात कही थी।

उनकी हत्या की वजह जमीन विवाद ही बताई जा रही। हत्या के विरोध में नाराज लोगों ने हाइवे जाम कर दिया। सतन लाल के दोस्त मुखी अनिल कुमार ने द एक्सप्रेस ट्रिब्यून को बताया, “सतन लाल की जमीन पर कपास की फैक्ट्री और आटा चक्की का उद्घाटन था। इसी दौरान कुछ लोगों ने गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। पहले ऐसा लगा था कि समुदाय के आध्यात्मिक नेता सेन साधराम साहब का स्वागत करने के लिए हवाई फायरिंग की गई है।”

सतन लाल ने कुछ महीने पहले आरोप लगाया था कि उन्‍हें धमकी देते हुए कहा गया है कि यदि ज‍िंदा रहना है तो वे पाकिस्‍तान छोड़कर भारत चले जाएँ। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसमें वे कह रहे थे, “वे मुझे मारने, मेरी आँखें फोड़ने और मेरे हाथ और पैर काटने की धमकी दे रहे हैं। वे मुझे पाकिस्तान से जाने के लिए कह रहे हैं। मैं इस देश का हूँ और मैं यहाँ मरना पसंद करूँगा, लेकिन आत्मसमर्पण नहीं करूँगा। सड़क के किनारे की जमीन मेरी है और मैं इसे क्यों छोड़ दूँ।” सतन लाल ने इस मामले में पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश और अन्य अधिकारियों से उन्हें न्याय प्रदान करने का अनुरोध किया था। हालाँकि इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

हिंदू व्यवसायी की हत्या के विरोध में मंगलवार को बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम कर दिया। धरने के बाद पुलिस ने हत्या के आरोपित बचाल दाहर और उसके साथियों को गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले अपराधियों को पकड़ने के लिए कानून प्रवर्तन एजेंसी पर दबाव बनाने के प्रयास में स्थानीय लोगों ने डहारकी पुलिस के सामने धरना दिया था।

पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) पुलिस सुक्कुर ने बताया कि घटना में शामिल दोषियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। दो एकड़ जमीन को लेकर विवाद था। इलाके के स्थानीय पत्रकारों ने दावा किया कि करीब आठ साल पहले कुछ लोगों ने सतन लाल को गोली मारकर घायल कर दिया थ। उन पर कुछ महीने पहले भी हमला हुआ था।

वहीं पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के विधायक खेल दास कोहिस्तानी ने कहा कि सिंध में सह-अस्तित्व की छवि को धूमिल करने के प्रयास किए जा रहे हैं, जहाँ हिंदू और मुस्लिम सदियों से शांति से रहते हैं। पीएमएल-एन नेता ने दावा किया कि हिंदू समुदाय की लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया और लोगों का अपहरण और हत्या की जा रही। कोहिस्तानी ने कहा कि प्रांत में रहने वाले अल्पसंख्यकों को सुरक्षा नहीं दी गई, तो स्थिति नियंत्रण से बाहर हो जाएगी। उन्होंने मुख्यमंत्री, आईजी पुलिस और अन्य से स्थिति का संज्ञान लेने और खतरे का सामना कर रहे हिंदू परिवारों को न्याय और सुरक्षा प्रदान करने का आग्रह किया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -