Thursday, July 18, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'पापा-पापा' बोलते भारतीय सीमा में घुस आया 3 साल का पाकिस्तानी बच्चा: BSF जवानों...

‘पापा-पापा’ बोलते भारतीय सीमा में घुस आया 3 साल का पाकिस्तानी बच्चा: BSF जवानों ने दुलारा, चॉकलेट देकर परिजनों को लौटाया

वहीं, भारत ने पाकिस्तान से उसकी हिरासत में रखे गए 536 भारतीय मछुआरों और तीन अन्य कैदियों को रिहा करने को कहा है। इन कैदियों ने अपनी सजा पूरी कर ली है और उनकी नागरिकता की पुष्टि हो गई है।

भारतीय सीमा में घुस आए करीब तीन साल के एक पाकिस्तानी बच्चे को भारत के सीमा सुरक्षा बल (BSF) के जवानों ने चॉकलेट खिलाकर दुलारा और फिर उसे पाकिस्तानी रेंजर्स के हवाले कर अपनी दरियादिली दिखाई। घटना पंजाब की है।

पंजाब के फिरोजपुर में पाकिस्तान से लगी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर शुक्रवार (1 जुलाई 2022) की शाम को तीन साल का एक बच्चा पापा-पापा कहते हुए भारतीय सीमा में घुस आया। वह अनजान लोगों को देखकर सहमा हुआ था। पापा के अलावा वह और कुछ बताने में असमर्थ था।

इसके बाद सीमा पर तैनात BSF बटालियन 182 के जवानों ने उसे गोद में लेकर चॉकलेट दिया और चुप कराया। इसके बाद पाकिस्तानी रेंजर्स की इसके बारी में जानकारी दी गई। कुछ ही समय पर बच्चे के परिजन आए और बच्चे को उनके हवाले कर दिया गया।

BSF के अधिकारियों ने बताया कि बच्चा जैसे ही भारतीय सीमा में प्रवेश किया तो अलर्ट मोड पर खड़े जवानों ने उसे आगे तक आने दिया। अधिकारियों का कहना है कि बच्चा बहुत छोटा था और वह अपना नाम-पता कुछ नहीं पता रहा था।

सीमा पर दोनों देशों के गाँव सटे होने के कारण इस तरह की घटनाएँ कभी-कभी सामने आती रहती हैं। ऐसे में भारतीय जवान मानवता का परिचय देते हुए बच्चों को अक्सर मिठाइयाँ-खिलौने आदि देकर उन्हें उनके पाकिस्तानी परिजनों को सौंप देते हैं।

भारतीय नागरिकों की रिहाई की माँग

वहीं, भारत ने पाकिस्तान से उसकी हिरासत में रखे गए 536 भारतीय मछुआरों और तीन अन्य कैदियों को रिहा करने को कहा है। इन कैदियों ने अपनी सजा पूरी कर ली है और उनकी नागरिकता की पुष्टि हो गई है।

भारतीय विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, भारत ने पाकिस्तान से उसके 105 मछुआरों और 20 अन्य कैदियों को तत्काल राजनयिक पहुँच उपलब्ध कराने के लिए कहा है। ये लोग पाकिस्तान की हिरासत में हैं और माना जाता है कि ये सब भारतीय नागरिक हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -