Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयगणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि होंगे USA के राष्ट्रपति जो बायडेन? अमेरिकी राजदूत ने...

गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि होंगे USA के राष्ट्रपति जो बायडेन? अमेरिकी राजदूत ने बताया – G20 के दौरान PM मोदी ने दिया न्योता

QUAD भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान का समूह है। कूटनीतिक तौर पर यह समूह चीन के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए बनाया गया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 26 जनवरी, 2024 को गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन को निमंत्रित किया है। जो बायडेन को यह निमंत्रण हाल ही में नई दिल्ली में संपन्न हुए G20 शिखर सम्मेलन के दौरान दिया गया है।

वर्ष 2024 में भारत के संविधान लागू होने के 74 वर्ष पूरे होंगे एवं वह पूर्ण लोकतंत्र के 75वें वर्ष में प्रवेश करेगा। इससे पहले यह कयास लगाए गए थे कि भारत 2024 में QUAD के नेताओं को 26 जनवरी पर बुलाएगा। जो बायडेन को निमंत्रित किए जाने की पुष्टि भारत में अमेरिका के राजदूत एरिक गारसेट्टी ने की है। राष्ट्रपति बायडेन को प्रधानमंत्री मोदी ने दोनों नेताओं के बीच हुई द्विपक्षीय वार्ता के दौरान भारत आने का न्यौता दिया है। यह जानकारी समाचार वेबसाइट ANI ने दी है।

QUAD भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान का समूह है। कूटनीतिक तौर पर यह समूह चीन के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए बनाया गया है। भारत में QUAD नेताओं को इकट्ठा करने से इसकी एकता दर्शाई जाती और साथ ही यह सभी देश विश्व में लोकतंत्र की मजबूती का सन्देश देते।

जो बायडेन यदि यह निमंत्रण स्वीकार करते हैं तो यह उनकी 6 महीनों के भीतर दूसरी भारत यात्रा होगी। इससे पहले वर्ष 2015 में प्रधानमंत्री मोदी के सत्ता में आने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा गणतंत्र दिवस कार्यक्रमों में शामिल हुए थे। भारत-अमेरिका संबंधों में यह एक बड़ा पल था।

इसके पश्चात वर्ष 2018 में भी तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को 26 जनवरी के कार्यक्रमों के लिए निमंत्रित किया गया था लेकिन वह भारत नहीं आ सके थे। उनकी जगह पर फिर आसियान (ASEAN) देशों के नेताओं को गणतंत्र दिवस के कार्यक्रमों में शामिल किया गया था। वर्ष 2023 में मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फ़तेह अल अल सीसी भारत के मुख्य अतिथि बने थे। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन को भारत में बुलाने को लेकर अभी विदेश मंत्रालय ने कोई अधिकारिक सूचना जारी नहीं की है।

भारत और अमेरिका के सम्बन्ध बीते कुछ समय में काफी मजबूत हुए हैं। प्रधानमंत्री मोदी जून माह में आधिकारिक यात्रा पर अमेरिका गए थे और इसके पश्चात G20 के लिए जो बायडेन भारत। इन दोनों ही यात्राओं के दौरान दोनों नेताओं में कई मुद्दों पर अहम बातचीत हुई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -