Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबैठक में थे कई दिग्गज नेता, लेकिन ढूँढ कर PM मोदी से गले मिले...

बैठक में थे कई दिग्गज नेता, लेकिन ढूँढ कर PM मोदी से गले मिले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन: हिरोशिमा में गाँधी प्रतिमा का भी अनावरण

प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के मशहूर भाषाविद् प्रोफेसर तोमियो मिजोकामी से भी मुलाकात की। वे हिंदी और पंजाबी के प्रतिष्ठित विद्वान हैं। उन्होंने जापान के लोगों के बीच भारतीय संस्कृति को लोकप्रिय बनाने के लिए कई काम किए। उनके इस काम को देखते हुए भारत ने उन्हें पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया है। मुलाकात के बाद पीएम ने खुशी जताई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) सात शक्तिशाली देशों के समूह G-7 में भाग लेने के लिए जापान के शहर हिरोशिमा में हैं। इस दौरान का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन पीएम मोदी के पास आकर उनके गले मिलते हैं। इसके अलावा, पीएम मोदी ने हिरोशिमा में महात्मा गाँधी की प्रतिमा का अनावरण भी किया।

बता दें कि G-7 में अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, इटली, कनाडा और जापान शामिल है। वहीं, भारत अन्य 8 देशों के साथ विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में इसमें शामिल होने के लिए बुलाया गया है। जी-7 के पिछले 5 बैठकों में लगातार भारत को विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में बुलाया जा रहा है। पीएम मनमोहन सिंह भी जी-7 की बैठक में पाँच बार शामिल हो चुके हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार (20 मई 2023) की शाम को यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। जेलेंस्की भी विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में इस सम्मेलन में भाग ले रहे हैं। भारत और यूक्रेन के वरिष्ठ राजनयिकों ने यह बैठक निर्धारित की थी। बता दें कि फरवरी 2022 में यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद पहली बार पीएम मोदी और जेलेंस्की मिलेंगे।।

इससे पहले आज प्रधानमंत्री मोदी ने अपने जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन और वियतनाम के प्रधानमंत्री फाम मिन्ह चिन्ह के साथ द्विपक्षीय वार्ता की। माना जा रहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ भी प्रधानमंत्री द्विपक्षीय वार्ता करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने G-7 की बैठक से पहले शनिवार (20 मई 2023) को हिरोशिमा में महात्मा गाँधी की प्रतिमा का अनावरण किया और उन्हें पुष्पांजलि दी। 42 इंच ऊँची महात्मा गाँधी की कांस्य प्रतिमा को पद्मभूषण राम वनजी सुतार ने बनाई है। इसे मोतोयासु नदी के किनारे ऐतिहासिक ए-बॉम्ब डोम के पास स्थापित किया गया है। यहाँ हजारों पर्यटक घुमने के लिए आते हैं।

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हिरोशिमा में महात्मा गाँधी की प्रतिमा अहिंसा के विचार को आगे बढ़ाएगी। उन्होंने कहा, “मेरे लिए यह जानना एक बड़ा क्षण है कि मैंने जापानी पीएम को जो बोधि वृक्ष उपहार में दिया था, उसे यहीं हिरोशिमा में लगाया गया है ताकि यहाँ आने वाले लोग शांति के महत्व को समझ सकें।”

प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के मशहूर भाषाविद् प्रोफेसर तोमियो मिजोकामी से भी मुलाकात की। वे हिंदी और पंजाबी के प्रतिष्ठित विद्वान हैं। उन्होंने जापान के लोगों के बीच भारतीय संस्कृति को लोकप्रिय बनाने के लिए कई काम किए। उनके इस काम को देखते हुए भारत ने उन्हें पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया है। मुलाकात के बाद पीएम ने खुशी जताई।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -