Thursday, July 29, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयPM मोदी को मिला सेरावीक ग्लोबल एनर्जी एंड एनवायरनमेंट लीडरशिप अवार्ड, कहा- देश के...

PM मोदी को मिला सेरावीक ग्लोबल एनर्जी एंड एनवायरनमेंट लीडरशिप अवार्ड, कहा- देश के लोगों को करता हूँ अर्पित

"मैं बहुत विनम्रता के साथ सेरावीक वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कार को स्वीकार करता हूँ। मैं इस पुरस्कार को अपने महान देश की जनता को समर्पित करता हूँ। मैं यह पुरस्कार अपनी भूमि की महान परम्परा को समर्पित करता हूँ जिसने पर्यावरण को हमेशा राह दिखाई है।"

आज प्रधानमंत्री मोदी को एक वार्षिक अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा सम्मेलन के दौरान CERAWeek ग्लोबल एनर्जी एंड एनवायरनमेंट लीडरशिप अवॉर्ड (Global Energy And Environment Leadership Award) से सम्मानित किया गया। इस अवसर पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, “मैं इस पुरस्कार को अपने देश के लोगों को अर्पित करता हूँ। आप किसी भी भाषा में भारतीय साहित्य को पढ़ लीजिए आपको पता चलेगा कि लोगों का प्रकृति के साथ गहरा संबंध रहा है।”

वहीं केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी ट्वीट कर यह सूचना देश के लोगों को दी, उन्होंने कहा, “आज प्रधानमंत्री मोदी जी को एक वैश्विक अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। सेरावीक वैश्विक ऊर्जा कार्यक्रम में पिछले कई वर्षों से ऊर्जा के क्षेत्र में अच्छे काम करने वाले नेतृत्व को सम्मानित करते आए हैं। इस साल उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री को चुना है।”

इस अवसर पर अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा, “मैं बहुत विनम्रता के साथ सेरावीक वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कार को स्वीकार करता हूँ। मैं इस पुरस्कार को अपने महान देश की जनता को समर्पित करता हूँ। मैं यह पुरस्कार अपनी भूमि की महान परम्परा को समर्पित करता हूँ जिसने पर्यावरण को हमेशा राह दिखाई है।”

कब हुई थी इस पुरस्कार की शुरुआत

गौरतलब हैकी सेरावीक वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण लीडरशीप पुरस्कार की शुरुआत 2016 में हुई थी। वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण के क्षेत्र में प्रतिबद्ध नेतृत्व के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया जाता है। डॉक्टर डेनिएल येरगिन ने 1983 में सेरावीक की स्थापना की थी। इसकी स्थापना के बाद से प्रत्येक साल मार्च महीने में हृयूस्टन में सेरावीक का आयोजन होता है। इसकी गिनती विश्व के अग्रणी ऊर्जा मंचों में होती है। इस साल यह आयोजन डिजिटल तरीके से आज आयोजित हुआ है।

इस मंच पर दुनिया को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “आज दुनिया फिटनेस और वेलनेस पर केंद्रित है। स्वस्थ और जैविक भोजन की बढ़ती माँग के बीच भारत अपने मसाले, आयुर्वेद उत्पादों आदि के माध्यम से इस वैश्विक परिवर्तन को ड्राइव कर सकता है।”

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सम्मेलन में प्रमुख वक्ताओं में जलवायु जॉन केरी के लिए अमेरिकी विशेष राष्ट्रपति दूत, बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष और ब्रेकथ्रू एनर्जी बिल गेट्स के संस्थापक और सऊदी अरामको के सीईओ अमीन नासिर भी शामिल हुए।

आज पीएम मोदी ने स्वीडन के पीएम स्टीफान लोफवेन के साथ शिखर वार्ता भी की। करीब पाँच साल में दोनों के बीच यह पाँचवीं वार्ता है। दोनों नेताओं ने पिछले साल अप्रैल में कोरोना की स्थिति को लेकर फोन पर भी बातचीत की थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना से अनाथ हुई लड़कियों के विवाह का खर्च उठाएगी योगी सरकार: शादी से 90 दिन पहले/बाद ऐसे करें आवेदन

योजना का लाभ पाने के लिए लड़कियाँ खुद या उनके माता/पिता या फिर अभिभावक ऑफलाइन आवेदन करेंगे। इसके साथ ही कुछ जरूरी दस्तावेज लगाने आवश्यक होंगे।

बंगाल की गद्दी किसे सौंपेंगी? गाँधी-पवार की राजनीति को साधने के लिए कौन सा खेला खेलेंगी सुश्री ममता बनर्जी?

ममता बनर्जी का यह दौरा पानी नापने की एक कोशिश से अधिक नहीं। इसका राजनीतिक परिणाम विपक्ष को एकजुट करेगा, इसे लेकर संदेह बना रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,780FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe