Saturday, July 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकोरोना वैक्सीन Sputnik V बनाने वाले वैज्ञानिक की हत्या: बदमाश ने फ्लैट में घुसकर...

कोरोना वैक्सीन Sputnik V बनाने वाले वैज्ञानिक की हत्या: बदमाश ने फ्लैट में घुसकर बेल्ट से गला घोंटा, आरोपित गिरफ्तार

रूसी वैज्ञानिक बोतिकोव की हत्या का आरोपित एलेक्सी जेड सेक्स सर्विस उपलब्ध कराने के आरोप में पहले भी 10 साल की सजा काट चुका है। इसके अलावा उसके खिलाफ कुछ अन्य गंभीर अपराधों को लेकर मुकदमा चलने की बात कही जा रही है।

रूस की कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी को बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले वैज्ञानिक एंड्री बोतिकोव की गला घोंट कर हत्या कर दी गई। इसको लेकर रूसी जाँच एजेंसी मामले।की जाँच कर रही है। फिलहाल पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गुरुवार (2 मार्च 2023) को वैज्ञानिक एंड्री बोतिकोव रोगोवा स्ट्रीट स्थित अपने घर में थे। इस दौरान एक बदमाश उनके घर में घुस गया। इसके बाद वह पैसों को लेकर बोतिकोव से बहस करने लगा। इस पर बोतिकोव ने उसका विरोध किया। इसके बाद आरोपित ने बेल्ट से उनका गला घोंटकर हत्या कर दी। फिर वह मौके से फरार हो गया था।

हालाँकि हत्या की सूचना के मिलने के बाद रूसी जाँच एजेंसियों ने सक्रियता दिखाते हुए एलेक्सी जेड नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। कहा जा रहा है कि आरोपित ने अपना अपराध स्वीकार लिया है। जाँच एजेंसी का कहना है कि वह आरोपित के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर करेगी। ताकि मामले की सुनवाई तक आरोपित पुलिस हिरासत में ही रहे।

रूसी वैज्ञानिक बोतिकोव की हत्या का आरोपित एलेक्सी जेड सेक्स सर्विस उपलब्ध कराने के आरोप में पहले भी 10 साल की सजा काट चुका है। इसके अलावा उसके खिलाफ कुछ अन्य गंभीर अपराधों को लेकर मुकदमा चलने की बात कही जा रही है।

बता दें कि 47 वर्षीय एंड्री बोतिकोव रूस के नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी में वरिष्ठ शोधकर्ता के तौर पर काम कर रहे थे। इससे पहले उन्होंने रूसी स्टेट कलेक्शन ऑफ वायरस डी.आई. इवानोव्स्की इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में कोरोना वायरस की वैक्सीन पर शोध किया था। बड़ी बात यह है कि वह कोरोना वायरस की वैक्सीन स्पूतनिक वी बनाने वाले 18 वैज्ञानिकों की टीम का हिस्सा थे। उनके इस काम के लिए साल 2021 में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने उन्हें ऑर्डर ऑफ मेरिट फॉर द फादरलैंड पुरुस्कार से भी सम्मानित किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -