Sunday, May 29, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयखालिस्तानी संगठन SFJ ने अब वकील महेश जेठमलानी को दी धमकी, कहा- 'सुप्रीम कोर्ट...

खालिस्तानी संगठन SFJ ने अब वकील महेश जेठमलानी को दी धमकी, कहा- ‘सुप्रीम कोर्ट में भी अपना झंडा फहराएँगे’

SFJ के संस्थापक गुरपतवंत सिंह पन्नू ने दावा किया कि सुप्रीम कोर्ट में खालिस्तानी झंडा फहराया जाएगा। उसने कहा, "जेठमलानी तुम देखोगे कि हम इस देश की शीर्ष अदालत में जाएँगे और हम सर्वोच्च न्यायालय में झंडा फहराएँगे।"

देश को हमेशा तोड़ने की कोशिश करने वाले खालिस्तानी आतंकी संगठन सिख फॉर जस्टिस (SFJ) ने एक बार फिर से सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) को कई वकीलों को धमकी भरे कॉल्स किए हैं। इसी क्रम में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील महेश जेठमलानी (Mahesh jethmalani) को भी SFJ ने फोन पर धमकी दी है। इस दौरान SFJ के संस्थापक गुरपतवंत सिंह पन्नू ने दावा किया कि सुप्रीम कोर्ट में खालिस्तानी झंडा फहराया जाएगा। उसने कहा, “जेठमलानी तुम देखोगे कि हम इस देश की शीर्ष अदालत में जाएँगे और हम सर्वोच्च न्यायालय में झंडा फहराएँगे।”

रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए सुप्रीम कोर्ट के वकील NS नप्पिनई ने इसे थोड़ा चिंताजनक बात करार दिया। उन्होंने कहा कि अगर आप कानूनी बिरादरी में काम करते हैं तो केस चाहे कठिन हो या रेगुलर रहा हो। इससे पहले ऐसा नहीं हुआ। इससे व्यवस्था और समुदाय को खतरा महसूस हो रहा है। इस तरह की घटनाएं बढ़ीं हैं, जिनमें हमारे पास वकीलों को शारीरिक तौर पर नुकसान पहुँचाने की कोशिश के उदाहरण हैं, इसमें कुछ की तो जानें भी गई हैं।

एडवोकेट NS नप्पिनई ने इस घटना को बेहद गंभीर मुद्दा मानते हुए कहा कि इस मामले में कोर्ट को एड्रेस करने की आवश्यकता है। ताकि यह समझा जा सके कि चीजें कहाँ गलत हो रही हैं।

गौरतलब है कि 5 जनवरी 2022 को पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक के बाद से लगातार खालिस्तानी संगठन सुप्रीम कोर्ट के वकीलों को धमका रहा है। 10 जनवरी 2022 को भी SFJ ने सुप्रीम कोर्ट के करीब 50 वकीलों को फोन कर धमकी दी थी। आतंकी संगठन ने वकीलों को धमकाया था कि वो इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में केस न लड़ें।

यहाँ यह भी बता दें कि SFJ का प्रमुख गुरुपतवंत सिंह पन्नू है, जिसके पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के साथ करीबी संबंध हैं। सुप्रीम कोर्ट वरिष्ठ वकील इंदू मल्होत्रा के नेतृत्व में एक समिति का गठन किया था। अब खालिस्तानी संगठन ‘सिख फॉर जस्टिस (SFJ)’ ने उन्हें भी फोन कॉल कर के धमकी दी थी। कट्टरवादी संगठन ने कहा था कि वो जस्टिस इंदु मल्होत्रा को इस मामले की जाँच नहीं करने देगा।

SFJ के खिलाफ दर्ज कराई गई शिकायत

खालिस्तानी संगठन द्वारा लगातार धमकाए जाने की घटनाओं के बीच सुप्रीम कोर्ट के वकील विनीत जिंदल ने SFJ के संस्थापक के खिलाफ दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना और साइबर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने जोर देकर कहा कि उसके बयान और कार्य भारत की संप्रभुता और एकता को चुनौती देते हैं और विभिन्न समुदायों और राज्यों के बीच युद्ध छेड़ने का प्रयास हैं। उन्होंने ये भी तर्क दिया कि पन्नू ने गणतंत्र दिवस के गौरव का अपमान किया है जो हमारे देश में बड़े उत्साह और उत्साह के साथ मनाया जाता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नूपुर शर्मा का सिर कलम करने वाले को ₹20 लाख इनाम का ऐलान, बताया ‘गुस्ताख़-ए-रसूल’: मुस्लिमों को उकसा रहा AltNews वाला जुबैर

तहरीक-ए-लब्बैक (TLP) वही समूह है जिसने कुछ दिनों सियालकोट में पहले श्रीलंकाई नागरिक की हत्या कर दी थी। अब नूपुर शर्मा का सिर कलम करने पर रखा इनाम।

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe