Thursday, January 21, 2021
Home रिपोर्ट अंतरराष्ट्रीय 2,50,000 से घट कर अब बस 700... अफगानिस्तान से सिखों और हिंदुओं का पलायन...

2,50,000 से घट कर अब बस 700… अफगानिस्तान से सिखों और हिंदुओं का पलायन हुआ तेज

"अपनी मातृभूमि को छोड़कर जाना उतना ही मुश्किल है, जैसे अपनी माँ को छोड़कर जाना। लेकिन धार्मिक स्थल पर हुए हमले में मेरे 7 रिश्तेदार मारे गए थे। ऐसे में अब यहाँ और रुकने में समर्थ नहीं।"

इस्लामी आतंक के कारण अफगानिस्तान में सिखों और हिंदुओं की संख्या समय के साथ घटती जा रही है। एक समय में वहाँ अल्पसंख्यकों की गिनती 2,50,000 हुआ करती थी मगर अब ये संख्या 700 पर पहुँच गई है। न चाहते हुए तमाम सिख व हिंदू परिवार भय के कारण अपनी जन्मभूमि छोड़ने को तैयार हैं। 

बता दें कि अफगानिस्तान में बहुसंख्यक आबादी के कारण अल्पसंख्यकों की अनदेखी लंबे समय से होती आ रही है। ऐसे में वहाँ समुदाय के लोगों का कहना है कि यदि उन्हें सरकार से पर्याप्त सरंक्षण नहीं मिलता है तो आईएस के हमलों के कारण उन्हें पूरी तरह पलायन करना पड़ सकता है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, अफगानिस्तान का एक अल्पसंख्यक डर के कारण अपना पूरा नाम न बताते हुए कहता है कि अब वह यहाँ और रुकने में समर्थ नहीं है। व्यक्ति ने बताया कि मार्च में उनके समुदाय के धार्मिक स्थल पर हुए हमले में उनके 7 रिश्तेदार मारे गए थे।

इस हमले में 25 सिखों की मौत हो गई थी। उन्होंने कहा कि अपनी मातृभूमि को छोड़कर जाना उतना ही मुश्किल है, जैसे अपनी माँ को छोड़कर जाना। इसके बावजूद वे उस हिंदू-सिख समूह का हिस्सा रहे, जोकि पिछले महीने भारत गया था।

उल्लेखनीय है कि भारत में हम देखते हैं कि सिख और हिंदू धर्म अलग-अलग हैं व इनके धार्मिक स्थान भी अलग हैं। मगर, यही चीज अफगानिस्तान में नहीं हैं। वहाँ पर कम संख्या होने के कारण दोनों समुदाय के लोग एक छोटे से मंदिर में एकत्रित होकर अपने धर्मानुसार उपासना करते हैं। एक व्यक्ति बताते हैं कि उनके समुदाय को रूढ़िवादी देश में हर सरकार अपनी तरह प्रताड़ित करती है।

धार्मिक स्थलों पर हमला और कब्जा

90 के दशक में तालिबानी शासन के दौरान सिखों और हिंदुओं को अफगानिस्तान में पीला बाजूबंद बाँधने को कहा जाता था। हालाँकि वैश्विक निंदा के बाद आज वहाँ यह नियम लागू नहीं है। मगर, तब भी अल्पसंख्यकों के पलायन का एक कारण है कि सिखों से उनके घर, उनके व्यवसाय, धार्मिक स्थान अवैध रूप से सालों पहले जब्त कर लिए गए। इसके अलावा साल 1992-96 के दौरान प्रतिद्वंदी समूहों के बीच चली लड़ाई में हिंदूओं के मंदिर भी तबाह कर दिए गए।

अभी हाल में आईएस हमलावरों ने गत मार्च महीने में देश के जलालाबाद शहर में हमला किया था। इस हमले में 19 लोग घायल हुए थे। इनमें से अधिकाँश सिख थे। साथ ही इनमें एक वह अल्पसंख्यक भी शामिल था, जिसने अफगान संसद के लिए अपना नाम नॉमिनेट किया।

सिख समुदाय से आने वाले चरण सिंह खालसा कहते हैं कि उनके छोटे समुदाय के लिए इतने जान का नुकसान बिलकुल बर्दाश्त योग्य नहीं हैं। खालसा के खुद के भाई की भी काबुल में दो साल पहले अपहरण के बाद हत्या कर दी गई थी। वह कहते हैं कि पिछले तीन साल अफगान में हिंदुओं और सिखों के लिए बेहद घातक रहे हैं। समुदाय के नेता वहाँ की वर्तमान सरकार की नाकामियों पर सवाल भी उठाते हैं।

ज्ञात हो कि साल 2010 में अफगानिस्तान सरकार ने तय किया था कि वह राष्ट्रीय असेंबली की एक सीट अल्पसंख्यकों को देंगे और तब से वहाँ दो सिख प्रतिनिधित्व हैं। हालाँकि खालसा इन दोनों प्रतिनिधियों को प्रतीकात्मक बताते हैं और सरकार की आलोचना करते हुए कहते हैं कि वह अल्पसंख्यकों के धार्मिक स्थल को सुरक्षा प्रदान करने में असफल रहे।

इस मामले पर पिछले महीने राष्ट्रपति अशरफ गनी के प्रवक्ता सेदीक सेदीक्की ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि सिख और हिंदू समुदाय के सदस्य अफगानिस्तान में शांति बहाली के बाद लौट आएँगे। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता तारिक अरियन ने कहा था, ”हम लोगों को सुरक्षा देने के लिए सभी संसाधनों का इस्तेमाल करेंगे। हम उनकी (सिख और हिंदू) मानसिक और निजी सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध और जिम्मेदार हैं।” 

गौरतलब हो कि अगस्त में 176 अफगान सिख और हिंदू स्पेशल वीजा पर भारत आए हैं। मार्च से यह दूसरा जत्था था। जुलाई में 11 सदस्य भारत पहुँचे थे। खासला ने कहा कि अफगान, कनाडा और यूरोपीय देशों के हिंदू और सिख अफगान से उन लोगों को निकालने में मदद कर रहे हैं जो एयर टिकट का खर्च वहन नहीं कर सकते हैं।  

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बंगाल में ‘भाईजान’ की एंट्री: 80 सीटों पर चुनाव, फुरफुरा शरीफ दरगाह के पीरजादा ने ममता पर लगाया BJP की मदद का आरोप

फुरफुरा शरीफ दरगाह के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी उर्फ़ 'भाईजान' बंगाल चुनाव के लिए आज एक नए राजनीतिक फ्रंट की घोषणा कर सकते हैं।

झटका बेच रहे हो या हलाल? दुकान में बोर्ड लगा कर बताओ: SDMC का अहम फैसला, पास किया प्रस्ताव

SDMC ने एक अहम फैसला लिया। इसके अंतर्गत आने वाले सभी होटलों, रेस्टोरेंट या मीट की दुकानों को 'झटका' या 'हलाल' मीट बेचने से...

ढाई साल की बच्ची का रेप-मर्डर, 29 दिन में फाँसी की सजा: UP पुलिस और कोर्ट की त्वरित कार्रवाई

अदालत ने एक ढाई साल की बच्ची के साथ रेप और हत्या के दोषी को मौत की सजा सुनाई है। UP पुलिस की कार्रवाई के बाद यह फैसला 29 दिन के अंदर सुनाया गया है।
00:30:41

मोदी सरकार निकम्मों की तरह क्यों देख रही है किसान आंदोलन को?

किसान आंदोलन को ले कर मोदी सरकार का रवैया ढीला, हल्का और निकम्मों जैसा क्यों दिख रहा है? मोदी की क्या मजबूरी है आखिर?

आएँगे हम.. अंगद के पाँव की तरह: कश्मीर घाटी से पलायन की पीड़ा कविता और अभिनय से बयाँ करती अभिनेत्री भाषा

डेढ़ साल की थीं भाषा सुंबली जब अपनी माँ की गोद में रहते हुए उन्हें कश्मीर घाटी छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा। 19 जनवरी 1990 की उस भयावह रात को अब 31 साल बीत गए हैं।

127 साल पुरानी बाइबिल से शपथ लेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन: जानिए क्या है ऐसा करने की खास वजह

यह बाइबिल बाइडेन के पिता की ओर से है। जोकि 1893 से उनके परिवार के पास है। उन्होंने अपने सभी सात शपथ ग्रहण समारोहों के लिए एक ही बाइबिल का उपयोग किया है।

प्रचलित ख़बरें

‘अल्लाह का मजाक उड़ाने की है हिम्मत’ – तांडव के डायरेक्टर अली से कंगना रनौत ने पूछा, राजू श्रीवास्तव ने बनाया वीडियो

कंगना रनौत ने सीरीज के मेकर्स से पूछा कि क्या उनमें 'अल्लाह' का मजाक बनाने की हिम्मत है? उन्होंने और राजू श्रीवास्तव ने अली अब्बास जफर को...

‘उसने पैंट से लिंग निकाला और मुझे फील करने को कहा’: साजिद खान पर शर्लिन चोपड़ा ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

अभिनेत्री-मॉडल शर्लिन चोपड़ा ने फिल्म मेकर फराह खान के भाई साजिद खान पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है।

‘कोहली के बिना इनका क्या होगा… ऑस्ट्रेलिया 4-0 से जीतेगा’: 5 बड़बोले, जिनकी आश्विन ने लगाई क्लास

अब जब भारत ने ऑस्ट्रेलिया में जाकर ही ऑस्ट्रेलिया को धूल चटा दिया है, आइए हम 5 बड़बोलों की बात करते हैं। आश्विन ने इन सबकी क्लास ली है।

महाराष्ट्र पंचायत चुनाव में 3263 सीटों के साथ BJP सबसे बड़ी पार्टी, ठाकरे की MNS को सिर्फ 31 सीट

महाराष्ट्र में पंचायत चुनाव में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी। शिवसेना ने दावा किया है कि MVA को राज्य की ग्रामीण जनता ने पहली पसंद बनाया।

‘अश्लील बातें’ करने वाले मुफ्ती को टिकटॉक स्टार ने रसीद किया झन्नाटेदार झापड़: देखें वायरल वीडियो

टिकटॉक स्टार कहती हैं, "साँप हमेशा साँप रहता है। कोई मलतलब नहीं है कि आप उससे कितनी भी दोस्ती करने की कोशिश करो।"

देवी-देवताओं को गाली देने वाले फारुकी के बचाव में सामने आया एक और ‘कॉमेडियन’, किया कश्मीरी पंडितों के नरसंहार का इस्तेमाल

“आज कश्मीरी पंडित नरसंहार के 31 साल पूरे हो गए हैं। मैं चाहता हूँ कि मैं अपनी मातृभूमि, कश्मीर वापस जाऊँ, जहाँ मुझे अपनी न्यायिक प्रणाली की मृत्यु के बारे में पढ़ने के लिए इंटरनेट नहीं होगा।”
- विज्ञापन -

 

कोरोनावायरस का खौफ, रियल लाइफ में बना डाली The Terminal: 3 महीने तक छिपा रहा एयरपोर्ट में

एयरपोर्ट स्टाफ के मुताबिक आदित्य सिंह ने पकड़े जाने पर एक एयरपोर्ट आईडी बैज दिखाया, जो एयरपोर्ट स्टाफ का ही था। इसके खोने की रिपोर्ट...

बंगाल में ‘भाईजान’ की एंट्री: 80 सीटों पर चुनाव, फुरफुरा शरीफ दरगाह के पीरजादा ने ममता पर लगाया BJP की मदद का आरोप

फुरफुरा शरीफ दरगाह के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी उर्फ़ 'भाईजान' बंगाल चुनाव के लिए आज एक नए राजनीतिक फ्रंट की घोषणा कर सकते हैं।

झटका बेच रहे हो या हलाल? दुकान में बोर्ड लगा कर बताओ: SDMC का अहम फैसला, पास किया प्रस्ताव

SDMC ने एक अहम फैसला लिया। इसके अंतर्गत आने वाले सभी होटलों, रेस्टोरेंट या मीट की दुकानों को 'झटका' या 'हलाल' मीट बेचने से...

ढाई साल की बच्ची का रेप-मर्डर, 29 दिन में फाँसी की सजा: UP पुलिस और कोर्ट की त्वरित कार्रवाई

अदालत ने एक ढाई साल की बच्ची के साथ रेप और हत्या के दोषी को मौत की सजा सुनाई है। UP पुलिस की कार्रवाई के बाद यह फैसला 29 दिन के अंदर सुनाया गया है।
00:30:41

मोदी सरकार निकम्मों की तरह क्यों देख रही है किसान आंदोलन को?

किसान आंदोलन को ले कर मोदी सरकार का रवैया ढीला, हल्का और निकम्मों जैसा क्यों दिख रहा है? मोदी की क्या मजबूरी है आखिर?

TMC की धमकी- ‘गोली मारो… से लेकर बंगाल माँगोगे तो चीर देंगे’ पर BJP का पलटवार, पूछा- क्या यह ‘शांति’ की परिभाषा है?

टीएमसी की रैली में 'बंगाल के गद्दारों को गोली मारो सालो को' जैसे नारे लगा कर BJP कार्यकर्ताओं को जान से मारने की धमकी दी तो वहीं ममता सरकार में परिवहन मंत्री ने भाजपा को लेकर कहा, "अगर दूध माँगोगे तो खीर देंगे, लेकिन अगर बंगाल माँगोगे तो चीर देंगे।"

मंदिर की दीवारों पर ईसाई क्रॉस पेंट कर चर्च में बदलने की कोशिश, पहले भी मूर्तियों और दानपात्र को पहुँचाई गई थी क्षति

तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में एक हिंदू मंदिर की दीवारों पर ईसाई क्रॉस चिन्ह पेंट कर उसे एक चर्च में बदलने का प्रयास किया गया है।

आएँगे हम.. अंगद के पाँव की तरह: कश्मीर घाटी से पलायन की पीड़ा कविता और अभिनय से बयाँ करती अभिनेत्री भाषा

डेढ़ साल की थीं भाषा सुंबली जब अपनी माँ की गोद में रहते हुए उन्हें कश्मीर घाटी छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा। 19 जनवरी 1990 की उस भयावह रात को अब 31 साल बीत गए हैं।

3 में 3 स्टार, 4 लाख में 4… ऐसे दी जाती है बॉलीवुड फिल्मों की रेटिंग: फिल्ममेकर ने खुद बताई हकीकत

विकास खन्ना ने कहा कि उन्हें 'पक्षपात और भाई-भतीजावाद का पहला अनुभव' हुआ जब क्रिटिक्स में से एक ने उन्हें उनकी फिल्म के रिव्यू के लिए पैसे देने के लिए कहा और इसके लिए राजी नहीं होने पर उन्हें बर्बाद करने की धमकी भी दी गई थी।

चारों ओर से घिरी Tandav: मुंबई, UP में FIR के बाद अब इंदौर के न्यायालय में हुई शिकायत दर्ज

UP पुलिस 'तांडव' की पूरी टीम और अमेजन प्रबंधन से पूछताछ कर रही है तो दूसरी ओर इंदौर में अब तांडव को लेकर जारी आक्रोश न्यायालय तक पहुँ च गया है।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
383,000SubscribersSubscribe