Wednesday, December 1, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान के सिंध प्रांत के CM मुराद अली ने दिवाली के मौके पर दे...

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के CM मुराद अली ने दिवाली के मौके पर दे दी होली की शुभकामनाएँ, हुए बुरी तरह ट्रोल

“पाकिस्तान में हिंदुओं की सबसे बड़ी आबादी सिंध में ही है, जहाँ हिंदुओं की अच्छी तादात है। यह बहुत दुखद है कि सिंध के सीएम हाउस के स्‍टाफ को दीपावली और होली के बीच अंतर नही पता है। यह बहुत ही दुखद है।”

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के मुख्यमंत्री सैयद मुराद अली शाह ने दिवाली के मौके पर होली की शुभकामनाएँ दे दी, जिसके बाद वह सोशल मीडिया पर बुरी तरह से ट्रोल हो गए। गलती का अहसास होने पर उन्होंने ट्वीट को डिलीट कर दिया, लेकिन इस बीच ट्विटर यूजर्स ने स्क्रीनशॉट ले लिया था और तब से ही उन्हें ट्रोल किया जा रहा है।

मुराद अली के ट्विटर हैंडल से हिंदू समुदाय को शुभकामना देने के लिए जो संदेश दिया गया वह रोशनी के त्योहार नहीं बल्कि रंगों के त्योहार होली के लिए था। इतना ही नहीं संदेश के साथ उनकी एक तस्वीर भी थी, जिसमें बैकग्राउंड होली का लगाते हुए ‘हैप्पी होली’ लिखा गया है। इस ट्वीट को अब डिलीट कर दिया गया है, लेकिन यूजर्स स्क्रीनशॉट के साथ मुराद अली की मौज ले रहे हैं। 

पाकिस्तानी पत्रकार मुर्तजा सोलंगी ने मुराद अली के ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा, “पाकिस्तान में हिंदुओं की सबसे बड़ी आबादी सिंध में ही है, जहाँ हिंदुओं की अच्छी तादात है। यह बहुत दुखद है कि सिंध के सीएम हाउस के स्‍टाफ को दीपावली और होली के बीच अंतर नही पता है। यह बहुत ही दुखद है।”

हालाँकि, बाद में मुख्यमंत्री कार्यालय ने अल्पसंख्यकों के लिए उनके समर्थन और हैप्पी दिवाली की शुभकामनाएँ देते हुए कुछ ट्वीट किए, लेकिन पहले ही काफी बेइज्जती हो चुकी थी। बाद में सीएम हाउस सिंध ने शाह के हवाले से एक अन्य ट्वीट में लिखा, “पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ने हमेशा अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा की बात की है।” 

बता दें कि पाकिस्तान में अनुसूचित जाति सहित अल्पसंख्यक हिंदुओं की आबादी संदेहपूर्ण है क्योंकि पाकिस्तान सरकार 2017 में हुई पिछली जनगणना के आँकड़ों को जारी करने को लेकर काफी संशय में रही है। लेकिन सिंध स्पष्ट रूप से पाकिस्तान का एकमात्र प्रांत है जहाँ एक महत्वपूर्ण हिंदू आबादी है। हिंदू अल्पसंख्यकों पर हमेशा इस्लामी कट्टरपंथियों द्वारा मुकदमा चलाया जाता रहा है जहाँ जबरन धर्म परिवर्तन, हिंदू लड़कियों का अपहरण और मंदिरों को तोड़ा जाता है।

भले ही मंत्री हिंदू त्योहार की बधाई दे रहे हों, लेकिन देश में हिंदू मंदिरों पर हमले जारी हैं। कुछ ही समय पहले, इस्लामी कट्टरपंथियों ने पाकिस्तान के सिंध प्रांत के कोटरी इलाके में एक ऐतिहासिक पंचमुखी हनुमान मंदिर को अपवित्र किया और फिर तोड़ दिया। बुधवार (28 अक्टूबर 2021) देर रात प्राचीन शिव मंदिर का ताला तोड़कर अज्ञात हमलावरों ने सोने के जेवर, चाँदी के तीन हार, मंदिर की दान पेटी से लगभग 25,000 रुपए और अन्य कीमती सामान चुरा लिए।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,754FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe