Sunday, May 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयआर्थिक संकट में फँसे श्रीलंका में आधी रात पूरी कैबिनेट का इस्तीफा, सर्वदलीय अंतरिम...

आर्थिक संकट में फँसे श्रीलंका में आधी रात पूरी कैबिनेट का इस्तीफा, सर्वदलीय अंतरिम सरकार बनाने के प्रयास

पीएम ने मौजूदा हालातों को लेकर राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे से कोलंबो में मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने तत्काल राजनीतिक स्थिरता लाने के लिए सर्वदलीय अंतरिम सरकार बनाने पर सहमति व्यक्त की।

अब तक के सबसे बड़े आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका (Sri Lanka) में पूरी कैबिनेट ने इस्तीफा दे दिया है। रविवार (3 मार्च 2022) को देर रात बैठक के बाद प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के बेटे नमल सहित सभी मंत्रियों ने सामूहिक रूप से इस्तीफा दिया। हालाँकि प्रधानमंत्री खुद अभी पद पर बने हुए हैं।

नमल राजपक्षे ने युवा और खेल मंत्री के पद से इस्तीफा देते हुए ट्वीट किया, “मैंने तत्काल प्रभाव से सभी विभागों से अपने इस्तीफे के बारे में राष्ट्रपति को सूचित कर दिया है। उम्मीद है कि इससे लोगों और श्रीलंका की सरकार को देश में स्थिरता स्थापित करने में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को सहायता होगी। मैं और मेरी पार्टी अपने मतदाताओं के लिए प्रतिबद्ध है।”

बनेगी सर्वदलीय सरकार

डेली मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक पीएम ने मौजूदा हालातों को लेकर राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे से कोलंबो में मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने तत्काल राजनीतिक स्थिरता लाने के लिए सर्वदलीय अंतरिम सरकार बनाने पर सहमति व्यक्त की। इससे पहले विमल वीरावांसा और उदय गम्मनपिला सहित 11 पार्टी गठबंधन के सदस्यों ने रविवार (3 अप्रैल 2022) सुबह दोनों नेताओं से मुलाकात की थी और अंतरिम सरकार बनाने का प्रस्ताव रखा था। 

इधर श्रीलंकाई पुलिस ने केंद्रीय प्रांत में कर्फ्यू के बीच सरकार के विरोध में उतरे पेराडेनिया विवि के छात्रों व शिक्षकों पर आँसू गैस के गोले दागे। छात्रों ने आरोप लगाया कि कागज की कीमत बढ़ने से परीक्षाएँ नहीं कराई जा रही हैं। उल्लेखनीय है कि श्रीलंका में लोग लंबे समय तक बिजली की कटौती और आवश्यक वस्तुओं की कमी को झेल रहे हैं। सरकार की कमजोर कार्यप्रणाली ने जनता को नाराज कर दिया है, जिसके बाद रविवार को देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन की योजना बनाई गई थी।

श्रीलंका में हालात बदतर होते जा रहे हैं। देश में रोजमर्रा की जरूरत के सामान की कीमतें आसमान छू रही हैं। महँगाई का आलम ये है कि देश में आलू का भाव 200 रुपए प्रति किलोग्राम तक पहुँच गए हैं। देश में पेट्रोल-डीजल की किल्लत के चलते दूध की सप्लाई नहीं हो पा रही है और एक किलोग्राम मिल्क पाउडर की कीमत 1900 रुपए तक पहुँच गई है। एक अंडा 30 रुपए में मिल रहा है।

देश में एक किलोग्राम चावल की कीमत 220 रुपए तक पहुँच गई है। नारियल के तेल के दाम 850 रुपए प्रति लीटर से ऊपर है। चीनी 240 रुपए किलो में मिल रही है। मिर्च 700 रुपए किलो में बिक रही है। यहाँ तक कि 1 कप चाय 100 रुपए की मिल रही है। 400 ग्राम के दूध का पैकेट 790 रुपए में मिल रहा है। सभी वस्तुओं की कीमतें श्रीलंकाई रुपए में है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भीखू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट...

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भीखू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -