Monday, November 29, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'एक शिया ने मुल्क की नाव डूबो दी': ऑस्ट्रेलिया से हार के बाद पाकिस्तानियों...

‘एक शिया ने मुल्क की नाव डूबो दी’: ऑस्ट्रेलिया से हार के बाद पाकिस्तानियों ने हसन अली को दी माँ-बहन की गालियाँ

एक यूजर ने तो मर्यादा की सारी सीमाएँ लाँघते हुए अली को दलाल कहा तो दूसरे ने उसे 'वेश्या का बेटा' करार दिया। @aemmarmaaenu नाम के यूजर ने लिखा, "बीसी शाहनवाज दहानी तुझसे अधिक अच्छी गेंदबाजी कर सकता था।"

टी-20 विश्व कप 2021 के सेमीफाइनल मैच में गुरुवार (11 अक्टूबर 2021) को ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच भिड़ंत हुई, जिसमें पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा। इस मैच को हारने के बाद पाकिस्तानी क्रिकेट फैंस टीम के तेज गेंदबाज हसन अली को सोशल मीडिया पर ट्रोल कर रहे हैं और उन्हें गंदी-गंदी गालियाँ दे रहे हैं।

दरअसल, मैच के दौरान अली ने 4 ओवर गेंदबाजी की थी, जिनमें उन्होंने 44 रन लुटा दिए। मैच में अली के बॉल पर ऑस्ट्रेलियाई टीम की ओर से 4 चौका और 1 छक्का लगाया गया था। हर ओवर में 11 रन का इकॉनमी रेट लेकर चलने के बाद भी वह एक भी विकेट नहीं ले पाए। उन्होंने मैथ्यू वेड का कैच भी छोड़ दिया था, जिसके बाद पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम ने भी उन्हें खरी-खोटी सुनाई थी।

पाकिस्तानियों ने हसन अली को दी भद्दी-भद्दी गालियाँ

हसन से कैच छोड़ने को लेकर बाबर आजम ने कहा, “मैथ्यू वेड का कैच छूटना मैच का टर्निंग प्वॉइंट था। कैच नहीं छूटता तो एक नया बल्लेबाज आता और शायद एक अलग परिणाम होता। एक खिलाड़ी के रूप में आपको हमेशा एड़ी-चोटी का जोर लगाकर किसी भी अवसर का लाभ उठाना चाहिए।” बाबर आजम के इस कमेंट के बाद पाकिस्तानी क्रिकेट के फैंस ने हसन अली के खिलाफ व्यक्तिगत टिप्पणियाँ कीं। मैच फिक्सिंग के आरोप लगाने के साथ ही उनकी अम्मी और बीवी को लेकर भद्दे कमेंट किए गए।

उनके हालिया इंस्टाग्राम पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए एक यूजर (@sibghat_._ullah) ने लिखा, “बहन*$ ना गेंदबाजी आती है और न ही बल्लेबाजी।” कबीर नाम के एक दूसरे यूजर ने भी भद्दी टिप्पणी की।

हसन अली के इंस्टाग्राम पोस्ट पर दी गई गालियाँ

जबकि एक यूजर ने तो मर्यादा की सीमाएँ लाँघते हुए अली को दलाल कहा तो दूसरे ने उसे ‘वेश्या का बेटा’ करार दिया। @aemmarmaaenu नाम के यूजर ने लिखा, “बीसी शाहनवाज दहानी तुझसे अधिक अच्छी गेंदबाजी कर सकता था। तुमने पूरे टूर्नामेंट में केवल अपनी गा*& ही मराई।”

हसन अली के इंस्टाग्राम पोस्ट पर दी गई गालियाँ

इसके अलावा कई अन्य पाकिस्तानी प्रशंसकों ने हसन अली की अम्मी और बहन को जमकर गालियाँ दीं। @raees_chase ने तो अली को पाकिस्तानी क्रिकेट टीम को छोड़ने को कह दिया।

हसन अली के इंस्टाग्राम पोस्ट पर दी गई गालियाँ

इसी क्रम में इंस्टाग्राम यूजर @seeker_io0 ने अली पर मैच फिक्सिंग का आरोप लगाते हुए पूछा कि ‘गद्दार’ मैच हराने के लिए ऑस्ट्रेलिया से कितने पैसे लिए?

हसन अली के इंस्टाग्राम पोस्ट पर दी गई गालियाँ

पाकिस्तानियों ने अली पर अपनी भारतीय बीवी को खुश करने के लिए फिक्सिंग का आरोप लगाया

हसन अली की बीवी सामिया आरजू भारतीय हैं, जिसको लेकर एक यूजर @mohammadfayaz ने अली पर आरोप लगाया कि अपनी बीवी को खुश करने के लिए उसने ऐसा किया। यूजर ने लिखा, “हसन अली की बीवी जीत गई और अब उसे अपनी माँ और बहन को भी एक रात के लिए भारत को दे देना चाहिए। मार$# जानबूझकर मैच हार गया।”

हसन अली के इंस्टाग्राम पोस्ट पर दी गई गालियाँ

अली को शिया होने के कारण बना रहे निशाना

पाकिस्तान सुन्नी मुस्लिम बहुल मुल्क है और वहाँ के लोग शिया मुस्लिमों को पसंद नहीं करते हैं। ऐसे में अगर कुछ गलत होता है तो पाकिस्तानी सुन्नी मुस्लिम शियाओं को कोसने से बाज नहीं आते। यही हुआ हसन अली के भी साथ। ऑस्ट्रेलिया से पाकिस्तान की अपमानजनक हार के बाद हसन अली के शिया होने के बारे में सोशल मीडिया पर चर्चा होने लगी।

हसन अली के इंस्टाग्राम पोस्ट पर दी गई गालियाँ
शिया होने के कारण हसन अली को किया जा रहा टार्गेट

एक यूजर ने लिखा, “हसन अली एक शिया है (कम से कम नाम से तो यही पता चलता है)। एक शिया ने पाकिस्तान की नाव को डुबा दिया।” एक ट्विटर यूजर ने अफसोस जताया, “हसन अली शिया हैं? और पाकिस्तान जीतना चाहता था?” सोशल मीडिया पर भले ही पाकिस्तानियों का गुस्सा दिख रहा हो, लेकिन टी-20 विश्व कप 2021 टूर्नामेंट के ग्रुप स्टेज मैचों में पाकिस्तान दुर्जेय टीम की तरह था। हालाँकि, ऑस्ट्रेलिया सेमीफाइनल मुकाबले को 5 विकेट से जीतकर फाइनल में पहुँचने में सफल रहा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe