Wednesday, May 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअफगान फैशन मॉडल अजमल हकीकी और उनके 3 साथियों को तालिबान ने भेजा जेल,...

अफगान फैशन मॉडल अजमल हकीकी और उनके 3 साथियों को तालिबान ने भेजा जेल, इस्लाम और कुरान के ‘अपमान’ का आरोप

"किसी को भी कुरान या फिर पैगंबर द्वारा कही गई बातों का अपमान करने का हक नहीं है।"

तालिबान (Taliban) ने इस्लाम और कुरान के अपमान के आरोप में अफगानिस्तान (Afghanistan) के मशहूर फैशन मॉडल अजमल हकीकी (Ajmal Haqiqi) और उनके तीन साथियों को गिरफ्तार किया है। इसके बाद ट्विटर पर एक तस्वीर वायरल हुई है, जिसमें हकीकी के हाथों में हथकड़ी लगी दिखाई देती है। 

अफगान में एक वीडियो वायरल है। इसमें कॉमेडियन गुलाम साखी (Ghulam Sakhi) अरबी में कुरान की आयतें पढ़ रहे हैं। गुलाम साखी ठीक से बोल नहीं पाते हैं। अपनी इस खामी को वह लोगों को हँसाने के लिए भी इस्तेमाल करते रहे हैं। लेकिन जब वह कुरान की आयतें पढ़ रहे थे तो अजमल हकीकी हँस रहे थे। यही वीडियो वायरल हो गया। जिसके बाद अजमल हकीकी समेत 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया।

गिरफ्तारी के बाद तालिबान सरकार ने अजमल हकीकी और उनके साथियों का वीडियो जारी किया है, इसमें वे लोग तालिबान सरकार से माफी माँग रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वीडियो के साथ लिखा गया है, “किसी को भी कुरान या फिर पैगंबर द्वारा कही गई बातों का अपमान करने का हक नहीं है।” अजमल हकीकी अपने फैशन शो, यूट्यूब क्लिप्स और मॉडलिंग इवेंट्स की वजह से चर्चा में रहते हैं।

गौरतलब है कि हाल ही में तालिबान ने अफगानिस्तान में मानवाधिकार संस्थानों समेत 4 विभागों को खत्म कर दिया था। तालिबान सरकार का कहना था कि उसके पास फंड की कमी है, ऐसे में इन विभागों का संचालन कर पाना आसान नहीं होगा। तालिबान ने मानवाधिकार आयोग जैसे विभाग को गैर-जरूरी करार दिया था। तालिबान सरकार के उप-प्रवक्ता इनामुल्लाह समांगनी ने कहा था, “ये विभाग बहुत जरूरी नहीं थे और इन्हें बजट में शामिल नहीं किया गया था। इसलिए इन्हें भंग कर दिया गया है।” इसमें मानवाधिकार आयोग के अलावा संविधान को लागू करने के लिए बना आयोग भी शामिल था। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू-कश्मीर में फिर से 370 बहाल करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, कहा- फैसला सही था: CJI की बेंच ने पुनर्विचार याचिकाओं को किया...

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर दिए गए निर्णय को लेकर दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया।

‘दिखाता खुद को सेकुलर है, पर है कट्टर इस्लामी’ : हिंदू पीड़िता ने बताया आकिब मीर ने कैसे फँसाया निकाह के जाल में, ठगे...

पीड़िता ने ऑपइंडिया को बताया कि आकिब खुद को सेकुलर दिखाता है, लेकिन असल में वो है इस्लामवादी। उसने महिला से कहा हुआ था वह हिंदू देवताओं को न पूजे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -