Saturday, June 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयISIS आतंकी सरगना बगदादी की मौत की खबर पर: ट्रंप ने कहा- कुछ बड़ा...

ISIS आतंकी सरगना बगदादी की मौत की खबर पर: ट्रंप ने कहा- कुछ बड़ा हुआ है, इस्लामिक आतंकवाद पर बड़ा कदम

रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेरिका ने इस्लामिक आतंकवाद को पनाह देने वाले इस्लामिक स्टेट के सरगना अबू बक्र अल बगदादी को निशाना बनाने के लिए एक बड़ा अभियान चलाया। जिसमें बगदादी के मारे जाने की खबर है। इसकी सूचना खुद ट्रम्प ने 'कुछ बड़ा हुआ है...' लिखकर बताया।

इस्लामिक आतंकी संगठनों के खिलाफ हमेशा मुखर होकर कार्रवाई करने के पक्ष में रहने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प ने एक बार फिर इस्लामिक आतंकवाद को निशाना बनाया है। 27 अक्टूबर की सुबह इस ओर इशारा करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्वीट किया। ट्रम्प के इस बयान के आने के बाद से ही अंतर्राष्ट्रीय जगत में खलबली मची हुई है। इस्लामिक चरमपंथ को बढ़ावा देने वाले देश भी इस कार्रवाई के बाद से हक्का-बक्का बैठे हैं।

बता दें कि आतंकवाद पर नकेल कसने के लिए अमेरिका लम्बे समय से प्रयास करता आ रहा है, पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के वक़्त भी इस्लामिक आतंकवाद को लेकर उठने वाली चिंताओं के चलते यूएस ने पाकिस्तान और खाड़ी देशों में पलने वाले इस्लामिक आतंक के नासूर से निपटने के लिए ड्रोन हमले का रास्ता अख्तियार किया।

ट्रम्प ने सुबह-सुबह ट्वीट किया “अभी कुछ बड़ी घटना हुई है”। उनके इस बयान के बाद पूरी दुनिया की निगाहें उनके ऊपर टिक गई हैं। हमेशा ही अपने बयानों और अप्रत्याशित फैसलो के लिए मशहूर ट्रम्प इस बार क्या करेंगे या उन्होंने इस बार उनकी कार्रवाई का क्या परिणाम होगा। एक न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक अमेरिका ने इस्लामिक आतंकवाद को पनाह देने वाले इस्लामिक स्टेट के सरगना अबू बक्र अल बगदादी को निशाना बनाने के लिए एक बड़ा अभियान चलाया है। जिसमें बगदादी के मारे जाने की खबर है। इसकी सूचना खुद ट्रम्प ने ‘कुछ बड़ा हुआ है…’ लिखकर बताया।

बता दें कि यह जिहादी संगठन पूरी दुनिया में इस्लाम के प्रचार के बहाने आतंक और खून-खराबा फ़ैलाने के लिए कुख्यात है। इसी साल एक अप्रैल को जारी एक वीडियो में बगदादी को देखा गया था। यद्यपि यह स्पष्ट नहीं है कि यह वीडियो कब फिल्माया गया है मगर यह तय है कि पाँच साल में पहली बार बगदादी किसी वीडियो के ज़रिए नज़र आया है। अपने इस वीडियो में वह पूर्वी सीरिया के बगूज़ में चल रहे संघर्ष ख़त्म होने की बात कहता नज़र आ रहा है। साथ ही बता दें कि कुछ समय पहले श्रीलंका में हुए आतंकी हमले में भी इसी संगठन के संलिप्त होने की बात कही जा रही है। श्रीलंका में तीन अलग अलग शहरों में सीरियल बम धमाके हुए थे। इस दौरान करीब 500 से अधिक लोग घायल हो गए थे तो वहीं 300 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, 11वीं सदी का शिलालेख है साक्ष्य!!

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, बख्तियार खिलजी ने नहीं। ब्राह्मण+बुर्के वाली के संभोग को खोद निकाला है इस इतिहासकार ने।

10 साल जेल, ₹1 करोड़ जुर्माना, संपत्ति भी जब्त… पेपर लीक के खिलाफ आ गया मोदी सरकार का सख्त कानून, NEET-NET परीक्षाओं में गड़बड़ी...

परीक्षा आयोजित करने में जो खर्च आता है, उसकी वसूली भी पेपर लीक गिरोह से ही की जाएगी। केंद्र सरकार किसी केंद्रीय जाँच एजेंसी को भी ऐसी स्थिति में जाँच सौंप सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -