Wednesday, July 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयPM मोदी और पुतिन के बीच फोन पर बात: रूसी राष्ट्रपति ने चंद्रयान-3 की...

PM मोदी और पुतिन के बीच फोन पर बात: रूसी राष्ट्रपति ने चंद्रयान-3 की सफलता पर दी बधाई, बताया जी-20 बैठक में कौन होंगे उनके प्रतिनिधि

दिल्ली में 9-10 को जी-20 के शिखर सम्मेलन का हो रहा है। इस सम्मेलन में अधिकतर देशों के राष्ट्राध्यक्ष पहुँचेंगे। लेकिन पुतिन इसमें शामिल नहीं होंगे। वे ब्रिक्स के शिखर सम्मेलन में दक्षिण अफ्रीका भी नहीं गए थे।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच फोन पर बातचीत हुई। इस दौरान दोनों नेताओं ने कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की। बातचीत के दौरान रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से लेकर जी-20 की भारत की मेजबानी व अन्य क्षेत्रीय-वैश्विक मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। उन्होंने जी-20 की बैठक में शामिल होने के लिए भारत नहीं आ पाने की जानकारी दी और बताया कि रूस की तरफ से विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव जी-20 के शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे।

पीएम मोदी-पुतिन के बीच कई अहम मुद्दों पर बात

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, व्लादिमीर पुतिन ने पीएम मोदी से बातचीत के दौरान चंद्रयान-3 मिशन की सफलता को लेकर बधाई दी। साथ ही उन्होंने भारत द्वारा जी-20 की सफलतापूर्वक मेजबानी की भी तारीफ की। प्रधानमंत्री मोदी से उन्होंने कहा कि वे इस बार शिखर सम्मेलन में शामिल नहीं हो पाएँगे। पीएम मोदी ने कहा कि वे उनके निर्णय का सम्मान करते हैं। इस बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने भारत और रूस के संबंधों को मजबूत करने के लिए रूसी राष्ट्रपति को धन्यवाद भी दिया।

दोनों नेताओं के बीच भारत की ऊर्जा जरूरतों से लेकर रक्षा सहयोग तक पर चर्चा हुई। पीएमओ की तरफ से इस बारे में जानकारी दी गई है कि दोनों नेताओं के बीच बातचीत काफी सकारात्मक रही।

नई दिल्ली में 9-10 सितंबर को जी-20 का शिखर सम्मेलन

राजधानी दिल्ली में 9-10 सितंबर को जी-20 के शिखर सम्मेलन का आयोजन हो रहा है, जिसमें दुनिया के 20 अहम देश शामिल होंगे। इस सम्मेलन में अधिकतर देशों के राष्ट्राध्यक्ष पहुँचेंगे। लेकिन पुतिन इसमें शामिल नहीं होंगे। वे ब्रिक्स के शिखर सम्मेलन में दक्षिण अफ्रीका भी नहीं गए थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -